पठानकोट हमला: पाकिस्तान ने दर्ज की FIR, रिपोर्ट में किसी का नाम नहीं

By: | Last Updated: Friday, 19 February 2016 2:21 PM
pathankot attack: fir lodged against unknown person in pakistan in

इस्लामाबाद: पाकिस्तानी अधिकारियों ने पठानकोट आतंकी मामले में अज्ञात के खिलाफ एक FIR दर्ज की है. अधिकारियों ने आज बताया कि यह FIR हमले को लेकर सप्ताहों तक चली जांच के बाद दर्ज की गयी है. हमले के कारण भारत-पाकिस्तान विदेश सचिव स्तरीय वार्ता स्थगित कर दी गयी थी. यह FIR कल पंजाब प्रांत के गुजरांवाला में काउंटर टेरॅरिज्म डिपार्टमेंट में दर्ज कराई गयी है.

सीटीडी के एक अधिकारी के मुताबिक, FIR इसलिए जरूरी थी ताकि हमले के सिलसिले में एकत्र किये गये साक्ष्य के आधार पर पुलिस और न्यायिक कार्रवाई शुरू हो सके. हमले के लिए भारत ने पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम)आतंकवादी समूह पर आरोप लगाया था.

भारत ने मौलाना मसूद अजहर पर हमले का मुख्य षड्यंत्रकारी होने का, उसके भाई रउफ और पांच अन्य पर हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया है. इस हमले के सभी छह आतंकवादी मारे गये. हमले में सात भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे.

FIR संख्या 06..2016 पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 302, 324 और 109 एवं आतंकवादी-विरोधी कानून की धारा सात और 21..1 के तहत दर्ज की गयी है.

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल द्वारा मुहैया करायी गयी सूचनाओं के आधार पर दर्ज की गयी रिपोर्ट में किसी का भी नाम नहीं है. डोभाल ने कहा था कि चार आतंकवादियों ने संभवत: पाकिस्तान से भारत में प्रवेश किया और दो जनवरी को वायुसेना स्टेशन पर हमला किया.

जनवरी में पाकिस्तान और भारत के विदेश सचिवों की इस्लामाबाद में होने वाली तय बैठक को हमले के कारण स्थगित करना पड़ा था. बातचीत के लिए कोई नयी तारीख निर्धारित नहीं की गयी है. FIR में उन टेलीफोन नंबरों का भी जिक्र है जिन पर हमले के दौरान आतंकवदियों ने संपर्क किया था. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि FIR दर्ज किये जाने के बाद, औपचारिक रूप से मुदकमा शुरू करने के लिए किसी भी आरोपी को अदालत के समक्ष पेश किया जा सकता है.

खुफिया अधिकारियों के मुताबिक, हमले के बाद पाकिस्तान में करीब एक दर्जन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया था. बताया जाता है कि यह FIR हमले की जांच कर रही छह-सदस्यीय विशेष टीम की सिफारिशों के आधार पर दर्ज की गयी है.

पिछले महीने गुजरांवाला की सीटीडी पुलिस ने जिहादी साहित्य रखने के कारण जेईएम के तीन आतंकवादियों को आतंकवाद-निरोधक अदालत :एटीसी: के समक्ष पेश किया था.

मुंदेयकी में जेईएम द्वारा संचालित एक मदरसे से सीटीडी ने संदिग्धों को गिरफ्तार किया था. वर्ष 2008 में किए गए मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के आतंकी गुट जमात-उद-दावा का मुख्यालय मुंदेयकी में ही है.

हमले के पीछे जेईएम का हाथ के होने के भारत के दावे की जांच के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पंजाब के सीटीडी के अतिरिक्त महानिरीक्षक राय ताहिर के नेतृत्व में छह सदस्यीय जांच टीम का गठन किया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pathankot attack: fir lodged against unknown person in pakistan in
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017