पीएम मोदी आज मॉरीशस की नेशनल एसेंबली को संबोधित करेंगे, गंगा तलाब पर करेंगे पूजा

By: | Last Updated: Thursday, 12 March 2015 1:12 AM
PM Modi in Mauritius

पोर्टलुई: मॉरीशस पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ के साथ पांच समझौतों पर मुहर लगाई. प्रधानमंत्री मोदी ने सामुद्रिक सहयोग, खेती से जुड़े उद्योग, सांस्कृतिक आदान-प्रदान, परंपरागत औषधि और होम्योपैथी के अलावा आमों के निर्यात पर जोर देने के मुद्दों पर समझौता किया है. मोदी दो दिन की मॉरीशस यात्रा पर हैं.

 

आज प्रधानमंत्री करेंगे गंगा तालाब की पूजा

 

प्रधानमंत्री आज राजधानी पोर्ट लुई के मशहूर गंगा तालाब पर पूजा के साथ मॉरीशस दौरे का दूसरा दिन शुरू करेंगे. मॉरीशस के गंगा तालाब के लिए पीएम नरेंद्र मोदी खासतौर से गंगोत्री का जल ले गये हैं, जिसे पूजा के दौरान वो गंगा तालाब में डालेंगे. भारत के लोग गंगा नदी के प्रति जो श्रद्धा और मान्यता रखते है, गंगा तालाब को मॉरीशस के लोग उसी नजर से देखते हैं.

 

गंगा तालाब के किनारे बने मशहूर मॉरीशेश्वर महादेव मंदिर भी पीएम नरेंद्र मोदी अगवानी के लिये तैयार है. इस मंदिर में वो विशेष रूप से रुद्र पूजा करेंगे. मॉरीशेश्वर महादेव के प्रति मॉरीशस के अप्रवासी भारतीयों में अपार श्रद्धा है. इसे 13वां ज्योतिर्लिंग मानते हैं वहां के लोग.

 

पोर्ट लुई में गंगा तालाब की खोज 1897 में झुम्मन गिरी नाम के एक साधु ने की थी, तब से गंगा तालाब वहां के अप्रवासी भारतीयों की आस्था का केंद्र है. गंगा तालाब से एक परंपरा जुड़ी है, वो ये कि जब भी मॉरीशस से कोई अप्रवासी भारत जाएगा. वहां से गंगा जल लाकर इस पवित्र तालाब मं डालेगा.

 

इसी साल गुजरात के गांधीनगर में हुए प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी ने मॉरीशस के गंगा तालाब की खासतौर से चर्चा की थी.

 

मॉरीशस के राष्ट्रीय दिवस में मुख्य अथिति

सुबह 11:30 बजे पोर्ट लुई में विश्व हिंदी सचिवालय भवन के निर्माण का शिलान्यास करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी. हिंदी को अंतरराष्ट्रीय पहचान देने के लिए 1975 में नागपुर में मॉरीशस के तत्कालीन पीएम सर शिवसागर रामगुलाम ने विश्व हिंदी सचिवालय बनाने का प्रस्ताव रखा था.

 

पीएम मोदी मॉरीशस की नेशनल असेंबली को भी संबोधित करेंगे पीएम मोदी, दोपहर ढाई बजे मॉरीशस के राष्ट्रपति के लंच में शामिल होंगे. आज शाम मॉरीशस के राष्ट्रीय दिवस के समारोह में मुख्य अतिथि बनेंगे पीएम नरेंद्र मोदी. पोर्टलुई में भव्य समारोह की तैयारी गई है. मॉरीशस ने अपना राष्ट्रीय दिवस 12 मार्च को इसलिए चुना, क्योंकि 1930 में इसी दिन महात्मा गांधी ने डांडी मार्च की शुरुआत की थी.

