मेरी ख्वाहिश है, जयापुर गांव मुझे गोद ले : प्रधानमंत्री

By: | Last Updated: Friday, 7 November 2014 2:17 AM
pm_modi_varanasi_visit

नई दिल्ली: दो दिन के दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लालपुर में बनारस को कई तोहफे दिए. पीएम ने व्यापार सुविधा केंद्र, पावरलूम सेंटर और शिल्प संग्रहालय का शिलान्यास किया.

 

इसके बाद पीएम जयापुर गांव पहुंचे. जो कि वाराणसी से 25 किलोमीटर दूर है. पीएम ने जयापुर गांव को आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया.  कपड़ा क्षेत्र के आधुनिकीकरण पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज बुनकरों से कहा कि वे वैश्विक उपभोक्ताओं तक पहुंचने के लिए ई-कामर्स के बढ़ते बाजार का उपयोग करें.

 

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर सहकारी बैंकों के पुनरूत्थान के लिए 2,375 करोड़ रूपये के एक पैकेज की भी घोषणा की जिसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के बैंक भी शामिल हैं.

 

सत्ता संभालने के बाद अपने लोकसभा क्षेत्र के पहले दौरे पर आए मोदी ने बुनकरों के लिए व्यापार केन्द्र की आधारशिला रखने के बाद कहा, ‘‘ई-कारोबार बढ़ रहा है. वैश्विक बाजार में अवसर हैं.’’ मंदिरों का यह प्राचीन शहर अपने रेशमी कपड़ों के लिए मशहूर है.

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि बुनकरों के लिए देश और विदेश दोनों जगह विशाल बाजार है और कपड़ा क्षेत्र बेहद गरीब लोगों को रोजगार प्रदान करता है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने 2,375 करोड़ रूपये के एक पैकेज की पेशकश करने का फैसला किया है. यह रकम उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के बैंकों के पुनरूत्थान में भी उपयोग की जा सकेगी.’’ गौरतलब है कि पांच नवंबर को केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने देश भर में 23 गैर लाइसेंसी जिला केन्द्रीय सहकारी बैंको के पुनरूद्धार पैकेज मंजूर किया था जिसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश के 16 जिले के बैंक शामिल हैं.

 

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि राजनीति इस पैकेज के दायरे से बाहर रखी जानी चाहिए.

 

मेरी ख्वाहिश है, जयापुर गांव मुझे गोद ले: प्रधानमंत्री

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जयापुर में हुए एक दुखद हादसे के कारण ही उन्होंने इस गांव को गोद लेने का फैसला किया. मोदी ने कहा कि बनारस आने के बाद उन्होंने सबसे पहले इसी गांव का नाम सुना था, जिसकी वजह से उन्हें इस गांव से लगाव हुआ. प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ के तहत वाराणसी के जयापुर गांव को गोद लिया. इस दौरान उन्होंने कहा, “मैं इस गांव को गोद नहीं ले रहा, बल्कि यह गांव खुद मुझे गोद ले रहा है.”

 

प्रधानमंत्री ने कहा, “इस गांव को गोद लेने की सबसे बड़ी वजह यह है कि चुनाव के दौरान यहां एक हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई थी. उस दुख की घड़ी में भी यहां के लोगों ने मेरा साथ दिया था.”

 

मोदी ने ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि आप मुझे गोद लीजिए और बताइए कि यहां क्या-क्या बदलने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि गांव को स्वच्छ रखने में सभी को आगे आना चाहिए. यहां के बुजुर्गो से सीखने का मौका मिलेगा.

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आदर्श ग्राम योजना को लेकर कुछ गांवों के बीच प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा हो गई है.

 

उन्होंने कहा, “आदर्श ग्राम के तहत गोद लेने के लिए प्रतिस्पर्धा चल रही है. मैं लोगों को एक बात स्पष्ट कर दूं कि इस योजना में सरकार एक भी पैसा नहीं देगी, क्योंकि जिस योजना में सरकार से पैसा आ जाता है वहां लूटने वाले भी पहुंच जाते हैं.”

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं यहां ऐसा माहौल बनाना चाहता हूं, जिसमें जयापुर का एक-एक नागरिक यह तय करे कि वह गांव को गंदा नहीं होने देगा.

 

उन्होंने कहा कि सामाजिक भागीदारी से ही गांव में बदलाव आएगा और इसके लिए खुद गांव वालों को ही आगे आकर पहल करनी होगी.

 

कन्या भ्रूण हत्या पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे समाज का संतुलन बिगड़ेगा. बहू-बेटियों की इज्जत करना समाज का कर्तव्य है.

 

मोदी ने कहा कि जयापुर गांव के लोगों को बच्ची पैदा होने पर जश्न मनाना चाहिए.

 

उन्होंने गांव से अपील करते हुए कहा कि घर में बेटी पैदा होने पर खेत में पांच पेड़ लगाएं, ताकि बिटिया की शादी के समय उन पेड़ों को बेचकर उस पैसे से उसकी शादी कर सकें. इससे लोगों को सहयोग मिलेगा.

 

मोदी ने कहा कि बनारस में बहुत कुछ करना है, लेकिन सरकारी खजाने से नहीं. बनारस का बदलाव जनशक्ति के माध्यम से ही संभव है.

 

FULL SPEECH: जयापुर गांव मुझे गोद ले- पीएम

 

मोदी भेलूपुर में विवेकानंद की मूर्ति का जो अनावरण करने वाले थे वो कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है. बीजेपी इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दे रही है. लेकिन प्रशासन का कहना है कि मूर्ति अनावरण की इजाजत नहीं ली गई है.

 

जयापुर गांव को क्यों गोद लिया मोदी ने?

सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र के जयापुर गांव को पीएम गोद लेंगे. जयापुर गांव वाराणसी शहर से 25 किलोमीटर दूर इलाहाबाद रोड पर पड़ता है. गांव की कुल आबादी 4200है. पीने के पानी से लेकर जल जमाव, सड़क और शौचालय, स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी इस गांव की बड़ी समस्या है. इस गांव में चुनाव के वक्त हाईटेंशन तार गिर गया था जिसके बाद मोदी ने गांव के प्रधान से फोन पर बात की थी और घायलों की जानकारी ली थी. उसी दिन पीएम ने इस गांव में आने का वादा किया था. जयापुर गांव में सिर्फ एक प्राइमरी स्कूल है.  गांव में कोई आंगनबाड़ी , प्राथमिक स्वास्थय केंद्र , मिडिल स्कूल नहीं है. गांव के सिर्फ 10 फीसदी घरों में शौचालय है.  सड़कें ठीक नहीं है जिसकी वजह से वाराणसी शहर जाने के लिये दिक्कत होती है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm_modi_varanasi_visit
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???? ??????? PM Modi varanasi visit
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017