वैज्ञानिकों को पीएम की सलाह, लैब से निकलकर जवानों और छात्रों से संवाद करें

By: | Last Updated: Wednesday, 20 August 2014 5:54 AM
PM Modi addresses scientist of DRDO

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों के कार्यक्रम में कहा है कि देश के वैज्ञानिकों को सेना के जवानों और यूनिवर्सिटी के छात्रों से सीधा संवाद की जरूरत है. नए आइडिया के लिए वैज्ञानिकों को लैब से बाहर निकलने की जरूरत है.

 

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को वैश्विक नेता बनाने के लिए रक्षा अनुसंधान में ज्यादा से ज्य़ादा प्रयोग और तेज गति से काम करने की आवश्यकता है.

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में डीआरडीओ के करीब 50 लैब हैं, इनमें से 5 लैब 35 साल से कम उम्र के वैज्ञानिकों के हाथों में सौंप देने चाहिए ताकि नए और ताजा आइडिया आ सके.

 

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि हम समय से पहले काम पूरा करें.

 

आपको बता दें कि मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान भी ये आइडिया पिच किया था कि कैसे देश के साइंटिफिक टेंपरामेंट को गति दी जा सकती है. उनका तर्क है कि अगर वैज्ञानिक और सेना के जवानों व  छात्रों के बीच संवाद बढ़ता है तो देश को नई दिशा और गति मिलेगी.