क्या आरोपों पर पीएम मोदी चुप्पी तोड़ेंगे?

By: | Last Updated: Monday, 20 July 2015 12:28 PM
pm narendra modi

नई दिल्ली: कल से संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह को लेकर कांग्रेस के कड़े तेवर बरकरार है. कांग्रेस ने आरोप लगा है कि देश में अराजकता की स्थिति है. कांग्रेस तीनों के इस्तीफे पर अड़ी है जबकि बीजेपी ने कहा है कि वो चर्चा के लिए तैयार हैं. लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पीएम मोदी चुप्पी तोड़ेंगे?

 

सरकार ने सहमति से संसद का सत्र चलाने से सभी दलों की बैठक बुलाई थी लेकिन बैठक से निकलने के बाद देश में अराजकता का आरोप लगाकर कांग्रेस ने अपने इरादे जाहिर कर दिये हैं. कांग्रेस की मांग है कि पहले पीएम सुषमा, वसुंधरा और शिवराज सिंह चौहान को हटाएं लेकिन सरकार राजी नहीं है.

 

सुषमा स्वराज का इस्तीफा क्यों मांगा जा रहा है ?

 

सुषमा स्वराज पर आईपीएल घोटाले के आरोपी ललित मोदी को ट्रैवल डॉक्यूमेंट दिलाने में मदद का आरोप है. सुषमा के पति स्वराज कौशल ललित मोदी के वकील रहे हैं. ललित मोदी ने स्वराज कौशल को अपनी कंपनी में जॉब का ऑफर दिया था जिसे उन्होंने ठुकरा दिया. सुषमा की बेटी बांसुरी भी ललित मोदी की लीगल टीम का हिस्सा रही हैं. जिसके बाद सुषमा पर हितों के टकराव के आरोप लगे थे.

 

सुषमा पर आरोपों का क्या हुआ ?

 

सुषमा ने मदद की बात खुद कबूल की थी लेकिन कांग्रेस के इस्तीफे की मांग पर उन्होंने कुछ नहीं कहा है . एक दिन पहले ही पार्टी अध्यक्ष से सुषमा की मुलाकात हुई है. सूत्रों के मुताबिक सुषमा खुद बचाव करेंगी.

 

वसुंधरा का इस्तीफा क्यों मांगा जा रहा है ?

 

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर आईपीएल घोटाले के आरोपी ललित मोदी के ब्रिटेन में रहने के लिए गवाही देने का आरोप है. कांग्रेस ललित मोदी को भगोड़ा कहती है. इतना ही नहीं वसुंधरा के बेटे दुष्यंत पर ललित मोदी से कारोबारी रिश्ते रखने का भी आरोप है.

 

वसुंधरा पर आरोपों का क्या हुआ ?

 

ललित मोदी केस की जांच प्रवर्तन निदेशालय कर रहा है. कारोबारी रिश्तों को लेकर दुष्यंत सिंह का कहना है कि आयकर रिटर्न और चुनावी हलफनामे में सारी जानकारी दी गई है. बीजेपी इस मामले में खुलकर वसुंधरा के साथ है. पार्टी कह चुकी है कि उनका इस्तीफा नहीं लिया जाएगा.

 

शिवराज का इस्तीफा क्यों मांगा जा रहा है ?

 

व्यापम घोटाले में मध्य प्रदेश के कई बड़े नेताओं के नाम हैं. कांग्रेस आरोप लगाती है कि जब ये पूरा घोटाला हुआ तब संबंधित मंत्रालय का जिम्मा शिवराज सिंह के पास ही था लिहाजा उन्हें इस्तीफा देना चाहिए. खुद शिवराज से व्यक्तिगत तौर पर जुड़े कई लोग इस मामले में फंसे हैं. घोटाले से जुड़े 47 लोगों की संदिग्ध मौत हो चुकी है.

 

 

शिवराज पर आरोपों का क्या हुआ ?

 

विपक्ष के दबाव के बाद पिछले दिनों इस केस की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी. सीबीआई आधा दर्जन से ज्यादा एफआईआर दर्ज कर चुकी है. घोटाले में 2530 आरोपी हैं जिनमें से 1980 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. पीएम से मिलकर शिवराज सफाई दे चुके हैं और संसद में शिवराज का बचाव पार्टी करेगी.

 

विपक्ष ने सरकार को घेरने की रणनीति बना ली है तो सरकार बचाव के लिए पूरी तरह तैयार है लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या आरोपों पर पीएम मोदी चुप्पी तोड़ेंगे?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm narendra modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017