NRHM घोटाले के आरोपी और यूपी के पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा की करोड़ों की संपत्ति जब्त

NRHM घोटाले के आरोपी और यूपी के पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा की करोड़ों की संपत्ति जब्त

By: | Updated: 03 Apr 2014 02:48 AM

नई दिल्ली: करोड़ों रूपये के राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनएचआरएम) घोटाले में पहली बार बड़ा कदम उठाते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आज धन शोधन कानूनों के तहत उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा एवं अन्य की 60 करोड़ रूपये की सम्पत्ति जब्त की.

 

कुशावाहा के खिलाफ मामलों की सीबीआई जांच कर रही है और उनकी उत्तरप्रदेश में केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण स्वास्थ्य योजना को लागू करने में कथित तौर पर सरकारी कोष के शोधन एवं भ्रष्टाचार में अहम भूमिका मानी जा रही है.

 

ईडी के लखनउ स्थित क्षेत्रीय कार्यालय ने बसपा के पूर्व नेता और पूर्व मायावती सरकार में परिवार कल्याण मंत्री कुशवाहा और उनके सहयोगी एवं इस मामले में सह आरोपी आर पी जायसवाल के नाम पर कई फ्लैट एवं भूमि को जब्त कर लिया.

 

सूत्रों ने कहा कि सम्पत्ति धन शोधन कानून की आपराधिक प्रावधानों के तहत जब्त की गई है जो लखनउ, बांदा, नोएडा और दिल्ली में स्थित है.

 

प्रवर्तन निदेशालय जल्द ही इन सम्पत्ति पर निषेधाज्ञा जारी करेगा और आरोपियों के पास पीएमएलए के संबंधित प्राधिकार को एजेंसी की इस कार्रवाई के खिलाफ 180 दिनों के भीतर सम्पर्क करने का विकल्प होगा. सू़त्रों ने कहा कि एजेंसी ने 2012 में धन शोधन रोकथाम अधिनियम :पीएमएलए: के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया था और बाद में पाया कि इन सम्पत्तियों को एनएचआरएम योजना के तहत सरकारी धन के अवैध तरीके से शोधन करने के अपराध के जरिये बनाया गया है.

 

प्रवर्तन निदेशालय ने कुशवाहा एवं अन्य के खिलाफ 2012 में 14 अलग अलग मामले दर्ज किये ताकि एनएचआरएम योजना में कथित वित्तीय अनियमितता की जांच की जा सके.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कैसरगंज से बीजेपी सांसद बृजभूषण के बिगड़े बोल, राहुल गांधी की तुलना कुत्ते से की