धर्म के नाम पर अधर्म का ये खेल क्यों?

By: | Last Updated: Tuesday, 16 December 2014 10:58 AM
pakistan

नई दिल्ली: कल सिडनी में आतंकी हमला हुआ था . दिल्ली से महज 800 किमी दूर आज पाकिस्तान के पेशावर में हमला हुआ . 126 से ज्यादा बच्चों को मौत के घाट उतार दिया गया . उन मासूम बच्चों को आतंकियों ने मारा जिनका किसी से कुछ लेना देना नहीं था. लेकिन धर्मांध आतंकियों ने बच्चों को भी नहीं बख्शा . अब सवाल उठता है कि धर्म के नाम पर अधर्म का ये खेल क्यों और इसके लिए कसूरवार कौन है ?

 

पेशावर के आर्मी स्कूल पर आतंकी हमला, जानें पल-पल की अपडेट 

मासूम बच्चों के सभी कातिल मुसलमान लेकिन मुस्लिम धर्म के सबसे बड़े कलंक! क्या गुनाह किया था इन मासूम बच्चों ने ? किसका क्या बिगाड़ा था ? ना तो इन्हें दीन ईमान की कोई खबर, ना दुनियादारी से कुछ लेना देना.

 

खुदा का वास्ता है बस करो यार…! 

पाकिस्तान तालिबान का बयान- हमने आर्मी स्कूल के बच्चों को इसलिए निशाना बनाया क्योंकि पाकिस्तान की सेना हमारे परिवार को निशाना बनाती थी. हम पाकिस्तानी सेना को दर्द का अहसास कराना चाहते थे.

 

पेशावर: आर्मी स्कूल पर आतंकी हमले में 104 बच्चों की मौत 

ये उस पाकिस्तानी तालिबान का बयान है जिसको पैदा करने से लेकर पालने पोसने तक में पाकिस्तान सेना का हाथ माना जाता है लेकिन ये तस्वीरें गवाह हैं कि पाकिस्तान की सरकार और सेना ने जिस धर्मांध जिन्न को बोतल से बाहर निकाला था, अब वो जिन्न बेकाबू हो चुका है .

 

वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर ने कहा कि आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता. एक मासूम बच्चे ने कहा कि मैं बड़ा होकर इनकी नस्ल खत्म कर दूंगा. दुआ कीजिए कि एक मासूम बच्चे के दिल से निकली ये आवाज अपने आखिरी अंजाम तक पहुंचे . धर्म के नाम पर आतंकवादी पूरी दुनिया में जो अधर्म का खेल रहे हैं, वह खत्म हो.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pakistan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Pakistan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017