आंतकी बोट: रक्षा मंत्री ने 'ड्रग माफिया' एंगल को खारिज किया

By: | Last Updated: Monday, 5 January 2015 1:28 AM
Pak boat trail leads to drug smuggling ring in Karachi- Indian Express

नई दिल्ली: पोरबंदर के समंदर में ‘पाकिस्तान की बोट’ का रहस्य बना हुआ है. सरकार भी डंके की चोट पर नहीं कह रही है कि बोट क्यों और कैसे आ रही थी? रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कुछ थ्योरी देकर आशंका जताई है कि बोट के पीछे पाकिस्तान की आतंकी साजिश हो सकती है. रक्षा मंत्री को आज सफाई इसलिए देनी पड़ी क्योंकि सवाल उठ रहे हैं कि बोट पर आतंकी नहीं थे. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने बोट पर तस्कर होने का शक जताया है.

 

लेकिन रक्षा मंत्री ने तस्कर के एंगल को सिरे से खारिज कर दिया है. रक्षा मंत्री पर्रिकर का कहना है कि बोट पर अगर तस्कर होते तो पाकिस्तान की एजेंसी ‘मैरी टाइम’ के संपर्क में नहीं होते और खुदकुशी नहीं करते.

 

पर्रिकर ने आज चार थ्योरी पेश की है-

1. पर्रिकर ने कहा कि नौका न तो मछली पकड़ने के क्षेत्र में थी और न ही ऐसे व्यस्त मार्ग पर थी जिसे तस्कर पसंद करते हैं तथा उनके कार्यों से ऐसा संकेत मिलता है कि वे ‘किसी अन्य तरह की गतिविधि के लिए थे. हम सुनिश्चित नहीं हैं कि वह अन्य तरह की गतिविधि क्या है.’

 

2. तस्कर होते तो पाक की मैरी टाइम एजेंसी के संपर्क में नहीं होते.

 

3. पर्रिकर ने कहा कि बोट पर अगर ड्रग तस्कर होते तो वे खुदकुशी नहीं करते बल्कि सरेंडर कर देते या फिर ड्रग फेंक देते.

 

4.  पर्रिकर ने कहा कि वह उन्हें ‘संदिग्ध या संभावित आतंकी’ करार देते हैं क्योंकि उन्होंने घेराबंदी किये जाने पर खुद को उड़ा लिया. उन्होंने कहा कि वे (नौका पर सवार) पाकिस्तान के नौवहन अधिकारियों, सेना और अंतरराष्ट्रीय सम्पर्क से जुड़े थे.

 

पाकिस्तान के ड्रग माफिया की बोट थी- इंडियन एक्सप्रेस

पाकिस्तान में हो रही जांच के हवाले से इंडियन एक्सप्रेस ने रिपोर्ट दी है कि पाकिस्तान की जांच में ये पता चला है कि भारतीय कोस्ट गार्ड के ऑपरेशन के समय जिस बोट को आग लगाकर नष्ट किया गया था वो पाकिस्तान के ड्रग माफिया का हो सकता है.

 

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक इस बोट को पाकिस्तान के कोस्टगार्ड जहाज पीएनएस  बाबर ने कराची के समंदर के पास ट्रेस किया था लेकिन वो बच निकलने में कामयाब रहा. जहाज पर जो ड्रग्स थी वो बलूचिस्तान के ड्रग माफिया मीर याकूब की थी. मीर याकूब को नारकोटिक्स सौदे के मामले में अमेरिका ने 2009 में भगोड़ा घोषित किया हुआ है.

 

25 फुट लंबे इस जहाज का नाम कलंदर था और उसका कैप्टन याकबूब बलूच था जो कराची का रहने वाला है. इंडियन एक्सप्रेस ने कैप्टन बलूच की मां आयशा बीवी से बात की है जिन्हें मालूम नहीं है कि जहाज नष्ट होने के बाद उनका बेटा कहां है. उन्हें भरोसा है कि उनका बेटा आतंकी या आतंकियों से मिला हुआ नहीं हो सकता है.

 

इंडियन एक्सप्रेस अखबार में सामरिक मामलों के संपादक प्रवीण स्वामी ने ही सरकार के इस ऑपरेशन पर सवाल खड़े करते हुए रविवार को कहा था, ‘फिशिंग बोट का इंजन इतना पावरफुल नहीं हो सकता कि कोस्ट गार्ड के जहाज को एक घंटे तक समंदर में उसके पीछे भागना पड़े. मतलब ये कि कोस्ट गार्ड का जहाज आसानी से नाव के करीब पहुंच सकता था.’

 

अखबार के मुताबिक तस्वीरों में जो आग दिखाई दे रही थी वो जहाज के सबसे निचले हिस्से से उठ रही थी नाव पर हथियार होने की बात कही गई है लेकिन नाव पर अगर बारूद और हथियार मौजूद होता तो उसमें आग नहीं लगती बल्कि नाव के परखच्चे उड़ गए होते.

