भूषण ने भूमि विधेयक को लेकर पीएम पर साधा निशाना

By: | Last Updated: Sunday, 10 May 2015 4:58 PM

नई दिल्ली: जाने माने वकील प्रशांत भूषण ने नए भूमि अधिग्रहण विधेयक को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि देश के आर्थिक तंत्र को कारपोरेट जगत के हितों की सेवा करने के लिए चलाया जा रहा है.

 

छात्र संगठन आईसा के 8वें राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए भूषण ने कहा, ‘‘आर्थिक तंत्र को उस दिशा में चलाया जा रहा है जहां मुनाफे के रास्ते को निजी कंपनियों, विदेशी कंपनियों के लिए खोला जाता है. चाहे वह भूमि अधिग्रहण विधेयक हो अथवा पर्यावरण नियमन.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘पूर्व की कांग्रेस सरकार ने 2013 में भूमि अधिग्रहण विधेयक में एक महत्वपूर्ण बदलाव किया था कि भूमि अधिग्रहण के लिए 70-80 लोगों की सहमति की जरूरत होगी. परंतु मोदी सरकार के सत्तासीन होने के ठीक बाद अध्यादेश के जरिए उन्होंने कानून में बदलाव कर दिया और कहा कि सार्वजनिक-निजी भागीदारी और बुनियादी ढांचे की परियोजनाओं के लिए किसी अनुमति और सामाजिक प्रभाव संबंधी आकलन की जरूरत नहीं होगी.’’

 

हाल ही आम आदमी पार्टी से निकाले गए भूषण ने दिल्ली विश्वविद्यालय के विक्लांग प्रोफेसर जीएन साईबाबा को जेल के मामले को लेकर न्यायिक व्यवस्था की भी आलोचना की.

 

उन्होंने कहा, ‘‘साईबाबा को जमानत देने से दो बार इंकार किया गया, लेकिन न्यायिक व्यवस्था ने दोषी ठहराये गए सलमान खान, गुजरात दंगों के मामलों में दोषी करार दी गई माया कोडनानी और (तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री) जयललिता को जमानत दे दी.’’

 

इस मौके पर मशहूर महिला अधिकार कार्यकर्ता कविता कृष्णन ने केंद्र सरकार की ओर से किए गए सुधारों और बदलावों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Prashant Bhushan_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017