साध्वी के बचाव में उतरी सरकार, नकवी और रामविलास पासवान ने चला पिछड़ा कार्ड, पीएम ने की माफी की अपील

By: | Last Updated: Friday, 5 December 2014 6:02 AM
pm_on_sadhvi_in_loksabha

नई दिल्ली: साध्वी निरंजन ज्योति के विवादित बयान का मुद्दा पूरी तरह गरमाया हुआ है. साध्वी निरंजन ज्योति के विवाद पर पीएम मोदी ने आज लोकसभा में बयान दिया लेकिन विपक्ष उनके बयान से असंतुष्ट दिखा और विपक्ष ने लोकसभा से वॉकआउट कर दिया.  विपक्ष के जमकर हंगामे के बाद राज्यसभा भी आज दोपहर तक स्थगित कर दी गई है.  

 

अल्पसंख्यक राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस मामले को नया मोड़ देते हुए राज्यसभा में कहा कि वह एक दलित मंत्री हैं. इसलिए उन पर लगातार निशाना साधा जा रहा है. ना केवल मुख्तार अब्बास नकवी बल्कि रामविलास पासवान ने भी साध्वी के दलित होने का मुद्दा उठाया.

 

खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने उन्हें पिछड़ा बताकर मामला रफा दफा करने की कोशिश की. सरकार ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया है कि साध्वी के दलित होने की वजह से इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है. माना जा रहा है कि सरकार ने इस मुद्दे पर विपक्ष के रवैये को देखते हुए नई रणनीति अपनाई है.

 

गाली पर माफी काफी है?

 

साध्वी निरंजन ज्योति के विवाद पर पीएम मोदी ने आज लोकसभा में बयान दिया. लेकिन विपक्ष उनके बयान से असंतुष्ट दिखा. कांग्रस, एसपी और तृणमूल सासंदों ने पीएम के बयान से असंतुष्ट होकर आज लोकसभा से वॉकआउट कर दिया.

 

पीएम ने साध्वी के बयान पर सफाई देते हुए लोकसभा में कहा, ”साध्वी ने बयान पर माफी मांग ली है. वह गांव की रहने वाली हैं और अभी नई मंत्री हैं. आप वरिष्ठ लोग हैं अब उन्हें क्षमा करके उदारता दिखाएं. ” कल राज्यसभा की तरह ही पीएम ने लोकसभा में भी संसद सदस्यों से सदन की कार्यवाही चलने देने की अपील की.

विपक्ष के भारी हंगामें और संसद न चलने देने को लेकर सरकार के कई मंत्री और बीजेपी संसद भी विरोध में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठ गए हैं. बीजेपी नेता मुक्तार अब्बास नकवी ने कहा कि, ” वह इसलिए धरने पर बैठे हैं ताकि विपक्ष को सद्बुद्धि मिल सके और वह संसद की कार्यवाही चलने दे.”

 

मंत्री साध्वी ने माफी मांग ली, उन्हें क्षमा करें और देशहित में संसद को चलने दें: पीएम

 

कल राज्यसभा में भी उन्होंने बयान दिया था लेकिन विपक्ष नहीं माना. आज भी पीएम के बयान से विपक्ष संतुष्ट नहीं दिखा और लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ.

 

केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के खिलाफ दिल्ली के तिलक नगर थाने में शिकायत दर्ज, कैमरे के सामने हाथ जोडकर मांगी माफी

 

इससे पहले आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा में मुंह पर काली पट्टी लगाकर पहुंचे थे. उनके मुताबिक उनका यह विरोध सिस्टम के खिलाफ है.

 

क्या था मामला?

सोमवार को साध्वी ने कल दिल्ली की चुनावी रैली में विरोधियों को गाली दी थी. फिर एबीपी न्यूज पर यह कह दिया कि भारत में रहने वाले सब राम की संतान हैं. सुबह से इस पर राजनीति गर्म थी. संसद में कई दिनों  से सिर्फ इसी विवाद की गूंज रही. आखिरकार साध्वी निरंजन ज्योति ने संसद के दोनों सदनों में आकर खेद जताया दिया औऱ अपने शब्द वापस ले लिए.

 

गाली देने वाले बयान पर केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ने संसद में मांगी माफी 

 

इससे पहले अपने इस विवादित बयान पर एबीपी न्यूज़ से बातचीत में सफाई देते हुए निरंजन ज्योति ने कहा था कि उन्हें अपने बयान पर कोई अफसोस नहीं है. उन्होंने कहा कि ”उन्होंने कोई ऐसी बात नहीं कही है जिसके लिए उन्हें किसी से माफी मांगनी चाहिए और ना ही मैं अपना बयान वापस लूंगी.”

 

संबंधित खबरें-

मोदी सरकार की मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने ABP न्यूज से कहा- भारत में रहने वाले सब राम की संतान

 

साध्वी निरंजन की टिप्पणी पर पीएम मोदी ने कहा- ऐसी टिप्पणियां ‘स्वीकार्य नहीं’

साध्वी को आडवाणी की नसीहत 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm_on_sadhvi_in_loksabha
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017