आर आर पाटिल के निधन से महाराष्ट्र ने खोया ग्रामीण पृष्ठभूमि वाला नेता

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 1:46 AM
Patil was behind dispute-free village, cleanliness campaigns

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता आर. आर. पाटिल का सोमवार निधन हो गया उनकी स्थिति गंभीर थी और वह जीवन रक्षक प्रणाली पर चल रहे थे. उनके मुंह के कैंसर का इलाज चल रहा था. यह जानकारी आज यहां उनका इलाज कर रहे एक चिकित्सक ने दी.

आर आर पाटिल या अबा के नाम से मशहूर राकांपा के वरिष्ठ नेता रावसाहेब रामराव पाटिल मूल रूप से जमीन से जुड़े नेता थे जिन्होंने महाराष्ट्र की राजनीति में अपनी इमानदारी एवं प्रतिबद्धतता के कारण अपनी जगह बनायी.

 

पाटिल का जन्म पश्चिमी महाराष्ट्र के सांगली जिले में तसगांव तहसील के अंजनी गांव में एक साधारण परिवार में हुआ. उन्होंने कानून की पढ़ाई करते समय छात्र राजनीति में प्रवेश किया और बाद में वह जिला परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए.

 

‘‘मि.क्लीन’’ के नाम से मशहूर पाटिल अपनी अच्छी संगठनात्मक क्षमता और ग्रामीण मुद्दों की अच्छी समझ के कारण पहचाने जाते थे. उनकी संवदेनशीलता ने उन्हें महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री तक पहुंचने में काफी मदद की.

 

बहरहाल, इलेक्ट्रानिक मीडिया के समक्ष उनके कई बार बिना विचार किये गये दिये बयानों तथा डांस बारों पर प्रतिबंध लगाने के उनके विवादास्पद निर्णय के चलते गृह मंत्री के तौर पर उनके करियर पर अल्पविराम लग गया था.

 

शुरू में वह दिवंगत वसंतदादा पाटिल के करीबी थे लेकिन बाद में वह शरद पवार के काफी करीब आ गये. पवार से उनकी करीबी उस समय बढ़ी जब वह कांग्रेस में थे.

 

पाटिल को 1999 में पहली बार लोकतांत्रिक मोर्चा सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया. पाटिल 2003 में तब गृह मंत्री बनाया गया था जब छगन भुजबल ने तेलगी घोटाला खुलासे के चलते इस्तीफा दे दिया था.

 

ग्यारह वर्ष तक जिला परिषद सदस्य रहने के बाद पाटिल 1990 में पहली बार कांग्रेस के टिकट से तसगांव से विधानसभा के लिए चुने गये. उन्होंने पांच बार इस सीट को जीता.

 

पवार के 1999 में कांग्रेस से हटने और राकांपा गठित करने के बाद पाटिल ने उनका साथ दिया. बाद में उन्हें राकांपा की महाराष्ट्र इकाई का प्रमुख बनाया गया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Patil was behind dispute-free village, cleanliness campaigns
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017