 

इंडियन एक्सप्रेस ने चार बड़े सवाल खड़े किए हैं-

  1. फिशिंग बोट के करीब कोस्ट गार्ड का जहाज आसानी से पहुंच सकता था जबकि एक घंटे का वक्त लगा?

  2. बोट में विस्फोटक होते तो परखच्चे उड़ जाते जबकि नाव के निचले हिस्से से आग उठ रही थी?

  3. खराब मौसम की वजह से कोस्ट कुछ बरामद नहीं कर सकी जबकि मौसम विभाग के मुताबिक तब आसमान साफ था? 

  4. एनटीआरओ को मिली सूचना कोस्टगार्ड से साझा की जबकि खुफिया सूत्रों को जानकारी देने का नियम है?
     

कोस्ट गार्ड के ऑपरेशन शुरू हुए तीन दिन बीत चुके हैं और अभी तक मलबा या सबूत सामने नहीं आया है. सरकार के दावों के बीच बड़ा सवाल ये है कि क्या नाव में आतंकी सवार थे या कोई और?

 

पोरबंदर में नेवल बेस को निशाने पर लेने की साजिश- इकनॉमिक टाइम्स

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ये ड्रग माफिया की बोट हो सकती है लेकिन इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक ये आतंकी साजिश लगती है.

इकनॉमिक टाइम्स  में छपी खबर के मुताबिक भारत में हो रही जांच के मुताबिक बोट में आतंकी थी. वो उसी रास्ते से आ रहे थे जिस रास्ते से कसाब एंड कंपनी आई थी. रिपोर्ट के मुताबिक बोट के पीछे लश्कर का हाथ हो सकता है. सात जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर पोरबंदर में नेवल बेस के उदघाटन को निशाना बनाने की साजिश रही होगी.

 

कांग्रेस ने उठाए सवाल-

कांग्रेस ने पाकिस्तानी नौका को आतंकियों की नौका कहे जाने पर सवाल पूछते हुए उसके खिलाफ कार्रवाई करने में पर्याप्‍त सुबूतों की मांग की है. कांग्रेस के प्रवक्ता अजय कुमार ने सवाल उठाते हुए कहा, ‘सरकार को इस पर सफाई देनी चाहिए. इस बात का कोई साक्ष्य नहीं हैं… ऐसे में आप कैसे कह सकते हैं कि आतंकी हमले को टाल दिया गया!’ कांग्रेस के प्रवक्ता ने यह भी पूछा है कि घटना के पीछे किस आतंकी संगठन का हाथ है यह सरकार को स्पष्ट करना चाहिए. 

 

भड़की बीजेपी-

कांग्रेस के सवाल उठाने पर बीजेपी भड़क गई है. बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाकर पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने का काम किया है. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘जब 26/11 की घटना घटी थी तो हमारी आंखें नम थीं, लेकिन तब भी कांग्रेस ने आरएसएस की ओर इशारा किया था. अब बोट ऑपरेशन पर सवाल खड़ा करके पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने का काम किया है.’ बीजेपी ने कांग्रेस पर पाकिस्तान की मदद करने का आरोप लगाया.

 

कब क्या हुआ?

आपको बता दें कि 31 दिसंबर की देर रात पोरबंदर की समुद्री सीमा में एक पाकिस्तानी नाव संदिग्ध स्थिति में दिखाई पड़ी. जब भारतीय कोस्ट गार्ड ने नाव का पीछा किया तो नाव में बैठे आतंकियों ने उसमें आग लगा दी और फिर बोट में धमाका हुआ. एजेंसियों की ओर से दावा किया गया कि कोस्ट गार्ड ने 26/11 हमले जैसी साजिश को नाकाम कर दिया है.

 

विशेषज्ञों ने इस बीच कहा कि इस घटना ने नवंबर 2008 को हुए मुंबई हमले की याद ताजा कर दी, जब समुद्र के रास्ते से 10 पाकिस्तानी आतंकवादी मुंबई में घुसे और 166 लोगों को मौत के घाट उतार दिया.

 

संबंधित समाचार

कोस्ट गार्ड के ऑपरेशन पर उठे सवाल, नाव में आतंकी थे या कोई और?

आतंकी बोट ऑपरेशन: ‘कांग्रेस ने पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने का काम किया’ 

पाकिस्तानी नाव पर मछुआरे नहीं थे, दो आतंकी भागे, तलाश जारी: कोस्ट गार्ड 

नाव में आतंकी थे या कोई और?  

नाव से कूदकर दो आतंकी भागे, दूसरी नाव पाकिस्तान की तरफ लौटी सर्च ऑपरेशन जारी 

सुरक्षाबलों ने 26/11 जैसी बड़ी आतंकी साजिश नाकाम की 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pak boat trail leads to drug smuggling ring in Karachi- Indian Express
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: India Manohar Parrikar Pak boat Pakistan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017