बच्चों के नरसंहार के बाद पाकिस्तान का रवैया सदमा पहुंचाने वाला, कड़े शब्दों में जताया है एतराज

By: | Last Updated: Friday, 19 December 2014 8:14 AM

नई दिल्ली: पेशावर में बच्चों के नरसंहार के बाद लखवी को जमानत देने पर पीएम मोदी ने संसद में बयान दिया है. पीएम ने कहा कि बच्चों के नरसंहार के बाद पाकिस्तान का रवैया सदमा पहुंचाने वाला है. पीएम ने कहा कि लखवी को जमानत मिलने पर सरकार ने पाक को कड़े शब्दों में एतराज जताया है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई आतंकी हमले के षड्यंत्रकारी जकीउर रहमान लखवी को पाकिस्तान में जमानत दिए जाने की आज कड़ी निंदा करते हुए कहा कि इस पड़ोसी देश ने अपने यहां आतंकियों के हाथों 132 मासूम बच्चों की निर्मम हत्या किए जाने के दो दिन बाद ही यह कदम उठा कर समूची मानवता को सदमा पहुंचाने वाला कृत्य किया है.

 

मोदी ने लोकसभा में इस मुद्दे पर दिए गए एक बयान में कहा कि लखवी को जमानत दिए जाने के तुरंत बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान को कड़े से कड़े शब्दों में अपनी भावना से अवगत करा दिया है.

 

जेल से नहीं छूटेगा आतंकी लखवी, भारत के कड़े एतराज के बाद पाकिस्तान सरकार ने हिरासत में लिया

 

उन्होंने कहा ‘‘पाकिस्तान से अपेक्षा थी कि … अभी अभी दो दिन पहले ही उसके यहां बच्चों की निर्मम हत्या की जो भयावह घटना घटी है, और बच्चों का जो भयावह संहार हुआ है, उससे पकिस्तान को जितनी पीड़ा हुई, उससे भारत को रत्ती भर भी कम पीड़ा नहीं हुई. हमारे देश के हर बच्चे, हर मां की आंख में आंसू थे.’’ मोदी ने कहा ‘‘लेकिन उसके तुरंत बाद पाकिस्तान का यह रवैया … यह समूची मानवता को सदमा पहुंचाने वाला है.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को इस बारे में उचित शब्दों में भारत की भावना पहुंचा दी गई है.

 

उन्होंने कहा कि सदन ने लखवी को पाकिस्तान में जमानत पर रिहा करने के बारे में एक स्वर में जो चिंता जताई है और निंदा की है, सरकार की भावना सदन की भावना के अनुरूप रहेगी.

 

मुंबई हमलों के गुनाहगार लखवी को मिली जमानत, भारत का एतराज़

 

पाक ने अपना मजाक खुद उड़ाया- विदेश मंत्री

 

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लोकसभा में बयान देते हुए कहा कि, ”मुंबई हमले के गुनहगार लखवी को जमानत देकर पाकिस्तान ने आतंक के खिलाफ लड़ने की अपनी प्रतिबद्धता का मजाक उड़वाया है.”

 

 विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी सदन में आ कर एक बयान दिया और पाकिस्तान से मांग की कि वह लखवी को जमानत पर रिहा करने के अपने कदम को तुरंत वापस ले. उन्होंने कहा ‘‘पाकिस्तान ने अपने यहां आतंकवादियों द्वारा मासूम बच्चों की निर्मम हत्या किए जाने के बाद आतंकियों के खिलाफ बिना किसी भेदभाव के कार्रवाई करने का प्रण किया था लेकिन लखवी को जमानत दे कर उसने अपने इस प्रण का ही मजाक उड़ाया है.’’ विदेश मंत्री ने कहा ‘‘हम पाकिस्तान के इस तर्क को स्वीकार नहीं करते हैं कि उसके पास लश्कर ए तैयबा के ऑपरेशन कमांडर और संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित लखवी के खिलाफ सबूत नहीं हैं. हम बिना किसी शक के कह सकते हैं कि मुंबई हमले की साजिश पाकिस्तान में रची गई थी. उनकी जांच एजेंसियों के पास उसके खिलाफ सबूत जुटाने के लिए छह साल का समय था. सबूत एकत्र कर पेश करने की जिम्मेदारी उनकी थी.’’ सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान में मासूम बच्चों के बेरहमी से हुए कत्लेआम के उनके दर्द को हमने महसूस किया. लेकिन पाकिस्तान ने लखवी को जमानत दे कर हर तरह के आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की अपनी प्रतिबद्धता के बारे में संशय पैदा कर दिया है.

 

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के इस कृत्य से पेशावर में मासूम बच्चों की हत्या करने वालों सहित सभी आतंकवादियों को शह मिलेगी और पाकिस्तान का यह प्रण गलत साबित होता है कि वह अब से आतंकवादियों तथा आतंकी संगठनों के खिलाफ बिना शर्त और भेदभाव के कार्रवाई करेगा.

 

विदेश मंत्री ने कहा कि लखवी को जमानत मिलने के बाद भारत ने तत्काल अपना पक्ष पाकिस्तान में संबंधित प्राधिकारियों के समक्ष स्पष्ट रूप से रख दिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm_on_pakistan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017