सेना, आईएसआई और आतंकवादी संगठन चाहते क्या हैं?

By: | Last Updated: Wednesday, 5 August 2015 3:44 PM

नई दिल्ली: आपको याद होगा कि पिछले महीने रूस के उफा में प्रधानमंत्री मोदी और नवाज शरीफ के बीच मुलाकात हुई थी. दोनों प्रधानमंत्रियों की मुलाकात में तय हुआ था कि भारत और पाकिस्तान अपने रिश्ते को बेहतर बनाने के लिए बातचीत को आगे बढ़ाएंगे. लेकिन उफा की उस मुलाकात के बाद अचानक पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर फायरिंग बढ़ गई, गुरदासपुर में आतंकी हमला हो गया और अब आतंकी कासिम का हमला. कहीं इन सबका उफा की मुलाकात से कोई रिश्ता तो नहीं हैं? 

 

उधमपुर में पकड़ा गया जिंदा आतंकी कासिम कबूल चुका है कि वह पाकिस्तान से भारत में आतंकवादी हमले के लिए आया था और उसके इस कूबलनामे के साथ सवाल उठ खड़ा हुआ है कि क्या पाकिस्तानी सेना, खुफिया एजेंसी आईएसआई और वहां के आतंकवादी संगठन भारत और पाकिस्तान के सुधरते रिश्ते को बिगाड़ने के लिए भारत पर आतंकवादी हमले करा रहे हैं?

 

इस सवाल की पड़ताल से पहले आपको बता दें कि 10 जुलाई को रूस के उफा में पीएम मोदी और नवाज शरीफ के बीच मुलाकात हुई थी और उसी मुलाकात में तय हुआ था कि दोनों देश अपने रिश्ते बेहतर बनाने के लिए आतंकवाद सहित तमाम मुद्दों पर बातचीत करेंगे.

 

लेकिन कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि पाकिस्तानी सेना, खुफिया एजेंसी आईएसआई और वहां के आतंकवादी संगठन नहीं चाहते हैं कि दोनों देशों के रिश्ते सामान्य हो. 

 

10 जुलाई को उफा में मोदी और शऱीफ की मुलाकात के बाद पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ बहुत बढ़ गया है. 27 जुलाई को आतंकवादी पंजाब के गुरदासपुर तक चले आये थे और अब आतंकी कासिम का अपने साथियों के साथ उघमपुर में हमला.

 

पाकिस्तान की तरफ से हो रहे हमलों के बावजूद भारत सरकार ने साफ कर दिया है भारत और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार तय कार्यक्रम के हिसाब से 23-24 अगस्त को दिल्ली में मुलाकात करेंगे लेकिन ये सवाल अपनी जगह पर कायम है कि नवाज शरीफ पर हावी पाकिस्तानी त्रिकोण- सेना, आईएसआई और आतंकवादी संगठन चाहते क्या हैं?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pakistan army
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: pakistan army
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017