पीएम मोदी और बराक ओबामा एक साथ कर सकते हैं रेडियो पर संबोधन

By: | Last Updated: Wednesday, 21 January 2015 6:47 AM

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा 25 जनवरी को भारत पहुंचने वाले हैं. भारत दौरे के दौरान संभव है कि ओबामा और पीएम मोदी रेडियो पर संयुक्त संबोधन कर सकते हैं. पीएम मोदी अक्सर रविवार को सुबह 11 बजे मन की बात रेडियो पर करते हैं. इस बात की तैयारी हो रही है कि इस बार ओबामा के साथ बात की जाए.

 

गौरतलब है कि पीएम के अमेरिकी दौरे के दौरान दोनों ने साझा संपादकीय लिखा था जो वाशिंगटन पोस्ट में छपा था. ओबामा ने आज स्टेट ऑफ द यूनियन को संबोधित किया है जिसमें उन्होंने अमेरिकी अर्थव्यवस्था, आतंक के खतरे समेत कई मुद्दों पर भाषण दिया था.

 

प्रधानमंत्री मोदी रेडियो पर संयुक्त संबोधन कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक़ विदेश विभाग इस तरह के साझा संबोधन की संभावनाएँ तलाश रहा है. ग़ौरतलब है कि मोदी जब पिछले साव सितंबर के महीने में अमेरिका गये थे, उस वक़्त वाशिंगटन पोस्ट में उनका और ओबामा का साझा संपादकीय छपा था, जिसमें 21वीं सदी में दोनों देशों के संबंधों को और ऊँचाई देने की बात की गई थी.

 

ऐसे में जब ओबामा का भारत दौरा 25 जनवरी से हो रहा है, रेडियो पर दोनों नेता साझा संबोधन के ज़रिये भारत-अमेरिकी रिश्तों को एक और आयाम देने की कोशिश कर सकते हैं. वैसे भी पीएम बनने के बाद मोदी रेडियो का इस्तेमाल ख़ूब कर रहे हैं और मन की बात सीरिज़ के तहत कई बार देश के लोगों को संबोधित कर चुके हैं. अमेरिका में भी राष्ट्रपति के रेडियो संबोधन की परंपरा है.

 

ओबामा ने लिया आतंकवाद के सफाये का संकल्प

पाकिस्तान से लेकर पेरिस की सड़कों तक आतंकवादियों के सफाये के लिए अथक प्रयास करने का संकल्प जताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कांग्रेस से इस्लामिक स्टेट के उग्रवादियों के खिलाफ नयी युद्ध शक्तियों को मंजूरी देने का आह्वान किया.

 

ओबामा ने अपने सालाना ‘‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’’ में कहा ‘‘दुनिया भर में.. पाकिस्तान में स्कूल से लेकर पेरिस की सड़कों तक.. आतंकवादियों ने जिन लोगों को निशाना बनाया है, हम उन लोगों के साथ हैं.’’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा ‘‘हम आतंकवादियों का और उनके नेटवर्क का सफाया करते रहेंगे, हमने एकतरफा कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखा है क्योंकि मेरे इस पद पर आने के बाद से हमने उन आतंकवादियों के खिलाफ अथक कार्रवाई की है जो हमारे तथा सहयोगियों के लिए खतरा हैं.’’ उन्होंने कहा कि इसी दौरान अमेरिका ने अफगानिस्तान और इराक में आतंकवाद के खिलाफ अपने युद्ध से सबक भी सीखा है.

 

ओबामा ने कहा ‘‘अफगानिस्तान की घाटियों में गश्त कर रहे अमेरिकियों के बजाय हमने उनके सुरक्षा बलों को प्रशिक्षण दिया जिन्होंने अब कमान संभाली है और हमने अपने सैनिकों के बलिदान को सम्मानित किया है जो उन्होंने वहां लोकतांत्रिक बदलाव में सहयोग के माध्यम से दिया.’’ उन्होंने कहा ‘‘वहां विशाल जमीनी सेना भेजने के बजाय हम दक्षिण एशिया से उत्तरी अफ्रीका तक देशों के साथ सहयोग कर रहे हैं ताकि अमेरिका के लिए खतरा बने आतंकवादियों को सुरक्षित पनाह न मिले.’’

 

संबंधित खबरें-

अमेरिका में चुनाव के दौरान डिबेट की परंपरा है, पर भारत में नेता डिबेट से क्यों भागते हैं?

अमेरिका में चुनाव के दौरान डिबेट की परंपरा है, पर भारत में नेता डिबेट से क्यों भागते हैं? 

ताज के दीदार के बाद सीधे आगरा से अमेरिका लौट जाएंगे ओबामा 

ओबामा के भारत दौरे पर हो सकते हैं कई अहम समझौते, 60 हजार करोड़ का मौजूदा कारोबार पहुंच सकता है 300 हजार करोड़ तक 

गणतंत्र दिवस समारोह: चेहरे पहचानने वाले कैमरे लगाएगी दिल्ली पुलिस 

ओबामा के भारत दौरे से पहले जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले की साजिश 

क्या इस बार मिशेल ओबामा साड़ी पहनेंगी? 

क्या ओबामा राजपथ पर राष्ट्रपति की बुलेट प्रूफ कार के बजाय अलग से आएंगे! 

अमेरिका ने पाक को आगाह किया, ओबामा के भारत दौरे के समय कोई हमला नहीं हो 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm_modi_barack_obama
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017