साझा सरकार बनते ही पीडीपी ने कहा, मोदी सरकार अफज़ल गुरू का शव वापस सौंपे

By: | Last Updated: Monday, 2 March 2015 12:19 PM

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के समर्थन से मुख्यमंत्री बनते ही मुफ्ती मोहम्मद सईद का विवाद बयान अभी शांत भी नहीं हुआ था कि सरकार बनने के दूसरे ही दिन पीडीपी के विधायकों ने नई मांग करके बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

 

सत्ताधारी पीडीपी के आठ विधायकों ने केंद्र सरकार से संसद हमले के गुनाहगार अफजल गुरू के शव की मांग की है. अफजल गुरू को 9 फरवरी 2013 को फांसी दे दी गई थी. शव दिल्ली की तिहाड़ जेल में दफन है.

 

पुलवामा से पीडीपी विधायक मोहम्मद खलील बंद सहित पीडीपी के 8 विधायकों ने जम्मू-कश्मीर विधानसभा के बाहर और अंदर मांग की कि भारत सरकार अफज़ल गुरू के शव को वापस करे.

 

पीडीपी के विधायकों का कहना है कि अफजल और उसके परिवार के साथ नाइंसाफी की गई.

 

जब इस संबंध में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से सवाल किया गया तो उन्होंने सवाल का जवाब देने से बचने की कोशिश की. राजनाथ सिंह बार-बार यह कर रहे थे कि अभी संसद चल रहा है.

 

आपको बता दें कि इससे पहले कल जैसे ही मुफ्ती मोहम्मद सईद ने सीएम का पद संभाला, ये कहकर बवाल खड़ा कर दिया कि पाकिस्तान, आतंकियों और हुर्रियत नेताओं की मदद के बिना कश्मीर में शांतिपूर्ण चुनाव मुमकिन नहीं हो पाता. आज भी मुफ्ती सईद ने अपने बयान का बचाव किया है.

 

लेकिन जम्मू-कश्मीर में सरकार बनने के पहले दिन से पीडीपी का जो रवैया है. उससे बीजेपी के लिए ये दोस्ती आसान नहीं दिख रही है. अगर ये रुख नहीं बदलता है तो गठबंधन पर असर पड़ते देर नहीं लगेगी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PDD demands afzal guru mortal remains
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017