जासूसी कांड: केंद्रीय बजट और पीएमओ का लेटर लीक, अबतक 12 हुईं गिरफ्तारियां

By: | Last Updated: Saturday, 21 February 2015 2:55 AM
Petroleum document leak: 12 people arrested

नई दिल्ली: पेट्रोलियम मंत्रालय के दस्तावेज व्यापारिक घरानों को लीक करने का सनसनीखेज मामला अब व्यापक फलक लेता जा रहा है. पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक, लीक दस्तावेजों में आगामी केंद्रीय बजट और प्रधानमंत्री कार्यालय से संबंधित पत्र भी शामिल हैं. इससे मामले की गंभीरता का अनुमान लगाया जा सकता है. इस मामले में अब तक 12 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

 

इस कांड में शुक्रवार गिरफ्तार किए गए और सात लोगों में शीर्ष उर्जा कंपनियों के पांच वरिष्ठ अधिकारी और दो परामर्शदाता शामिल हैं. पूर्व पत्रकार और एक ऊर्जा सलाहकार की गिरफ्तारी और पुलिस में की गई शिकायत के खुलासे से यह मामला अनुमान से कहीं ज्यादा सनसनीखेज प्रतीत हो रहा है. यही नहीं, पुलिस के मुताबिक चोरी किए गए दस्तावेजों में ऊर्जा और कोयला मंत्रालय के दस्तावेज भी शामिल हैं.

 

इस मामले का कल भंडाफोड़ होने के बाद कुल गिरफ्तारियों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है. संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) रविंद्र यादव ने बीती रात बताया, ‘हमने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. आरआईएल के शैलेश सक्सेना, एस्सार के विनय कुमार, केर्न्‍स के केके नाइक, जुबिलियंट एनर्जी के सुभाष चंद्रा और एडीएजी रिलायंस के रिषी आनंद शामिल हैं.’ ये गिरफ्तारियां शुक्रवार शाम के वक्त की गई.

 

सक्सेना रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) में कॉरपोरेट मामलों के प्रबंधक हैं,जबकि चंद्रा जुबिलियंट एनर्जी में सीनियर एग्जक्यूटिव हैं. वहीं, आनंद रिलायंस एडीएजी में डीजीएम हैं. विनय एस्सार में डीजीएम हैं जबकि नाइक केर्न्‍स इंडिया में जीएम हैं. इन पर आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश रचने) और 411 (चोरी का सामान प्राप्त करना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

 

पेट्रोलियम मंत्रालय के दो कर्मचारियों और तीन बिचौलियों की कल की गिरफ्तारी के बाद दो उर्जा सलाहकारों..शांतनु सैकिया (पूर्व पत्रकार) और प्रयास जैन को शुक्रावार इससे पहले दिन में गिरफ्तार किया गया. सैकिया अब एक पेट्रो वेब पोर्टल चलाता है. इन दोनों लोगों पर चोरी के दस्तावेज हासिल करने का संदेह है.

 

पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने बताया कि हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें एक का नाम शांतनु सैकिया है और दूसरा प्रयास जैन है. दोनों ही लोग कुछ स्वतंत्र सलाहकार हैं. उनमें से सैकिया एक वेबसाइट चलाता है जिसमें वह विश्लेषण देता और लोग इसे पढ़ते. ये दोनों गिरफ्तार कर लिए गए हैं और जांच जारी है.

 

स्थानीय अदालत में पेश की गई केस एफआईआर में कहा गया है कि आरोपियों के पास से बरामद विभिन्न गोपनीय दस्तावेजों में 2015..16 के वित्त मंत्री के बजट भाषण के लिए नेशनल गैस ग्रिड के बारे में जानकारी भी शामिल है.

 

मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट संजय खंगवाल मामले में पेश की गई एफआईआर के मुताबिक इसके अलावा पुलिस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा का एक पत्र भी बरामद किया है. मजिस्ट्रेट ने आरोपियों की रिमांड के लिए कार्यवाही की सुनवाई की.

 

सभी सातों आरोपियों को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने लालता प्रसाद और राजेश कुमार :पेट्रोलियम मंत्रालय के कर्मचारी: तथा जैन एवं सैकिया को 23 फरवरी तक के लिए पुलिस को सौंप दिया. दरअसल, पुलिस ने संवेदनशील दस्तावेज बरामद होने की बात कही. पुलिस ने बताया कि कोयला, उर्जा और अन्य मंत्रालयों से जुड़े दस्तावेज आरोपियों के पास से बरामद किए गए जो फायदे के लिए इन्हें कुछ कॉरपोरेट हाउसों को भेजा करते थे.

