पीएम मोदी ने दी विजयादशमी की शुभकामनाएं, बोले- त्यौहार हमें एकजुटता की सीख देते हैं

पीएम मोदी ने दी विजयादशमी की शुभकामनाएं, बोले- त्यौहार हमें एकजुटता की सीख देते हैं

मोदी ने दशहरा कार्यक्रम में कहा कि हमारे देश में त्यौहार एक प्रकार से सामाजिक शिक्षा का माध्‍यम हैं. ये हमें समाज के मूल्यों से अवगत कराते हैं और हमें एक समुदाय की तरह साथ रहना सिखाते हैं. त्यौहार सीखने का माध्यम होते हैं और हमें एकजुटता की सीख देते हैं.

By: | Updated: 30 Sep 2017 10:19 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दशहरा के मौके पर लालकिला मैदान में दशहरा कार्यक्रम में देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. पीएम ने लोगों से 2022 तक राष्ट्र निर्माण में योगदान का संकल्प लेने का आह्वान किया. इस मौके पर प्रधानमंत्री ने रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतलों का दहन भी देखा. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘हम सभी लोगों को प्रगति और समाज के संपूर्ण विकास की दिशा में काम करना चाहिए.’


 



मोदी ने दशहरा कार्यक्रम में कहा, आज विजयादशमी के पर्व पर हम भी संकल्‍प करें कि 2022, जब भारत आजादी के 75 वर्ष मनाएगा, हम भी कोई संकल्‍प करें, हम भी कोई सिद्धि के लिए रास्‍ता चुनें और 2022 तक एक नागरिक के नाते देश को कुछ न कुछ सकारात्‍मक योगदान दें. हमारे देश में त्यौहार एक प्रकार से सामाजिक शिक्षा का माध्‍यम हैं. ये हमें समाज के मूल्यों से अवगत कराते हैं और हमें एक समुदाय की तरह साथ रहना सिखाते हैं. त्यौहार सीखने का माध्यम होते हैं और हमें एकजुटता की सीख देते हैं. हजारों वर्ष गुजर गए, लेकिन भगवान राम और कृष्ण की गाथाएं हमारे समाज में जागरूकता फैलाती हैं.

पीएम मोदी ने कहा, ‘हमारे त्योहार हमारी सामूहिक ताकत, सामाजिक सांस्कृतिक मूल्यों और समृद्ध सांस्कृतिक परंपराओं का प्रतिबिंब हैं. इसके साथ ही ये खेत-खलिहान, नदी-पर्वतों और प्रकृति आदि से जुड़े हुए हैं.’ इस मौके पर पीएम मोदी ने सभी देशवासियों से राष्ट्र-निर्माण की प्रक्रिया में योगदान की प्रतिज्ञा लेने की अपील की.

वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'विजयादशमी के पावन पर्व पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं.’ 

 




लालकिला मैदान में देश के बड़े दिग्गज नेता थे मौजूद
दिल्ली में दशहरे के मौके पर आज रावण दहन कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई गणमान्य लोग शामिल हुए. उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, विजय गोयल और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी मौजूद थे.


यहां की रामलीला में राम, लक्ष्मण और हनुमान की भूमिका निभाने वाले कलाकारों ने राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को तिलक लगाया. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह यहां लाल किले के निकट लव-कुश राम लीला समिति की ओर से आयोजित दशहरा कार्यक्रम में शामिल हुए, जबकि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी नव श्री धार्मिक लीला समिति के दशहरा कार्यक्रम में पहुंचे.


इस कार्यक्रम में बुराई पर अच्छाई के प्रतीक के रूप में रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले एक के बाद एक जलाए गए. श्री धार्मिक लीला समिति की ओर लाल किले के सामने रावण दहन का कार्यक्रम आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम का आयोजन यहां 1924 से लगातार किया जा रहा है.


पीएम मोदी के पहुंचने से कुछ घंटे पहले गिर गया था रावण का पुतला
लाल किला मैदान पर रामलीला के आयोजन के सिलसिले में लगाया गया रावण का पुतला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पहुंचने से कुछ घंटे पहले तेज हवा से गिर गया था. कार्यक्रम आयोजक श्री धार्मिक लीला कमेटी के प्रेस सचिव रवि जैन ने बताया कि 80 से 90 फुट ऊंचा पुतला तेज हवा के कारण गिर गया था. इस घटना से अधिकारी सकते में आ गए क्योंकि वे लोग शाम के वक्त प्रधानमंत्री की अगवानी करने की तैयारी में जुटे थे. जैन ने इसे एक छोटी सी घटना बताया और कहा कि पुतला फिर से खड़ा कर दिया गया. जैन ने बताया कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ है.


दिल्ली के लालकिला मैदान से दशहरा कार्यक्रम की खास तस्वीरें

रावण दहन कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी ने भगवान राम और लक्ष्मण की आरती की, देखें तस्वीरें

2022 तक हम कुछ सकारात्मक करें, कुछ कर गुजरने का संकल्प लें: पीएम मोदी

तस्वीरों में देखें, देशभर में कैसे मनाया गया विजयादशमी का पर्व

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मेले में हुई चुंबन प्रतियोगिता, सबसे देर तक किस करने वाले तीन जोड़े बने विजेता