 

मॉरीशस को 50 करोड़ डॉलर की मदद का एलान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की यात्रा के दौरान भारत ने महत्वपूर्ण अवसंरचना परियोजनाओं के लिए मॉरीशस को 50 करोड़ डॉलर का रियायती रिण देने की कल पेशकश की थी वहीं दोनों देश दोहरा कराधान समझौते की समीक्षा पर सहमत हुए हैं ताकि उसका ‘‘दुरूपयोग’’ रोका जा सके.

 

मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरूद्ध जगनाथ के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच समुद्री अर्थव्यवस्था सहित पांच समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं.  समझौतों पर हस्ताक्षर करते हुए मोदी ने कहा, ‘मैं मॉरीशस के असैन्य अवसंरचनात्मक परियोजनाओं के लिए 50 करोड़ डॉलर के रियायती रिण की पेशकश करके खुश हूं. हमारी मंशा मॉरीशस में जल्द से जल्द पेट्रोलियम भंडारण हेतु गोदाम बनाने की है.’

 

मोदी के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए जगनाथ ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री के साथ बातचीत में उन्होंने ‘मॉरीशस-भारत दोहरा कराधान वर्जन समझौते’ से संबंधित मुद्दे उठाए. जगनाथ ने कहा, ‘‘भारत ने ‘जीएएआर’ पर विचार को 2017 तक के लिए स्थागित कर दिया है, हम इसकी प्रशंसा करते हैं. मैंने प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध किया है कि वे डीटीएए को पूरा समर्थन दें क्योंकि यह वैश्विक व्यापार क्षेत्र के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.’’

 

मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि दोनों पक्ष इस समझौते का ‘‘दुरूपयोग’’ रोकने के लिए साझा लक्ष्य के आधार पर संधि की समीक्षा पर बातचीत करने पर राजी हो गए हैं. उन्होंने मॉरीशस को आश्वासन दिया कि भारत उसके हितों के लिए कुछ भी हानिकर नहीं करेगा. मोदी ने यह भी कहा कि मॉरीशस ने कर मामले में भारत के साथ सूचनाएं साझा करने की पेशकश की है.

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘कर संबंधी सूचनाएं साझा करने के मॉरीशस के समर्थन और सहयोग पर मैंने हृदय से हमारी प्रसन्नता व्यक्त की है.’’ ‘मॉरीशस-भारत दोहरा कराधान वर्जन समझौता (डीटीएए)’ की इस चिंता के तहत समीक्षा की जा रही है कि मॉरीशस का उपयोग भारत का काला धन वापस देश में लाने के लिए किया जा रहा है हालांकि देश :मॉरीशस: ने हमेशा कहा है कि इसके दुरूपयोग के कोई साक्ष्य नहीं हैं. पारंपरिक रूप से मॉरीशस भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के सबसे बड़े स्रोतों में से एक है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि रक्षा क्षेत्र में हमारा सहयोग हमारी सामरिक साझीदारी में नींव का पत्थर है. समुद्री अर्थव्यवस्था में सहयोग का समझौता हमारी वैज्ञानिक और आर्थिक साझेदारी को मजबूत कराने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम हैं.’’ आज हुए पांच समझौतों में दोनों देशों के बीच ‘समुद्री अर्थव्यवस्था’ के क्षेत्र में सहमतिपत्र पर हुआ हस्ताक्षर भी शामिल है. यह हिन्द महासागर क्षेत्र में सतत विकास हेतु विस्तृत ढांचा प्रदान करेगा. दोनों देशों के बीच हुए अन्य समझौते हैं.

 

मॉरीशस के अगालेगा द्वीप के लिए समुद्री और हवाई यातायात को बढ़ाने संबंधी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर, पारंपरिक औषधि प्रणाली और होम्योपैथी के क्षेत्र में सहयोग के सहमतिपत्र पर हस्ताक्षर, 2015-18 के बीच सांस्कृतिक सहयोग कार्यक्रम और भारत से ताजा आमों के आयात संबंधी समझौता.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PM Modi in Mauritius
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017