कृषि के क्षेत्र में हमारा लक्ष्य 'सदाबहार क्रांति' का हो: पीएम मोदी

By: | Last Updated: Friday, 19 May 2017 8:53 PM
PM Narendra Modi calls for evergreen revolution in agriculture

नई दिल्ली: पीएम मोदी ने कृषि क्षेत्र में सदाबहार क्रांति पर जोर दिया है ताकि कृषि क्षेत्र के समक्ष आने वाली चुनौतियों का सामना किया जा सके. मोदी ने खाद्य सुरक्षा के बाद अब पोषण सुरक्षा की अवधारणा को अपनाए जाने जोर दिया.

पीएम मोदी ने कहा कि इसके लिए वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी हस्तक्षेप की जरूरत है. मोदी प्रधानमंत्री निवास पर एक कार्यक्रम में बोल रहे थे, जहां उन्होंने प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन पर दो खंडों की पुस्तक का विमोचन किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस दिशा में काम कर रही है, जिससे 2022 को जब देश अपनी आजादी की 75वीं वषर्गांठ मना रहा होगा तो किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी. उन्होंने कहा, ‘‘आबादी बढ़ रही है लेकिन जमीन नहीं बढ़ेगी. हमें यह देखना होगा कि उत्पादकता कैसे बढ़ाई जाए. कैसे कम भूमि पर अधिक उत्पादन हासिल किया जाए.’’

मोदी ने कहा, ‘‘कृषि क्षेत्र में चुनौती कायम है. हम हरित क्रांति एक और हरित क्रांति दो की बात करते हैं, लेकिन हमारा लक्ष्य सदाबहार क्रांति का होना चाहिए. कृषि उत्पादन स्वस्थ तरीके से बढ़ना चाहिए.’’ उन्होंने कहा कि कुपोषण एक चुनौती है. ऐसे में दालों के पोषक तत्व में सुधार होना चाहिए.

प्रधानमंत्री ने देश के विभिन्न अंचलों में आर्थिक संतुलन का उल्लेख किया और कहा कि इसे दूर किया जाना चाहिए क्योंकि देश में ज्यादा समय तक क्षेत्रीय असंतुलन का होना ठीक नहीं है. प्रधानमंत्री मोदी ने देश के विभिन्न क्षेत्रों की क्षमताओं का खाका खींचने की जरूरत है. उन्होंने कृषि के परंपरागत तरीके और वैज्ञानिक तरीके के एकीकरण का सुझाव दिया.

किसानों की आमदनी को 2022 तक दोगुना करने के सरकार के लक्ष्य पर मोदी ने कहा कि स्वामीनाथन ने हाल में उन्हें कुछ सुझाव दिए है जिन पर वह काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इसके पीछे विचार कम लागत, अधिक उत्पादन का है. मोदी ने कृषि क्षेत्र में अधिक वैज्ञानिक अनुसंधानों की जरूरत पर बल देते हए हर बूंद, अधिक फसल और प्रयोगशाला से भूमि जैसे नारों का जिक्र किया.

सरकारी कार्यक्रमों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल बीमा में इसे पेश किए जाने के एक साल के भीतर सात गुना का इजाफा हुआ है. उन्होंने कहा कि यूरिया पर नीम की कोटिंग के बाद इसकी चोरी रुकी है और उर्वकर की खपत भी इसके उत्पादन को प्रभावित किए बिना नीचे आई है.

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना और नदियों को जोड़ने की योजनाओं का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि लागत दक्ष खेती के लिए पानी की जरूरत है.’’ मोदी ने कहा कि देश में सीमान्त किसानों की संख्या 85 प्रतिशत है. ऐसे में कृषि क्षेत्र में वज्ञानिक और प्रौद्योगिकी की जानकारी के बारे में अधिक जागरूकता पैदा करने की जरूरत है. उन्होंने महात्मा गांधी के शब्दों का उल्लेख किया. महात्मा गांधी ने कहा था कि भूखे के लिए भोजन भगवान है.

