दिल्ली आए तो हिरासत में होंगे अलगाववादी, पाक मिलने पर अड़ा

By: | Last Updated: Friday, 21 August 2015 4:38 AM

नई दिल्ली : भारत और पाकिस्तान के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ( एनएसए) स्तर की बातचीत खटाई में पड़ती दिख रही है. एक तरफ जहां भारत ने साफ कर दिया है कि अलगाववादियों को पाक एनएसए से नहीं मिलने दिया जाएगा वहीं पाकिस्तान अपने रुख पर अड़ा हुआ है. इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत के प्रस्तावित एजेंडे पर अब तक सहमति नहीं जताई है.

 

भारत ने साफ कर दिया है कि यदि हुर्रियत नेता मुलाकात के लिए दिल्ली आते हैं तो उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा. इसके लिए सभी एजेंसियों को निर्देश दिए जा चुके हैं. इस बीच पाक अपने रुख पर अड़ा हुआ है. पाक सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि वह भारत के शर्तों पर बैठक नहीं करेंगा.

 

इससे पहले भारत ने औपचारिक रूप से पाकिस्तान के एनएसए सरताज अजीज से कहा है कि जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेताओं से मिलना ठीक नहीं है. भारत बातचीत सिर्फ आतंकवाद पर करना चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने एजेंडे को लेकर अभी तक सहमति नहीं दी है.

 

एनएसए बातचीत से पहले एनआईए चीफ शरद कुमार आज एनएसए अजीत डोभाल से मिलेंगे. शरद कुमार बताएंगे कि पाकिस्तानी आतंकी नवेद से पूछताछ में अब तक क्या जानकारी मिली है. शरद कुमार, डोभाल को नवेद से की गई पूछताछ और उसके टेस्ट की रिपोर्ट भी देंगे.

 

ऊफा में किन-किन मुद्दों पर हुई थी बात?

रूस के ऊफा शहर में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बीच मुलाकात हुई.  यह मुलाकात तय समय से ज्यादा करीब 1 घंटा तक चली.

 

मुलाकात के बाद दोनों देशों के विदेश सचिवों ने साझा प्रेस वार्ता में कहा कि दोनों प्रधानमंत्रियों की बात अच्छे माहौल में हुई और बैठक सार्थक रही. इसमें शांति और तरक्की पर बात हुई.

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और नवाज शरीफ ने आतंकवाद के सभी स्वरूपों की निंदा की और इस बुराई से निपटने के लिए कदम उठाने का निर्णय किया.

 

इसके साथ ही सार्क के लिए पीएम मोदी को नवाज शरीफ ने न्योता भी दिया और पीएम मोदी ने भी पाकिस्तान जाने पर सहमति जताई है.

 

वे मुद्दे जिन पर सहमति बनी

दोनों पक्ष सभी लंबित मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार

भारत और पाकिस्तान ने मुम्बई आतंकी हमले से संबंधित मुकदमे में तेजी लाने का निर्णय

दिल्ली में मिलेंगे भारत-पाकिस्तान के NSA

डीजी BSF और DGMI की बैठक

दोनों पक्षों ने 15 दिनों के भीतर एक-दूसरे के मछुआरों और उनकी नौकाओं को छोड़ने का निर्णय

मुंबई हमले के वॉयस सैंपल मुहैया कराएंगे

नवाज शरीफ ने पीएम मोदी को दिया सार्क सम्मेलन में आने का न्योता

 

पाकिस्तान क्यों अड़ंगा लगा रहा है?

भारत सिर्फ आतंकवाद पर बात करना चाहता है.

आतंकी नवेद को लेकर पाकिस्तान घिरेगा

आतंक पर पाकिस्तान को भारत डोजियर देगी जिसमें सबूत होंगे

सीजफायर को लेकर भारत पाकिस्तान को घेरेगा

 

भारत का क्या कहना है?

सिर्फ आतंकवाद पर बात होगी

अलगाववादियों से बात नहीं करे पाकिस्तान

आतंकी नवेद पाकिस्तान का है

पाकिस्तान की फायरिंग पर बात

 

पाकिस्तान का क्या कहना है?

कश्मीर पर बात होनी चाहिए

अलगाववादियों से बातचीत जरूरी

नवेद पाकिस्तान का नहीं है

फायरिंग भारत कर रहा है

 

मोदी के पीएम बनने के बाद क्या हुआ है?

मुंबई हमले का केस तेजी से चलेगा

दिल्ली में मिलेंगे दोनों देशों के NSA

मुंबई हमले के आरोपियों के वॉयस सैंपल साझा होंगे

नवाज ने मोदी को सार्क सम्मेलन के लिए पाक आने को कहा

बातचीत की तैयारियां पूरी

पाकिस्तान से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की बातचीत के लिए सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है. भारत ने साफ कर दिया है कि बातचीत सिर्फ आतंकवाद के मुद्दे पर होगी सूत्रों के मुताबिक सरकार ने हुर्रियत नेताओं को भी समझा दिया है कि अगर वो पाकिस्तान के हाथों में खेलेंगे तो उनसे सख्ती से पेश आया जाएगा.

 

हुर्रियत नेताओं की नजरबंदी और कुछ घंटों बाद ही रिहाई से सरकार ने बातचीत को लेकर अपने रूख को साफ कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक ये बात हुर्रियत नेता को सरकार की ओर से समझा दी गई है कि पाकिस्तान के हाथों खेलने का उनको नुकसान हो सकता है. और यदि वो पाकिस्तान के साथ होने वाली एनएसए लेवल बातचीत में पाकिस्तान का औजार बनेगे तो सरकार उनसे सख्ती से पेश आएंगी.

 

सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने सरकार को भारत आने वाले प्रतिनिधिमंडल की लिस्ट भेज दी है. भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली बातचीत के लिए भी भारत सरकार ने साफ कर दिया कि आतंकवाद से संबंधित पहलुओं के अलावा किसी बात पर चर्चा नहीं होगी. कश्मीर में होने वाली सीमापार की फायरिंग पर बात होगी. आतंकवादी कैंपों पर बात होगी.

 

भारत सरकार- पाकिस्तान की ओर से उठाए जाने वाले मुद्दे  समझौता ब्लास्ट, बलूचिस्तान और सीमापार फायरिंग पर बातचीच को तैयार है. लेकिन उससे हटकर वो किसी भी मुद्दे पर बात नहीं करेगी.

 

हालांकि पाकिस्तान की ओर से इस बातचीत में कई ऐसे दांव फेंके जा सकते है जिनसे वो एक बार फिर आंतकवादी गतिविधियों की जवाबदेही से बच सके. भारत सरकार डोजियर में वो तमाम सबूत दे रही है जिनसे किसी भी अदालत में पाकिस्तान खुफिया एजेंसी का आतंकवाद में रोल साफ होता है. डोजियर को अंतिम रूप दिया जा चुका है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: NSA level talks in trouble
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ????????? NSA sartaj aziz talks terrorism
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017