इंसानियत के सीने पर मौत लिखने वाले हैं परवेज़ मुशर्रफ के 'हीरो'

By: | Last Updated: Wednesday, 28 October 2015 3:32 PM
Pakistan Supported, Trained Terror Groups: Pervez Musharraf

नई दिल्ली: इंसानियत के सीने पर बारूद से मौत लिखने वाले हत्यारे आपके पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के हीरो हैं. अब तक तो भारत ये सच सारी दुनिया को बताता रहा और पाकिस्तान इंकार करता रहा.

 

लेकिन अब पाकिस्तान के ही एक हुक्मरान की जुबान पर आ गई है पाकिस्तान की बदनीयती की गंदी दास्तान. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान की सेना के मुखिया रहे परवेज मुशर्रफ ने मान लिया है कि पाकिस्तान आतंकवादियों को हथियार से लेकर ट्रेनिंग तक देता रहा है.

 

26 नवंबर को भारत के कारोबारी शहर मुंबई पर 72 घंटे तक चले हमले में 164 लोगों की जान गई थी. उस हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का हीरो है. मुंबई हमले में हाफिज सईद का साथी और लश्करे तैयबा का वो कमांडर जो भारत की धरती पर बेशुमार फिदायीन हमलों का जिम्मेदार है.

 

वही जकी उर रहमान लखवी और अमेरिका के नाइन इलेवन का मुख्य सरगना ओसामा पाकिस्तान पर 8 साल तक राज करने वाले परवेज मुशर्रफ के हीरो हैं. इतना ही नहीं ओसामा की मौत के बाद अल कायदा की कमान संभालने वाले अल जवाहिरी के नाम भी दुनिया भर के देशों में हजारों बेगुनाहों का कत्ल दर्ज है.  वो अल जवाहिरी भी पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का हीरो है.

 

मुशर्रफ ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि LET के सरगना जकीउर रहमान लखवी और हाफिज सईद जैसे आतंकी संगठनों के सरगनाओं को कश्मीर में उनके खून खराबे के लिए हीरो की तरह सम्मन दिया जाता है. मुशर्रफ ने कहा कि हमने जिन लोगों को भारत के खिलाफ तैयार किया था वो अब देश में ही लोगों को मार रहे हैं ऐसे लोगों को रोका जाएगा.

 

आतंक के साथ पाकिस्तान के गंदे-गहरे और पुराने नाते को पहली बार मिला है नाम और ये नाम है ‘हीरो’. ये नाम दिया है साल 2001 से साल 2008 तक पाकिस्तान के हर राज के राजदार, पाकिस्तान के उस दौर के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने. परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान के दुनिया टीवी को 25 अक्टूबर को कराची में एक इंटरव्यू दिया था. यह इंटरव्यू में हर उस झूठे पर्दे को चीर कर रख देता है जिसके पीछे छिपकर आतंक को पालता-पोसता रहा है पाकिस्तान
 

इंसानियत के सीने पर मौत लिखने वाले हैं परवेज़ मुशर्रफ के ‘हीरो’

 

इस इंटरव्यू में महज पांच मिनट की बातचीत में परवेज मुशर्रफ अपने मुल्क पाकिस्तान के बच्चों को बता देना चाहते हैं कि उनका मुल्क आतंकवाद को सलाम करे सजदा करे और जब आतंक का जिन्न उसकी बोतल में ना समाए तो भी उफ ना करे सिर्फ जुबान सिल ले.

 

मुशर्रफ साहब, आपने आतंक की अपनी बसाई दुनिया को सलामी भी पेश कर दी और बाकी दुनिया के सामने तराजू लेकर अपनी बदनीयती को बेबसी भी बता दिया. मुशर्रफ साहब आपने गजब कर दिया.

 

मुशर्रफ साहब को जो कहना था वो कह चुके. जिस गुनाह के आगे आप सजदा करने का दावा कर रहे हैं भारत ही नहीं सारी दुनिया उससे नफरत करती है.

 

मुशरर्फ के हीरो की कहानी

हाफिज सईद मुशर्रफ का पहला हीरो

 

 मुंबई को 26/11 का जख्म देने वाला कोई और नहीं बल्कि जमात-उद-दावा का मुखिया हाफिज सईद था. हाफिज सईद के भेजे आतंकवादियों ने मुंबई को ताबड़तोड धमाकों से लहूलुहान कर दिया था. 2008 का मुंबई हमला भारत के लिए अब तक का सबसे खौफनाक आतंकी हमला था.

