मैं पत्थर पर लकीर खींचना जानता हूं: नरेन्द्र मोदी

By: | Last Updated: Monday, 18 May 2015 9:33 AM
PM arrives in South Korea on final leg of 3-nation tour

सियोल: देश के तीव्र विकास के लिए दुनिया भर से भारत में निवेश आमंत्रित करने में जुटे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि विकास का रास्ता कठिन है पर मैं मक्खन नहीं, पत्थर पर लकीर खींचना जानता हूं और विकास नाम की जड़ी बूटी से भारत ने समस्या का हल खोज लिया है.

 

यहां क्यूंग ही यूनिवर्सिटी में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘रास्ता कठिन है लेकिन मैं विकास नाम की जड़ी बूटी लेकर चल पड़ा हूं और इससे देश का मूड बदल रहा है. भारत ने समस्या का हल खोज लिया है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘ विकास का रास्ता कठिन है पर मैं मक्खन नहीं, पत्थर पर लकीर खींचना जानता हूं .’’ मेक इन इंडिया की पुरजोर वकालत करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मैं मेक इन इंडिया के लिए पूरे विश्व को निमंत्रित कर रहा हूं.’’

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह राजनीतिक लाभ के लिए कुछ नहीं करना चाहते . एक साल में बदलाव हुआ. देश का युवा परिवर्तन चाहता है और हम उस दिशा में लगे हुए हैं. हर क्षेत्र में हमें विकास की नई उंचाई को पार करना है.

 

मोदी ने कहा कि वह दुनिया की सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए भारत को विनिर्माण केंद्र बनना चाहते हैं.

 

उन्होंने विदेशों में बसे भारतीयों को स्वदेश लौटने और देश में निवेश करने का निमंत्रण देते हुए कहा कि पिछले एक साल में भारत के बारे में लोगों का मूड और धारणा बदल चुकी है.

 

मोदी ने कहा, ‘‘ दुनिया की सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी को भारत आना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ आज लोग भारत आने को लेकर काफी उत्साहित हैं. यह मूड में बदलाव का प्रतीक है. अखिर यह जनता ही है जो राष्ट्र का निर्माण करती है.

 

इस सिलसिले में उन्होंने दुनिया कि विभिन्न क्षेत्रों में रहने वाले भारतीय समुदाय के लोगों के कार्यो की सराहना की.

 

काम के प्रति समर्पण के महत्व का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि आज हम सहजता खो चुके हैं. आज सरकारी दफ्तर में जब कर्मचारी समय से आते हैं तो खबर बनती है. सरकार कोई भी हो, कैसी भी हो, अगर हम अपना काम करने लगे तो हिंदुस्तान को आगे जाने से कोई नहीं रोक सकता. उन्होंने कहा 21वीं सदी एशिया की सदी बन कर रहेगी और हिंदुस्तान बड़ी भूमिका निभाएगा. साल भर में दुनिया के लोगों का भारत के प्रति नजरिया बदला. इंडिया के बिना ब्रिक्स संभव नहीं है. पिछले दो-तीन महीनों में दुनिया की सभी मंचों पर चर्चा हुई है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है.

 

प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान क्यूंग ही यूनिवर्सिटी में उपस्थित भारतीय समुदाय के लोग मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PM arrives in South Korea on final leg of 3-nation tour
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017