जेएनयू की जांच में कन्हैया को क्लीनचिट, 'बाहरी' लोगों ने लगाए थे देश विरोधी नारे

By: | Last Updated: Wednesday, 16 March 2016 3:05 PM
‘Outsiders’ chanted anti national slogan in JNU

नई दिल्ली : जेएनयू के 9 फरवरी के कथित देशविरोधी नारों के विवाद में बड़ा खुलासा हुआ है. जेएनयू की जांच रिपोर्ट के मुताबिक 9 फरवरी को भड़काऊ नारे लगाने वाले बाहरी थे. ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि बाहरी लोगों को कैंपस में ऐसा करने दिया गया. कार्यक्रम करने की इजाजत नहीं मिलने के बाद भी कार्यक्रम करके ललकारा गया.

जेएनयू पैनल ने उमर, अनिर्बान को नफरत बढ़ाने का ‘दोषी’ पाया

जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि शासन की बात नहीं मानी गई. कन्हैया जिस छात्रसंघ का अध्यक्ष है उसके बारे में जांच रिपोर्ट में लिखा गया है कि छात्र संघ के पदाधिकारियों में से किसी ने भी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई. उनका बर्ताव सही नहीं था. 11 मार्च को सौंपी गई रिपोर्ट के आधार पर 21 छात्रों को नोटिस दिया गया है.

रिपोर्ट में कहा गया कि ‘भारत को रगड़ा दो रगड़ा’ और ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ समेत भड़काऊ नारे बाहरी लोगों के एक समूह ने लगाए थे और उन्होंने कपड़े (स्कार्फ) से अपने सिर और चेहरे ढके हुए थे.

हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि नौ फरवरी को हुए कार्यक्रम की वीडियो फुटेज में कोई भी ‘‘भारत की बर्बादी तक जंग रहेगी’’ के नारे लगाता नहीं दिख रहा है लेकिन इसमें दावा किया गया है कि चश्मदीदों ने अपनी गवाही में ऐसे नारे लगाए जाने की पुष्टि की है.

रिपोर्ट में कार्यक्रम में ‘भारत के टुकड़े टुकड़े कर दो’ का विवादास्पद नारा लगाए जाने का कोई जिक्र नहीं है.

विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर राकेश भटनागर की अध्यक्षता वाले पांच सदस्यीय पैनल द्वारा तैयार रिपोर्ट में कहा गया है कि यह ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ है कि छात्रों ने बाहरी लोगों को उपस्थित रहने और भड़काऊ नारे लगाने की अनुमति दी.

पैनल ने विश्वविद्यालय की सुरक्षा इकाई की ओर से भी हुई चूक का जिक्र किया. उसने कहा कि उसने बाहर के लोगों को नारे लगाने से रोकने और उन्हें परिसर से जाने से रोकने का कोई प्रयास नहीं किए.

JNU जांच समिति ने ABVP सदस्य को यातायात रोकने का ‘दोषी’ पाया

जेएनयू की जांच समिति ने कन्हैया कुमार समेत जिन छात्रों को नोटिस भेजा है, उन्हें आज शाम तक जवाब देना है. लेकिन, सिफारिशों की जानकारी सामने नहीं आई है. सूत्रों का कहना है कि रिपोर्ट ने कन्हैया, उमर खालिद और अनिर्बान समेत 5 छात्रों को कैंपस से निकालने की सिफारिश की गई है.

कन्हैया ने छात्रों के मार्च का नेतृत्व किया, उठी ईरानी के इस्तीफे की मांग

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘Outsiders’ chanted anti national slogan in JNU
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017