 

पुलिस ने अन्य तीन आरोपियों ईश्वर सिंह आसाराम और राजकुमार चौबे के बारे में कहा कि उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ किए जाने की जरूरत नहीं है इसलिए इन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाए. पुलिस ने बताया कि इस सिलसिले में गिरफ्तार किए गए जिन लोगों के कार्यालयों और घरों पर छापेमारी की गई वहां से फोटोकॉपी वाले दस्तावेज बरामद हुए.

 

क्या-क्या हुआ बरामद

इस मुद्दे पर बात करते हुए दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने आज कहा कि इन लोगों ने खास दस्तावेज नहीं चुराए थे और सिर्फ मेज पर जो कुछ मिला उसकी फोटोकॉपी लिए होंगे. पुलिस और विभिन्न मंत्रालय के विशेषज्ञ बरामद किए गए दस्तावेजों की छानबीन कर रहे हैं ताकि यह पता कर सकें कि किस तरह के दस्तोवेज चोरी हुए हैं.

 

उन्होंने बताया कि विशेष अधिकारियों और संबद्ध मंत्रालयों से सलाह से दस्तावेजों की छानबीन करनी होगी जिसके बाद ही हम कह सकते हैं ताकि हम इसके बारे में जान सकें, तब जाकर हम यह कह सकते हैं कि यह गोपनीय दस्तावेज अधिनियम के दायरे में आता है या नहीं.

 

पुलिस ने बताया कि दोनों लोग मंत्रालयों से चोरी के दस्तावेज प्राप्त किया करते थे. सूत्रों ने बताया कि शास्त्री भवन में काम करने वाले एक अन्य जूनियर अधिकारी को भी पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया. पुलिस की टीमें छापेमारी कर रही है और इस मामले में और अधिक गिरफ्तारियां हो सकती हैं. बस्सी ने बताया कि पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इन लोगों के कंपनियों के साथ किस तरह के संबंध हैं.

 

कैसे होती थी जासूसी ?

पुलिस के मुताबिक मंत्रालय में जासूसी के इस काम में मल्टी टास्किंग कर्मचारी आसाराम और ईश्वर सिंह शामिल थे. ये दोनों ललता प्रसाद और राकेश कुमार को दस्तावेज चुराने में मदद करते थे. दोनों भाई मंत्रालय में अस्थाई कर्मचारी के तौर पर काम कर चुके हैं. मल्टी टास्किंग कर्मचारी वो होते हैं जो दफ्तर में पानी पिलाने से लेकर फोटोकॉपी कराने, फाइल पहुंचाने और दरवाजे पर बैठने का काम करते हैं. इन एमटीएस कर्मचारियों की अहम दस्तावेजों तक पहुंच थी.

 

आशाराम और ईश्वर सिंह लंबे अरसे से शास्त्री भवन में काम कर रहे थे आशाराम के रिटायरमेंट में एक साल और ईश्वर सिंह के रिटायरमेंट में चार साल बाकी थे इन्हे पता था कि सीसीटीवी कैमरे कहां से आन आफ होते है उस कमरे की डूप्लीकेट चाबी बनवा कर सीसीटीवी आफ कर देते थे.

 

ईश्वर के बेटों ललता और राकेश ने इसी के जरिये जासूसी शुरू की गई. तीसरा शख्स राजकुमार चौबे है जो ड्राइवर था. ये सभी जानकारी निकालकर कंपनियों, थिंक टैंक और लॉबिस्टों तक पहुंचाते थे.

 

जासूसी से किसे फायदा ?

 

जासूसी से उन कंपनियों को फायदा हो सकता है जो मंत्रालय से सीधे तौर पर जुड़े हैं. ऐसी कंपनियों को फायदा हो सकता है जिनकी सरकार से मुकदमेबाजी चल रही है वो जानना चाहेंगे कि कोर्ट में सरकार क्या पक्ष रखने वाली है. सरकार की भविष्य में क्या नीतियां रहेंगी ये पता चलना उन कंपनियों के लिए फायदेमंद हो सकता है जो एनर्जी सेक्टर से जुड़ी हैं. और इसीलिए पेट्रोलियम मंत्रालय के कर्मचारियों के जरिये सरकार का पक्ष जानने के लिए कागजात लीक करवाए गए हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Petroleum document leak: 12 people arrested
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017