मोदी ने इस बात पर असंतोष जताया कि आज का युवा खिलाड़ियों, फिल्म कलाकारों, यहां तक राजनीतिज्ञों से प्रभावित होता है लेकिन वह स्वामीनाथन जैसे वैज्ञानिकों से प्रभावित नहीं होता.

First Published:

Related Stories

रात विमान में और दिन मुलाकात में: विदेश दौरे पर हर घंटे एक्शन में होते हैं पीएम मोदी
रात विमान में और दिन मुलाकात में: विदेश दौरे पर हर घंटे एक्शन में होते हैं...

नई दिल्ली: तीन देशों की यात्रा करके आने के बाद आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन के गुजरात...

एयर इंडिया पर अपना नियंत्रण बनाए रख सकती है सरकार
एयर इंडिया पर अपना नियंत्रण बनाए रख सकती है सरकार

 नई दिल्लीः सरकार एयर इंडिया का मालिकाना हक अपने पास ही रख सकती है. हालांकि इस बारे फैसला वित्त...

GST: बेहद आसान भाषा में जानें क्या है इनपुट टैक्स क्रेडिट?
GST: बेहद आसान भाषा में जानें क्या है इनपुट टैक्स क्रेडिट?

नई दिल्ली: इनपुट टैक्स क्रेडिट यानी सामान बनाने वाले कारोबारियों को सरकार की तरफ से मिलने वाली...

केंद्रीय कर्मियों के लिए भत्तों में फेरबदल पर कैबिनेट की मुहर, आवास भत्ता ज्यादा मिलेगा
केंद्रीय कर्मियों के लिए भत्तों में फेरबदल पर कैबिनेट की मुहर, आवास भत्ता...

नई दिल्लीः केंद्र सरकार के 48 लाख कर्मचारियों-अधिकारियों के साथ 55 लाख पेंशनर के लिए अच्छी खबर....

हरियाणा सरकार की पत्रिका ने बताया 'घूंघट को राज्य की पहचान'
हरियाणा सरकार की पत्रिका ने बताया 'घूंघट को राज्य की पहचान'

चंडीगढ़: हरियाणा सरकार की एक पत्रिका में छपी तस्वीर के साथ लगे कैप्शन में ”घूंघट को राज्य की...

ये प्रमुख विपक्षी दल GST बैठक में नहीं हो सकते हैं शामिल!
ये प्रमुख विपक्षी दल GST बैठक में नहीं हो सकते हैं शामिल!

नई दिल्ली : संसद में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के अवसर पर 30 जून को मध्य रात्रि में होने...

वायरल सच: क्या योगी की पुलिस अपनी ही गाड़ी से डीजल चुराती है?
वायरल सच: क्या योगी की पुलिस अपनी ही गाड़ी से डीजल चुराती है?

नई दिल्ली: हर तरफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के 100 दिन पूरे होने की चर्चा हो रही है. सरकार अपनी...

जीएसटी में सिर्फ एक दर क्यों नहीं ? यहां पढ़ें सबसे बड़े सवाल का जवाब
जीएसटी में सिर्फ एक दर क्यों नहीं ? यहां पढ़ें सबसे बड़े सवाल का जवाब

नई दिल्ली: दुनिया के कई देशों में जीएसटी यानी एक टैक्स की व्यवस्था पहले से चल रही है. वहां और...

एबीपी न्यूज़ पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज़ पर दिनभर की बड़ी खबरें

एबीपी न्यूज़ पर दिनभर की बड़ी खबरें 1. *राष्ट्रपति चुनाव के लिए 17 विपक्षी दलों की उम्मीदवार मीरा...

नीतीश दे सकते हैं महागठबंधन को झटका, जीएसटी के आयोजन में हो सकते हैं शामिल: सूत्र
नीतीश दे सकते हैं महागठबंधन को झटका, जीएसटी के आयोजन में हो सकते हैं शामिल:...

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव को लेकर महागठबंधन में दरार के बीच खबर है नीतीश कुमार एक बार फिर...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017