जी-20 में पीएम ने उठाया काले धन का मुद्दा

By: | Last Updated: Sunday, 16 November 2014 2:21 AM
pm_raises_blackmoney_issue_ing-20

नई दिल्ली:  जी-20 देशों के सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काले धन का मुद्दा उठाया. प्रधानमंत्री ने कहा कि हर देश को टैक्स चोरी को लेकर जानकारी साझा करनी चाहिए. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सिर्फ काला धन ही नहीं चुनौती नहीं सुरक्षा, आतंकवाद, नशा कारोबार, हथियारों की स्मगलिंग भी बड़ी चुनौती है.

विदेशों से काला धन वापस लाने के भारत के प्रयासों के बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर चोरी करने वालों के पनाहगाह देशों समेत आज प्रत्येक देश से संधियों में की गई प्रतिबद्धताओं के अनुसार, कर संबंधी उद्देश्यों के लिए सूचनाएं मुहैया कराने को कहा.

 

काले धन का मुद्दा पुरजोर तरीके से उठाते हुए मोदी ने 20 औद्योगिक एवं प्रमुख उभरती अर्थव्यवस्था वाले देशों से इस चुनौती से निपटने के लिए वैश्विक समन्वय का आह्वान किया.

 

कर संबंधी सूचनाओं के स्वत: आदान प्रदान के नए वैश्विक मानकों पर भारत का समर्थन जताते हुए मोदी ने कहा कि विदेशों में जमा काले धन के बारे में जानकारी हासिल करने और उसे वापस लाने में ये मानक कारगर होंगे.

 

उन्होंने कर नीति एवं कर प्रशासन में परस्पर सहायता और सूचनाओं के आदान प्रदान को सुगम बनाने संबंधी सभी पहलों के लिए भारत का समर्थन जताया.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां स्थित ‘ब्रिस्बेन प्रदर्शनी और सम्मेलन केंद्र’ में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन के दूसरे और आखिरी दिन ‘डिलीवरिंग ग्लोबल इकोनॉमिक रेजिलिएन्स’ विषय पर पूर्ण सत्र के दौरान यह बातें कहीं. मोदी ने यह उम्मीद भी जताई कि ‘बेस इरोज़न एंड प्रॉफिट शेयरिंग’ (बीईपीएस) व्यवस्था विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्थाओं की चिंताओं का पूरा समाधान करेगी.

 

बीईपीएस से आशय बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा कर अदायगी से बचने की रणनीति के उपयोग का संबंधित देशों पर पड़ने वाले प्रभाव से है. आम तौर पर बीईपीएस को ‘ट्रांसफर प्राइसिंग’ के तौर पर जाना जाता है जिसके तहत कंपनियां कर नियमों में खामी का उपयोग कर अपना लाभ कम या कर नहीं लगने वाले देशों में स्थानातंरित करती हैं. इससे उन देशों को नुकसान होता है जो काफी हद तक कंपनी कर पर निर्भर हैं.

 

इस शब्द का उपयोग ओईसीडी की अगुवाई वाले एक प्रोजेक्ट में किया गया. इसमें दुनिया के बड़े देश कंपनी करारोपण से संबद्ध नियमों को फिर से तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि इस समस्या को दूर किया जा सके कि कंपनियांे अपने कर का सही भुगतान नहीं करती हैं.

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि पूंजी और प्रौद्योगिकी की गतिशीलता :मोबिलिटी: ने कर वंचन और लाभ स्थानांतरण के लिए नए अवसर पैदा किए हैं.

 

मोदी ने विश्व समुदाय को समन्वित फैसले करने की जरूरत पर भी जोर दिया.

 

उन्होंने कहा ‘‘बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच नीतिगत समन्वय की जरूरत बनी हुई है.’’

 

प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘न सिर्फ काले धन की चुनौती से निपटने के लिए, बल्कि आतंकवाद, नशीली दवाओं की तस्करी और हथियारों की तस्करी जैसे सुरक्षा मुद्दों से निपटने के लिए भी करीबी समन्वय महत्वपूर्ण है.’’ विश्व में वित्तीय व्यवस्था के लचीलेपन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि यह साइबर सुरक्षा पर भी निर्भर होगी.

 

मोदी ने जी-20 में स्वच्छ उर्जा अनुसंधान एवं विकास के लिए एक ‘ग्लोबल वचरुअल सेंटर’ स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा.

 

‘ग्रुप ऑफ ट्वेन्टी’ को जी-20 के तौर पर भी जाना जाता है. यह 20 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सरकारों और सेंट्रल बैंक के गवर्नरों का एक अंतरराष्ट्रीय मंच है.

 

इसके सदस्य अर्जेन्टीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सउदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ हैं. यूरोपीय संघ का प्रतिनिधित्व यूरोपीय आयोग द्वारा और यूरोपियन सेंट्रल बैंक द्वारा किया जाता है.

 

सामूहिक रूप से जी-20 अर्थव्यवस्थाओं का वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में करीब 85 प्रतिशत योगदान है. वैश्विक व्यापार में समूह की हिस्सेदारी 80 प्रतिशत है. साथ ही दुनिया की दो तिहाई आबादी इन्हीं देशों में रहती है.

 

क्या है पीएम का कार्यक्रम

पीएम नरेंद्र मोदी ब्रिस्बेन के रोमा स्ट्रीट पार्कलैंड में भारतीय समय के मुताबिक दोपहर 12 बजे महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण करेंगे. पीएम मोदी भारतीय समय के मुताबिक दोपहर 12 बजर 50 मिनट से सवा एक बजे तक क्वींसलैंड के प्रीमियर से मुलाकात करेंगे.

 

मुलाकात के बाद क्वींसलैंड के प्रीमियर और मेयर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सम्मान में आज दोपहर का भोज देंगे.

 

जर्मनी के चांसलर एंजेला मार्केल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद कहा- भारत के साथ जर्मनी के मजबूत हुए, मोदी की जर्मनी यात्रा का इंतजार है.

 

17 नवंबर को सिडनी के ऑलफोंस अरीना में प्रधानमंत्री मोदी का भाषण होगा. मोदी के कार्यक्रम को लेकर सिडनी में तैयारी जोरों पर.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pm_raises_blackmoney_issue_ing-20
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???? ?????? G-20 summit germeny PM Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017