अरुणांचल पर राष्ट्रपति शासन कि सियासत गरमाई, कांग्रेस-केजरीवाल का हमला

By: | Last Updated: Monday, 25 January 2016 11:21 AM
President Rule in Arunachal Pradesh

नई दिल्ली : केंद्रीय कैबिनेट ने की अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस बारे में फैसला लिया गया है. इस फैसले को लेकर राजनीति गरमा गई है. विपक्ष कांग्रेस के साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सरकार पर हमला बोला है.

कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले को संघीय ढांचे के खिलाफ बताया. प्रवक्ता ने कहा कि जब अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है तो अभी ये फैसला क्यों? दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अरुणांचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने का किया विरोध. केजरीवाल ने कहा कि ये फैसला गणतंत्र दिवस से पहले संविधान की हत्या करने जैसा है.

राष्ट्रपति शासन की सिफारिश को कांग्रेस ने मोदी सरकार की राजनीतिक असहनशीलता करार देते हुए कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है. कांग्रेस ने यह भी कहा है कि चीन की सीमा से लगे राज्यों में अस्थिरता ठीक नहीं.

क्या है मामला :

अरुणाचल प्रदेश में 16 दिसंबर से राजनीतिक उठापटक शुरू हो गई थी, कांग्रेस के 47 में से 21 बागी विधायकों ने बीजेपी से हाथ मिला लिया था. मुख्यमंत्री नबाम तुकी की जगह कैलिखो पॉल को नेता चुन लिया था.

क्या लगा आरोप :

मुख्यमंत्री नाबाम तुकी ने आरोप लगाया था कि राज्यपाल राजखोवा ‘बीजेपी के एजेंट’ के रूप में काम कर रहे हैं. साथ ही कांग्रेस के बाग़ी विधायकों के साथ उनकी सरकार गिराने की साज़िश में लगे रहे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: President Rule in Arunachal Pradesh
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017