PM मोदी ने लॉन्च किया सांसद आदर्श ग्राम योजना, कहा- पैसे से नहीं, कोशिशों से होगा विकास

By: | Last Updated: Saturday, 11 October 2014 8:37 AM
PM launches Saansad Adarsh Gram Yojna

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ (एसएजीवाई) नामक महत्वाकांक्षी ग्राम विकास परियोजना का शुभारंभ किया जिसके तहत हर सांसद पर वर्ष 2019 तक तीन गांवों में बुनियादी एवं संस्थागत ढांचा विकसित करने की जिम्मेदारी होगी. योजना का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि इसके तहत यह लक्ष्य रखा गया है कि 2016 तक प्रत्येक सांसद की अगुवाई में एक गांव का विकास किया जाए.

 

लोक नायक जयप्रकाश नारायण की जयंती के अवसर पर इस परियोजना का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसका उद्देश्य गांवों में रहने वाले लोगों को उन्नत बुनियादी सुविधाएं और बेहतर अवसर मुहैया कराना है.

 

उन्होंने कहा, “हम लगभग 800 सांसद हैं (दोनों सदनों को मिलाकर). अगर हममें से प्रत्येक 2019 से पहले एक गांव का विकास करता है, हम तकरीबन 2500 गांव तक ऐसा कर सकेंगे. अगर इस योजना की रोशनी में राज्य भी अपने विधायकों के लिए ऐसी योजना बनाते हैं तो इसमें छह से सात हजार गांव और जुड़ सकते हैं.” उनके अनुसार अगर एक ब्लाक में एक गांव विकसित होता है तो इसका असर ‘वाइरल’ की तरह फैलेगा और विकास की ललक अन्य गांवों को भी आकषिर्त करेगी.

 

यहां जानें- कैसा होगा और कैसे बनेगा आदर्श गांव? 

प्रधानमंत्री 14 को पहुंचेंगे वाराणसी, सुरक्षा होगी कड़ी 

 

उन्होंने कहा इस योजना को लचीला रखा गया है और सांसद को किसी भी गांव को चुनने की आजादी होगी. लेकिन एक शर्त यह है कि यह गांव उसका या उसकी ससुराल का नहीं होना चाहिए.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, “मुझे भी वाराणसी में एक गांव चुनना है.” उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह वहां जाकर चर्चा करेंगे और गांव को चुनेंगे. उन्होंने कहा, इस योजना के जरिए ऐसा माहौल बनाया जाना चाहिए जिससे कि हर व्यक्ति अपने गांव के लिए गर्व महसूस करे.