पाकिस्तान ने नहीं दिया मोदी के करीबी अनुपम खेर को वीजा

Pakistan denies Anupam Kher visa to attend Karachi lit fest

नई दिल्ली: कराची लिटरेचर फेस्टिवल में शिद्दत के साथ शिरकत करने को तैयार मोदी के करीबी और जाने माने अभिनेता पद्म भूषण अनुपम खेर को पाकिस्तान से वीजा नहीं मिला है. अनुम खेर का पांच फरवरी को कराची लिटरेचर फेस्टिवल में जाने का कार्यक्रम था लेकिन पाकिस्तान ने उन्हें बड़ा झटका दे दिया.

हालांकि, वीजा देने और वीजा के लिए अप्लाई करने को लेकर दोनों तरफ से विरोधाभासी दावे हैं.  पाकिस्तान सरकार के सूत्रों का कहना है कि अनुपम खेर ने वीजा के लिए अप्लाई नहीं किया था.

कराची लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन करने वालों का कहना है कि अनुपम खेर को वीजा नहीं दिया गया है और इसकी कोई वजह भी नहीं बताई गई है. कार्यक्रम की आयोजक अमीना सैयद ने बताया कि ‘वो अप्लाई करना चाह रहे थे. उनकी एप्लिकेशन तैयार थी लेकिन उनको बताया  गया कि जब तक हमारे पास क्लियरेंस नहीं आएगी तब तक हम एक्सेप्ट नहीं करेंगे. ये क्लियरेंस इस्लामाबाद से मिलती है.’

वीजा नकारे जाने के बाद अनुपम खेर ने कहा है कि इस मसले पर पाकिस्तान झूठ बोल रहा है. एएनआई से बातचीत में अनुपम खेर ने कहा, ‘पाकिस्तानी हाई कमिशन झूठ बोल रहा है, बाकी 17 लोगों को वीजा मिल गया. सिर्फ मुझे वीजा देने से इनकार कर दिया गया.’ 

इसके साथ ही अनुपम ने ये भी कहा कि ‘मुझे इस बात से दुख हुआ है कि इतने सारे लोगों को वीजा मिला है और मुझे नहीं मिला. हम उनके सारे सिंगर्स, एक्टर्स का सम्मान करते हैं, उनके फिल्मों में काम देते हैं. हो सकता है कि मैं मोदी का समर्थक हूं या फिर कश्मीरी पंडितों पर मेरे विचार के कारण ऐसा हुआ है.’

अनुपम ने कहा, ‘कला और संस्कृति को सीमाओं में बांधने की जरूरत नहीं है और इसलिए मैं कराची साहित्य महोत्सव में जाने के लिए सहमत हुआ था.’

कार्यक्रम की आयोजक की एबीपी न्यूज़ से खास बातचीत

सभी को वीजा मिल गया है लेकिन इनकी एप्लिकेशन कबूल नहीं की गई है. क्यों नहीं दिया गया? इस सवाल के जवाब में एबीपी न्यूज़ से बातचीत करते हुए लिट फेस्ट की आयोजक ने कहा, “मुझे तो कोई वजह नहीं बताई गई लेकिन अपनी सोच ये है कि जो आजकल उनका विवाद चल रहा है शशि थरूर के साथ वो बात नागवार हुई है. मैं मानती हूं कि ये वजह सही नहीं है. अगर वो पाकिस्तान आते तो उनकी सोच शायद बदलती. लोग उनका इंतजार कर रहे हैं. यहां लोगों से मिलते तो शायद उनके ख्यालात में कोई तब्दीली भी आती है.”

ख्यालात पसंद ना आने पर वीजा ना देना ठीक है? इस पर अमीना ने एबीपी न्यूज़ से कहा, “बातचीत होनी चाहिए. इससे ख्यालात बदलेंगे. इससे ताल्लुकात में बेहतरी आएगी. इसी से दोनों मुल्क में दोस्ती बढे़गी. यहां इस पर बहस होनी चाहिए.”

गुलाम अली का कार्यक्रम मुंबई में नहीं होने दिया गया. क्या इस वजह से खेर को वीजा नहीं मिला? इस पर अमीना ने कहा, “इस वजह से तो नहीं जो़ड़ा. वो भी गलत बात हुई. खुर्शीद कस्तूरी हमारे लेखक हैं. मुंबई में उनका विरोध हुआ, धमकी दी गई, उनके मुंह पर कालिख पोती गई. ऐसा नहीं होना चाहिए था… ना हिंदुस्तान में ऐसी बातें होनी चाहिए और ना ही पाकिस्तान में. हम सभी कलाकारों की बहुत इज्जत करते हैं.”

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व गृह सचिव और बीजेपी सांसद आर.के. सिंह ने कहा कि अनुपम खेर को वीजा न मिलना दुर्भाग्यपूर्ण है. वहीं सुधीन्द्र कुलकर्णी ने कहा की कलाकारों को सियासत से दूर रखा जाना चाहिए.

आपको बता दें कि इस आयोजन में कुल 15 लोग शामिल होने वाले हैं. अमीना सैय्यद ने एबीपी न्यूज को 15 नाम बताएं हैं जो फेस्टिवल में भाग लेने वालें हैं.
1. अनुपम खेर- वीजा रिजेक्ट
2. नूर जहीर
3. नंदिता दास
4. बरखा दत्त
5. सलमान खुर्शीद
6. दिव्या शाह
7. लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी
8. संजय रजूरा
9. सैफ महमूद
10. रूचिरा गुप्ता
11. रुबी ढींगरा अग्रवाल
12. अनुराधा जोशी
13 समीर बगाई
14. अतर श्रीनिवासन
15. अर्शिया सरताज- इन्होंने किसी कारण अपना वीजा वापस ले लिया क्योंकि इनका कोई पर्सनल काम है.

आपको यह भी याद दिला दें कि अनुपम खेर की पत्नी अभिनेत्री किरण खेर बीजेपी सांसद हैं और अनुपम को मोदी सरकार का करीबी माना जाता है. असहिष्णुता पर उपजी बहस में अनुपम खेर ने खुलकर सरकार का बचाव किया था. जनवरी में ही सरकार ने अनुपम को पद्म भूषण देने का एलान किया है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pakistan denies Anupam Kher visa to attend Karachi lit fest
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017