पार्टियों ने वोटरों को लुभाने के लिए किया रेडियो का इस्तेमाल

By: | Last Updated: Monday, 24 November 2014 6:33 AM

नई दिल्ली: वोटरों को लुभाने के लिए चुनावी राज्य जम्मू कश्मीर में नेताओं के लिए रेडियो पसंदीदा माध्यम बन कर उभरा है.

 

जम्मू कश्मीर में पहली बार सत्ता के लिए गंभीर प्रयास कर रही बीजेपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक रैली के संबोधन के ऑडियो क्लिप का इस्तेमाल कर रही है.

 

पिछले महीने राज्य में चुनावों के ऐलान के बाद से निजी एफएम रेडियो पर लगातार प्रसारित हो रहे क्लिप में मोदी कहते हैं, ‘‘जम्मू कश्मीर पूरे देश के लिए विकास का एक मॉडल हो सकता है.’’ यहां तक कि मीडिया के दूसरे माध्यमों-अखबार में भी बीजेपी ने अपने प्रचार अभियान में मोदी के चेहरे को सामने रखकर अपना ‘मिशन 44 प्लस’ शुरू किया. राज्य विधानसभा में साधारण बहुमत के लिए इतनी ही सीटों की जरूरत होती है.

 

कांग्रेस भी उसी रेडियो स्टेशन का सहारा ले रही है, लेकिन चुनाव प्रचार में किसी नेता की जगह, विकास कार्यों का हवाला देते हुए अपने उम्मीदवारों के लिए समर्थन मांग रही है. पार्टी का पिछले छह साल में नेशनल कांफ्रेंस के साथ गठबंधन था.

 

कांग्रेस के विज्ञापन में कहा गया है, ‘‘किस पार्टी ने लखनपुर से लद्दाख तक फोर लेन सड़क का निर्माण करावाया ? कांग्रेस. राज्य में साल भर संपर्क के लिए चेन्नानी और जोजिला में किस पार्टी ने सुरंगे बनवायी ? कांग्रेस. मेरा वोट सिर्फ कांग्रेस को.’’

 

विपक्षी पीडीपी ने पार्टी स्तर पर अब तक रेडियो विज्ञापन पेश नहीं किया है लेकिन शहरी क्षेत्र से पार्टी के कुछ उम्मीदवार वोटरों को आकषिर्त करने के लिए इस माध्यम का इस्तेमाल कर रहे हैं. श्रीनगर जिले में खानयार निर्वाचन क्षेत्र से पीडीपी उम्मीदवार खुर्शीद आलम वानी पुराने शहर के विकास का वादा करते हुए वोट की अपील करते हैं. रेडियो पर उन्होंने प्रचार अभियान चलाया ‘बदलाव के लिए वोट’.

 

बहरहाल, नेशनल कांफ्रेंस अपने उम्मीदवारों के पक्ष में इस माध्यम पर देर से पहुंची. नेकां प्रवक्ता जुनैद अजीम मट्टू ने कहा, ‘‘हमने चुनाव आयोग को प्रचार सामग्री सुपुर्द कर दी है और हमें आज से ऑन एयर होना चाहिए.’’ मट्टू ने देरी के लिए कोई कारण नहीं बताया पर लगता है कि पार्टी कल होने वाले पहले चरण के मतदान के ठीक पहले लोगों के सामने आना चाहती थी. नेकां ने 2008 के विधानसभा चुनाव में इस माध्यम का जोर शोर से इस्तेमाल किया था.

 

इसके अलावा, बीजेपी पहले से रिकार्डेंड कॉल और एसएमएस के जरिए मोबाइल टेलीफोन सब्सक्राइबरों के पास भी पहुंचने की कोशिश कर रही है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: parties_lureing_voters_through_radio
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017