पुलिस की मदद से FTII के डायरेक्टर छुड़ाए गए, लाठी से खदेड़े गए छात्र

By: | Last Updated: Tuesday, 18 August 2015 3:26 AM

पुणे: एफटीआईआई परिसर में उग्र हड़ताली छात्रों को काबू करने के लिए बीती रात वहां पुलिस ने प्रवेश किया. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर छात्रों की भीड़ को तितर-बितर किया. यहां छात्र अधूरे डिप्लोमा परियोजना के आकलन को अनुचित बताते हुए निदेशक प्रशांत पाथराबे का घेराव कर रहे थे.

 

परिसर में करीब 40 छात्रों ने कल शाम पाथराबे का घेराव किया जिससे वहां तनाव फैल गया और छात्र वहां से तब तक नहीं हटे जब तक कि उन्होंने 2008 बैच की अधूरी फिल्म परियोजना के जारी आकलन पर उचित  जवाब नहीं दिया.

 

इससे पहले आज शाम पाथराबे ने कहा था कि छात्रों ने उनका घेराव किया लेकिन वह सुरक्षित हैं. इधर छात्रों के एक प्रतिनिधि ने कहा कि उन्होंने निदेशक को उनके कार्यालय में रोक लिया था  क्योंकि उन्होंने फिल्म परियोजनाओं के अनुचित आकलन को जारी रखने का निर्णय किया था.

 

एफटीआईआई छात्र संगठन ने आरोप लगाया है कि आकलन राजनीतिक रूप से प्रेरित है और 2008 बैच के 50 छात्रों से अधूरी परियोजनाओं के कारण ज्यादा समय तक  परिसर में रहने से छुटकारा पाना है.

 

पार्थराबे ने कहा कि आकलन को लेकर वह मंत्रालय के आदेशों का पालन कर रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Police use physical force to dispel protesting FTII students
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Director FTII Police pune students
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017