क्या मोदी का अश्वमेघ रथ रूक गया?

By: | Last Updated: Saturday, 7 February 2015 2:20 PM

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज़-नीलसन एग्जिट पोल के मुताबिक लोकसभा चुनाव के साथ ही जीत के रथ पर सवार बीजेपी को दिल्ली में अरविंद केजरीवाल रौंदते नजर आ रहे हैं. एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को करारी हार का समाना करना पड़ सकता है और आम आदमी पार्टी बहुमत के साथ सत्ता हासिल करती दिख रही है.

 

एग्जिट पोल के मुताबिक आम आदमी पार्टी 43 सीटों पर जीत का परचम लहरा कर दिल्ली में एक बार फिर सरकार बनाती दिख रही है. बीजेपी को 26 सीटें आने का अनुमान है, तो कांग्रेस महज़ एक सीट पर सिमट जाएगी.

 

क्या मोदी का अश्वमेघ रथ रूक गया?

 

इस बार दिल्ली के चुनाव बड़े ही निराले हुए हैं. पिछले एक साल में दिल्ली की राजनीति कितनी बदल गई है इसका अंदाज आप इससे लगा सकते हैं कि पूरी मोदी सरकार दिल्ली की सड़कों पर उतर गई थी. हालांकि अभी नतीजे आने शेष हैं लेकिन एग्जिट पोल आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमद दे रहे हैं. कांग्रेस तो अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ने के लेवल तक गिरी पड़ी है. पिछली बार बीजेपी के चेहरा थे डॉ. हर्षवर्धन, लेकिन एक साल में ही पार्टी की पसंद इतनी बदल गई कि उन्हें अपने यहां कोई चेहरा ही पसंद नहीं आया. किरन बेदी पर बीजेपी ने दांव खेला. जिस केजरीवाल को पिछले विधानसभा चुनाव से लेकर लोकसभा चुनाव के बाद तक कोई भाव ही नहीं दे रहा था, वह दिल्ली की सियासत की धुरी बन गए थे. इस चुनाव में सभी केजरीवाल से ही लड़ रहे थे. बीजेपी केजरीवाल को ही अपना दुश्मन नंबर एक मान रही थी. प्रधानमंत्री अपनी सभाओं में केजरीवाल पर कड़े प्रहार किए. जिस तरह लोकसभा में चुनाव को मोदी ने अपने इर्द गिर्द समेट लिया था ठीक उसी तरह केजरीवाल ने राजधानी की राजनीति को अपने इर्द-गिर्द समेट लिया. अब बड़ा सवाल यह है कि क्या मोदी का विजय रथ केजरीवाल ने थाम लिया? क्या मोदी लहर थम गई?

 

क्या दिल्ली विधानसभा चुनाव मोदी सरकार के कामकाज पर मुहर है?

 

अब तक आ रहे एग्जिट पोल की मानें तो अब मोदी का विजय रथ रूक गया है. केजरीवाल ने मोदी के लहर को दिल्ली में रोक दिया है. बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा था कि जीत या हार कप्तान की होती है. लेकिन हार के अंदेशा को समझते हुए मोदी की फेस सेविंग में बीजेपी के मंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह चुनाव से एक दिन पहले ही जुट गए थे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ABP न्यूज से एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा था कि दिल्ली चुनाव के नतीजा नरेंद्र मोदी सरकार के बीते 8 महीने के कामकाज का जनमतसंग्रह नहीं होगा.  केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में चुनाव के नतीजों को केंद्र में नरेन्द्र मोदी सरकार के कामकाज पर जनमत संग्रह के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. अब बड़ा सवाल यह है कि क्या इस चुनाव में आने वाले परिणाम जनता द्वारा सरकार के कामकाज पर मुहर है? क्या इस चुनाव का परिणाम सत्ता के खिलाफ मतदान है.

 

दिल्ली विधानसभा चुनाव का बिहार और बंगाल पर क्या होगा असर ?

 

जैसा कि अक्सर देखने को मिलता कि सत्ता के खिलाफ जनता में लहर होती है. राजस्थान विधानसभा चुनाव, लोकसभा के बाद हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड़ में बीजेपी को मिला समर्थन इस बात की पुष्टि कर रहा था. मध्यप्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, में बीजेपी की जीत की वजह वहां के स्थानीय शासन के कामकाज के साथ केंद्र की कांग्रेस सत्ता के खिलाफ जनाक्रोश भी था. अब दिल्ली में बीजेपी की संभावित हार की वजह क्या मोदी सरकार से अब लोगों का मोह समाप्त हो रहा है.

 

सियासत में मोदी विरोधियों को इस चुनाव से ऑक्सीजन मिलने की संभावनाएं बनने लगी हैं. बिहार और पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मोदी सरकार से पहले से ही खफा हैं. शारदा चिटफंड पर सीबीआई द्वारा सरकार के कई मंत्रियों पर कसते शिकंजे से ममता पहले ही तिलमिलाई हुई हैं. उन्होंने दिल्ली में आम आदमी पार्टी के पक्ष में समर्थन की घोषणा कर दी थी. पश्चिम बंगाली की स्थानीय सियासत में बीजेपी पहले तो कोई असर नहीं रखती थी लेकिन लोकसभा चुनाव और उसके बाद अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही है. दीदी को बीजेपी के उभरने से ही दिक्कत महसूस हो रही है. दिल्ली में आने वाले चुनाव परिणाम यदि मोदी के पक्ष में नहीं जाते हैं तो ममता बनर्जी राहत की सांस लेंगी.

 

बिहार में भी जेडीयू और आरजेडी को थोड़ी ही सही राहत मिलेगी. कम से कम मीडिया के सामने एक बार फिर लालू, नीतीश, शरद यादव जैसे नेता मोदी लहर को इनकार करेंगे. उन्हें अपने राज्यों में भी उम्मीद की किरण दिखेगी. मोदी पर तीखे हमले करने में यह संभावित चुनाव परिणाम सहायक होगा. हालांकि चुनाव परिणाम 10 को आएंगे लेकिन एग्जिट पोल के नतीजों ने मोदी के विरोधियों को उम्मीद की किरण तो दिखा ही दी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PM modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017