सम्मान लौटा रहे साहित्यकारों के समर्थन में पेन इंटरनेशनल

By: | Last Updated: Sunday, 18 October 2015 4:42 AM
PEN International stands in solidarity with Indian writers

वॉशिंगटन: देश में ‘बढ़ती असहिष्णुता’ के खिलाफ विरोध जता रहे भारतीय लेखकों के साथ एकजुटता दिखाते हुए लेखकों के वैश्विक संघ ने भारत से अपील की है कि वह ऐसे लोगों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करे और संविधान से मिली अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का संरक्षण करे.

 

कनाडा की क्यूबेक सिटी में आयोजित पेन इंटरनेशनल की 81वीं कांग्रेस में भाग लेने वाले 73 देशों के प्रतिनिधियों ने कल जारी एक बयान में उन लेखकों और कलाकारों के साथ भी एकजुटता दिखाई , जिन्होंने विरोध दर्ज कराते हुए अपने प्रतिष्ठित पुरस्कार लौटा दिए हैं.

 

इसी के साथ पेन इंटरनेशनल के अध्यक्ष जॉन राल्स्टन सॉल ने देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और साहित्य अकादमी को पत्र लिखकर भारत सरकार से अपील की है कि वह लेखकों और कलाकारों समेत हर किसी के अधिकारों की सुरक्षा के लिए ‘‘तत्काल कदम’’ उठाए. पत्र में कहा गया, ‘‘हम अकादमी को अपने पुरस्कार लौटा देने वाले 50 से अधिक उपन्यासकारों, विद्वानों, कवियों और जन बुद्धिजीवियों के साथ एकजुट होकर खड़े हैं और उनके साहस की सराहना करते हैं.’’

 

सॉल ने लिखा, ‘‘कनाडा की क्यूबेक सिटी में आयोजित पेन इंटरनेशनल की 81वीं कांग्रेस में जुटे 150 देशों के लेखकों ने जाने माने विद्वान और बुद्धिजीवी एम एम कलबुर्गी की हत्या के बाद उपजे संकट पर गहरी चिंता जताई.’’सॉल ने लिखा, ‘‘उन्होंने पेन इंटरनेशनल का अध्यक्ष होने के नाते मुझसे हमारा यह दृढ़ नजरिया आपके साथ साझा करने के लिए कहा कि भारत सरकार को भारतीय समाज एवं संस्कृति की उत्कृष्ट परंपराओं और भारतीय संविधान के मूल्यांे के अनुरूप सभी के अधिकारों की सुरक्षा करने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए और इन लोगों में लेखक एवं कलाकार भी शामिल हैं.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘इसके लिए सरकार को लेखकों एवं कलाकारों के समुदाय को यह आश्वासन देना चाहिए कि मंत्रीजन विविधता भरे विचारों के प्रति सहिष्णु हैं. सरकार को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि एम एम कलबुर्गी, नरेंद्र दाभोलकर और गोविंद पानसरे की हत्याओं की जांच निष्पक्ष एवं त्वरित तरीके से हो और उनके हत्यारों को न्याय के कटघरे में लाया जाए.’’

 

अज्ञात हमलावरों द्वारा मारे गए कलबुर्गी, पानसरे और दाभोलकर के निधन पर शोक जताते हुए लेखक संघ ने भारत सरकार से अपील की कि वह इन अपराधों के साजिशकर्ताओं की पहचान करे और उन्हें गिरफ्तार करे.

 

बयान में कहा गया कि कलबुर्गी भारत के सबसे बड़े साहित्यिक पुरस्कारों में से एक साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किए गए थे, फिर भी उनकी हत्या के बाद अकादमी ने ‘चुप्पी साधे रखी’, जबकि उसके सदस्यों ने विरोध करते हुए इस्तीफे दे दिए और कई विजेताओं ने अपने पुरस्कार तक लौटा दिए.

 

बयान में कहा गया, ‘‘सरकार के दो मंत्रियों ने लेखकों द्वारा उनके पुरस्कार लौटाए जाने के उद्देश्यों पर सवाल उठाए हैं. भारत के मौजूदा माहौल में सार्वजनिक ढंग से असहमति व्यक्त करने के लिए हिम्मत चाहिए. पेन इंटरनेशनल विरोध दर्ज कराने के लिए अपने पुरस्कार लौटाने वालों, अकादमी या इसकी गर्वनिंग काउंसिल की सदस्यता से इस्तीफा देने वालों के साहस को सलाम करता है और उनके प्रति एकजुटता दिखाता है.’’

 

पेन इंटरनेशनल विश्वभर में लेखकों का प्रमुख संघ है जो विश्वभर में साहित्य को बढ़ावा देने के लिए और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा करने के लिए काम करता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PEN International stands in solidarity with Indian writers
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Indian authors PEN International
First Published:

Related Stories

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017