शो कॉज नोटिस के जवाब में प्रशांत ने पूछा, जिसने आरोप लगाया वही जज कैसे?

By: | Last Updated: Monday, 20 April 2015 7:48 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की कलह खत्म नही हो रही है. टीम केजरीवाल ने पीएसी और राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाले गए प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव को कारण बताओ नोटिस दिया है, जिसका जवाब प्रशांत भूषण ने दिया, लेकिन इससे नया विवाद खड़ा हो गया है.

 

भूषण ने ‘आप’ के नेता और पूर्व पत्रकार आशीष खेतान पर गंभीर आरोप लगाए हैं. भूषण ने कहा है कि खोजी पत्रिका तहलका के पत्रकार रहते आशीष खेतान ने 2011 में एस्सार को फायदा पहुँचाने वाली पेड न्यूज़ लिखी. इस खबर के बाद तहलका को करोड़ों का चन्दा मिला था.

 

प्रशांत भूषण ने कहा है कि खेतान ने तहलका पत्रकार रहते हुए 31 दिसंबर 2011 में तहलका में 2जी घोटाले की आरोपी कंपनी एस्सार को बचाने के लिए लेख लिखा था. लेख उस समय के कानून मंत्री सलमान खुर्शीद की सलाह पर लिखा था. खुर्शीद यूपीए के 15 उन मंत्रियों में शामिल थे जिनके खिलाफ आप नेताओं ने आरोप लगाए थे और जांच के लिए एसआईटी बनाने के लिए जंतर मंतर पर धरना दिया था.

 

भूषण का आरोप है कि खेतान ने पेड न्यूज लिखी जिसके एवज में एस्सार कंपनी ने तहलका मैग्जीन को गोवा फेस्ट के लिए 3 करोड़ का चंदा दिया था.

 

भूषण ने आप से पूछा है कि खेतान पर लगे आरोपों की जांच आप के आंतरिक लोकपाल से क्यों नहीं कराई गई और क्यों आंतरिक लोकपाल एडमिरल रामदास को ही हटा दिया. एस्सार कंपनी सीबीआई जांच के घेरे में है. एस्सार पर लूप नाम की बेनामी कंपनी बनाकर 2जी लाइसेंस हथियाने का आरोप है.

 

आशीष खेतान और भूषण का झगड़ा पुराना है. खेतान ने भूषण परिवार के खिलाफ ट्विटर पर लिखा था, उसके बाद दोनों के बीच रिश्ते बिगड़ गए थे.

 

शो कॉज नोटिस का जवाब देते हुए प्रशांत भूषण ने अनुशासन समिति के गठन पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि नहीं जानते कि किसने, कब और कैसे ये समिति बनाई. भूषण ने पार्टी की नई अनुशासन समिति को अवैध बताया है.

 

योगेंद्र और प्रशांत ने 14 अप्रैल को केजरीवाल के खिलाफ स्वराज संवाद की बैठक बुलाई थी जिसके खिलाफ दिनेश वाघेला, पंकज गुप्ता और आशीष खेतान वाली अनुशासन समिति ने उन्हें नोटिस भेजा था.

 

प्रशांत भूषण ने नोटिस के जवाब में लिखा कि आशीष खेतान ने मुझ पर कई आरोप लगाये थे और बाद में खेद जताया था, और अब उसी मामले में वो जज भी बनना चाहते हैं.

 

आप के प्रवक्ता आशुतोष ने कहा है कि भूषण अनुशासन समिति को जवाब देने की बजाय मीडिया में बोल रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Prashant Bhushan replies to AAP notice
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017