बीजेपी वसुंधरा,सुषमा और शिवराज के साथ, संसद में करेगी मुकाबला

By: | Last Updated: Sunday, 19 July 2015 2:08 PM
party with sushma,vasundhra and shivraj

नई दिल्ली: संसद के आगामी मॉनसून सत्र के लिए अपना रूख तय करते हुए बीजेपी ने सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह चौहान से जुड़े विवादों पर रक्षात्मक नहीं होने का आज फैसला किया. साथ ही, पार्टी सदन में खुल कर इसका मुकाबला करेगी, जहां इन मुद्दों पर हंगामा होने के आसार हैं.

 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली, सुषमा, स्मृति ईरानी, रवि शंकर प्रसाद और पीयुष गोयल सहित पार्टी के विभिन्न सहकर्मियों तथा पार्टी प्रवक्ताओं के साथ रणनीतिक बैठक की है जिस दौरान राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी मौजूद थी. बैठक में तय किया हुआ है कि सुषमा स्वराज खुद अपना बचाव करेंगी और मुख्यमंत्रियों का बचाव खुद पार्टी करेगी

 

किसी का इस्तीफा नहीं लेने की बात स्पष्ट करते हुए बैठक में यह भी चर्चा हुई कि मंगलवार से शुरू हो रहे सत्र के दौरान संसद में इन मुद्दों पर विपक्ष के हमले का मुकाबला और सरकार एवं पार्टी के जवाब को कैसे सुसंगत किया जाएगा.

 

कांग्रेस ने धमकी दी है कि यदि राजे, विदेश मंत्री सुषमा और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान को हटाने की मांग नहीं मानी जाती है तो संसद की कार्यवाही नहीं चलने दी जाएगी.

 

आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी के साथ संपर्क को लेकर वसुंधरा हमलों का सामना कर रही हैं. ललित ईडी की जांच का सामना कर रहे हैं. सुषमा पर भी ललित की मदद करने के आरोप हैं. व्यापमं घोटाले में चौहान विपक्ष के निशाने पर हैं. सूत्रों ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से पार्टी को संकट में डाले हुए विवादास्पद मुद्दों पर बीजेपी रक्षात्मक नहीं होना चाहती है.

 

शाह से मुलाकात करने वालों में पार्टी की ओर से मीडिया में आने वाले चेहरों में एमजे अकबर, श्रीकांत शर्मा और संबित पात्रा शामिल हैं.

 

सुषमा को हटाने के लिए दबाव बनाने की तैयारी करने के अलावा विपक्ष ने संकेत दिया है कि वह मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को भी निशाना बनाएगी जो फर्जी डिग्री के सिलसिले में आरोपों का सामना कर रही हैं.

 

वहीं, सत्तारूढ़ बीजेपी द्वारा हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (कांग्रेस) को निशाना बनाए जाने का अनुमान है जो आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में संलिप्त हैं. संसद में अपनी सरकार के समक्ष चुनौतियां पेश आने की संभावनाओं का संकेत देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल एनडीए के सभी घटक दलों की पहली बैठक बुलाई है ताकि विपक्ष का मुकाबला करने की रणनीति पर चर्चा की जा सके.

 

अपने आवास पर सहयोगी दलों के साथ बैठक से पहले मोदी दो सर्वदलीय बैठकों में भी शरीक हो सकते हैं जिन्हें संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सत्र के सुगमता से चलने को सुनिश्चित करने के तरीकों पर चर्चा के लिए बुलाई है.

 

संसद में विपक्ष के गर्म तेवर दिखने के आसार को भांपते हुए मोदी ने शुक्रवार को स्वीकार किया था कि मुकाबला होगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: party with sushma,vasundhra and shivraj
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017