पीएम मोदी विपक्ष पर भारी पड़े हैं ?

By: | Last Updated: Friday, 27 February 2015 11:06 AM
pm narendra modi comment on opposition

नई दिल्ली: आज संसद में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई बातें कही . उन्होंने कहा कि जरुरत पड़ने पर वे भूमि अधिग्रहण बिल में बदलाव के लिए तैयार हैं, उन्होंने धर्म के मामले में इंडिया फर्स्ट का नारा दिया और कहा कि हिंदू मुस्लिम मिलकर गरीबी के खिलाफ लड़ें. उन्होंने मनरेगा को लेकर भी कांग्रेस पर निशाना साधा .  आज संसद में पीएम मोदी विपक्ष पर भारी पड़े हैं ?

 

LIVE: मोदी के भाषण पूरी कॉपी

अभी तक मोदी सरकार पर लग रहे सभी तरह के आरोपों पर पीएम मोदी ने जवाब दिया है.

 

भूमि अधिग्रहण बिल

 

विपक्ष का आरोप था कि मोदी सरकार द्वारा लाया गया ये बिल किसान विरोधी है. उद्योगपतियों के समर्थन में है.

 

इस पर मोदी ने कहा कि किसानों को भूमि अधिग्रहण बिल अच्छा लगा होता तो कांग्रेस का यह हाल न होता, किसान खुश होते तो कांग्रेस जीतती. इसके बावजूद यदि विपक्ष हमें बताए कि इस बिल में क्या संसोधन की जरूरत है तो हम संसोधन को तैयार हैं. इस पर राजनीति ना हो.

 

कालाधन

 

कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष अक्सर कालेधन पर मोदी सरकार को घेरती थी. 15 लाख वापस कब आएंगे ऐसे सवाल कांग्रेस नेताओं द्वारा पूछा जाता था.

 

इस मुद्दे पर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर बोला. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था हो सकती है. काले धन की चर्चा से भी लोग कतराते थे, हमने देश को काले धन पर बोलने पर मजबूर किया. काले धन पर जिनके चेहरे के रंग उड़ते थे, उनके जिक्र करने से आनंद हुआ. सुप्रीम कोर्ट ने काले धन पर एसआईटी बनाने को कहा, तब भी नहीं बनाई गई थी. हमने पहली कैबिनेट में काले धन पर एसआईटी बनाए. जी-20 में काले धन का मुद्दा, ड्रग्स का मुद्दा उठाया. जेटली ने स्विस सरकार को जानकारी देने पर राजी किया, जानकारी का रास्ता खुला. कोई यह न सोचे कि हम बदले की भावना से कार्रवाई कर रहे हैं. देश की इच्छाशक्ति है, हम प्रयास कर रहे हैं.

 

मनरेगा

ऐसी अक्सर चर्चा थी कि मनरेगा बंद कर दिया जाएगा.

 

इस पर भी मोदी ने जमकर निशाना साधा. उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मनरेगा कांग्रेस की विफलताओं का जीता-जागता स्मारक है. गाजे-बाजे के साथ मैं इस स्मारक का ढोल पीटता रहूंगा. लोगों को पता चलेगा कि इतने साल बाद भी गड्ढे खोदने पर किसने मजबूर किया? मनरेगा आन-बान-शान से चलता रहेगा.

 

सांप्रदायिक बयान

मोदी सरकार बनने के बाद बीजेपी के कई सांसदों ने विवादित बयान दिए. संघ के नेताओं के बयान पर भी काफी हंगामा मचा.

 

इस पर भी मोदी ने सफाई और नसीहत दी. देश सरकारें नहीं , जनता बनाती है. सरकारें आती-जाती रहती हैं. विचारधारा आती-जाती है, मूलतत्व से देश चलता है. मोदी ने धर्म के मामले में इंडिया फर्स्ट का नारा दिया और कहा कि हिंदू मुस्लिम मिलकर गरीबी के खिलाफ लड़ें. मोदी ने कहा कि मेरी सरकार का धर्म सिर्फ संविधान और सबका विकास है.

 

दिल्ली विधानसभा चुनाव हार पर

 

विपक्ष दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली हार पर चुटकी लेता था. इसे मोदी सरकार के कामकाज जनता द्वारा मुहर बताया गया.

 

इस पर मोदी ने कहा कि लोग कहते हैं कि दिल्ली में आपका क्या हुआ? मैं ज्यादा इस पर कुछ कहना नहीं चाहता हूं. बस ये भी देखिए कि पंचायतों, निगमों, असम, पंजाब में हमारी भव्य विजय हुई.

 

विदेशी दौरे पर

विपक्ष लगातार मोदी के विदेशी दौरे पर मजाक उड़ाया. कांग्रेस ने संसद में आने के लिए वीजा जैसे ब्यंग्य किया गया.

 

इस पर मोदी ने कहा कि काफी मजाक उड़ाया गया, कहा गया कि आपको संसद का वीजा दे रहे हैं. मेरी आलोचना के लिए बस यही मिला था? विदेश दौरे पर पीएम का जाना जरूरी है. नोबेल विजेता से स्टेम सेल पर बात की. आदिवासियों को बीमारी से निजात दिलानी है. दाल पर जानकारी के लिए ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक से मिला था, दालों की देश में कमी, उत्पादन बढ़ाना जरूरी. केले की फसल पर जानकारी ली. देश की तड़प के लिए विदेश दौरे किए.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm narendra modi comment on opposition
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017