nsso survey report

nsso survey report

By: | Updated: 29 Jan 2015 07:00 AM

नई दिल्ली: एनएसएसओ (NSSO-नेशनल सैम्पल सर्वे ऑफिस) के एक सर्वे के अनुसार चौतरफा (समग्र) विकास के मामले में टॉप-20 की लिस्ट में दिल्ली के आठ जिले शामिल हैं. रिपोर्ट तैयार करने के लिए जिन बातों को आधार बनाया गया है उसमें आर्थिक विकास के अलावा स्वास्थ्य, शिक्षा और भौतिक सुखों के सूचकांक भी शामिल हैं. सर्वे के मुताबिक स्वास्थ्य, शिक्षा और भौतिक सुखों के सूचकांक के मामले में दिल्ली के जिले देश के बाकि राज्यों के जिलों से ऊपर हैं.

 

जिन राज्यों के जिलों की सबसे ज्यादा बुरी हालत है उनमें बिहार, यूपी, उड़ीसा और मध्य प्रदेश शामिल हैं. इन राज्यों के जिले सभी पैमानों पर निचले 20 में शामिल हैं. सर्वे करने वाली संस्था एनएसएसओ अमेरिका स्थित, भारत-अमेरिका नीति (पॉलिसी) संस्थान है. नैस्सो के अलावा दिल्ली स्थित संस्था 'सेंटर फॉर रिसर्च एंड डिबेट इन डेवलपमेंट पॉलिसी' ने भी इस सर्वे से जुड़ी लंबी प्रक्रिया में सहयोग दिया है.

 

इस सर्वे से देश के कुल 599 जिलों के विकास की स्थिति साफ हो जाएगी. जब रिपोर्ट प्रकाशित की जाएगी तब राज्य स्तर पर भारत के इन जिलों में भौतिक सुविधा से लेकर स्वास्थ्य, शिक्षा और अन्य सुविधाओं तक लोगों की पहुंच का सच सामने आएगा. वर्तमान सर्वे में डाटा की समीक्षा के लिए 68वें नेशनल सैम्पल सर्वे (जो साल 2011-12 में किया गया था) के परिणामों को आधार बनाया गया है. इसमें स्वस्थय मंत्रालय के ताजा आंकड़ों को भी शामिल किया गया है.

 

इस सर्वे रिपोर्ट को आने वाले बृहस्पतिवार को उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी द्वारा जारी किया जाएगा. रिपोर्ट की एक और खास बात यह है कि इसमें हर जिले के विकास की स्थिति को सामाजिक-धार्मिक स्थिति के अनुसार भी बांटा गया है. इसे सच्चर समिति की रिपोर्ट का सूक्ष्म रुप (मिनी वर्जन) माना जा रहा है. सेवानवृत (रिटायर्ड) जज सच्चर की रिपोर्ट (देश के मुस्लमानों की स्थिति पर बनाई गई) भी इस मौक पर मौजूद होगी.

 

सर्वे से जुड़े डॉक्टर शैरिफ का कहना है, "हम आशा करते हैं कि विकास की चर्चा जीडीपी (ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट/सकल घरेलू उतपाद) और ग्रोथ रेट (विकास दर) से आगे बढ़ेगी और ज्यादा प्रासंगिक पैमानों को इसमें शामिल किया जाएगा."  चौंकाने वाली बात यह है कि समग्र विकास के मामले में एक तरफ जहां दिल्ली के तीन जिले टॉप में शामिल हैं वहीं दूसरी तरफ टॉप-20 की लिस्ट में मुंबई 17वें स्थान पर है.

 

सर्वे की तालिका (इंडेक्स) को प्रति व्यक्ति खर्च, गरीबी रेखा से ऊपर के लोग और ऐसे घर जिनमें हर महिने की तय आमदनी का साधन है के आधार पर तैयार किया गया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 'ट्रक चोरी’ करने वाले सुल्तान को अखिलेश ने ऑफ़िस में ही रोक दिया