 

लेकिन ये कहानी यहीं खत्म नहीं होती. दरअसल कश्मीर में भी भेजे गए उसके आतंकवादी रह-रहकर घाटी को दहलाते रहते हैं. भारत के लिए नासूर बन गए हाफिज सईद के खिलाफ भारत कई सबूत पाकिस्तान को सौंप चुका है लेकिन पाकिस्तान की सरजमीं पर वो खुलेआम घूम रहा है.

 

जकी-उर-रहमान लखवी मुशर्रफ का दूसरा हीरो

 

जकीउर्रहमान लखवी भारत का दुश्मन नंबर 2 है. लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर लखवी भी 2008 में मुंबई में हुई हमले की साजिश में शामिल था. भारत को दहलाने की योजना इसी के कंधे पर थी. मुंबई में भेजे गए आंतकियों को इसी ने पाला-पोसा था. भारत और संयुक्त राष्ट्र के दबाव के बाद इसे पाकिस्तानी ने गिरफ्तार भी कर लिया था लेकिन जेल के अंदर से ही आतंक की फैक्ट्री चलाता रहा और फिर जमानत पर रिहा हो गया.

 

ओसामा बिन लादेन मुशर्रफ का तीसरा हीरो

 

अमेरिका समेत पूरी दुनिया को दहलाने वाला ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान ने ही आतंकवादी बनाया था. वजह थी अफगानिस्तान में सोवियत रूस को रोकना लेकिन लादेन ने आतंक की अपनी दुनिया खड़ी कर ली. फिर 2001 की 11 सितंबर को लादेन के खौफनाक इरादों को अमेरिका के ट्विन टावर की तबाही के तौर पर देखा गया. यही नहीं अल कायदा के तालिबानी लड़ाके अफगानिस्तान को दहलाते रहे. लादेन को पनाह भी पाकिस्तान ने ही दी थी लेकिन अमेरिका ने उसे पाकिस्तान के एबटाबाद में खोज कर सजाए मौत दे दी थी.

 

अल-जवाहिरी मुशर्रफ का चौथा हीरो

 

लादेन की मौत के बाद अल कायदा की कमान संभालने वाला अल-जवाहरी है. अफगानिस्तान और उत्तरी-पश्चिमी पाकिस्तान में अल कायदा अभी भी वहां की सरकार के लिए बड़ी मुसीबत बना हुआ है.

 

इंसानियत को अपने खौफ से रौंदने वाले ऐसे गुनहगारों को जब परवेज मुशर्रफ अपना हीरो कहेंगे तो जाहिर से पाकिस्तान के लिए मुश्किल तो खड़ी होगी ही. इस पर जब पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित से सवाल किया गया तो उनकी जुबान सिल गई. पाकिस्तान के गले में अटक गया है परवेज मुशर्रफ का बयान लेकिन दुनिया तो बोलेगी ही.

 

पाकिस्तान मामले पर सीधे नजर रखने वाले भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने तो आपकी नीयत पर ही सवाल उठा दिया है. अजीत डोभाल ने कहा जैसे हीरो होंगे वैसे ही लोग होंगे.

 

ये साफ है कि परवेज मुशर्रफ ने ये बयान देकर पाकिस्तान में पलने वाले आतंक पर भारत के पास पहले से मौजूद सबूतों में और इजाफा कर दिया है.

 

मुशर्रफ के बयान के बाद पाकिस्तान की धरती पर चलने वाले आतंक के ट्रेनिंग कैंपों का सवाल फिर सिर उठाने लगा है.  23 अक्टूबर 2015 को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र के दौरे पर थे और तब अमेरिका के साथ साझा बयान में उन्होंने कहा था, ”पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र की लिस्ट में मौजूद आतंकियों और उनके संगठनों जिसमें लश्कर ए तैयबा और उससे जुड़े संगठन भी शामिल हैं उन पर कड़ी कार्रवाई करेगा.”

 

दुनिया के दबाव में पाकिस्तान के ऐसे बयान तो आते हैं लेकिन सिर्फ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ही नहीं अपने जीते जी बेनजीर भुट्टो या किसी दूसरे पाकिस्तानी हुक्मरान ने कभी नहीं माना कि पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा देता है तो फिर अचानक ऐसा क्या हुआ कि भारत के खिलाफ करगिल जैसा युद्ध छेड़ने वाले परवेज मुशर्रफ ने आतंक पर अपनी जुबान खोल दी. परवेज मुशर्रफ के बयान से पाकिस्तान का सच एक बार फिर बेपर्दा हुआ है लेकिन दुनिया जानती है कि ऐसे सच पाकिस्तान के लिए ना कभी शर्म की वजह बने हैं और ना बनेंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pakistan Supported, Trained Terror Groups: Pervez Musharraf
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017