Prime Minister Village Female Bus Driver

Prime Minister Village Female Bus Driver

By: | Updated: 11 Apr 2015 10:31 AM
नई दिल्ली: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब से अपने संसदीय क्षेत्र में जयापुर गांव को "सांसद आदर्श गांव योजना" के तहत गोद लिया है तब से उस गांव की तस्वीर ही बदलने लगी है . जयापुर गांव में हर सेक्टर के लोग कुछ नया और अनोखा करते हुए सभी का ध्यान इस गांव की तरफ आकर्षित कर रहे है . इस समय जयापुर गांव की दो बेटियां बस का चालक बनकर सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रही है . गांव वालों की सेवा करने के मकशद से युवतियों ने सीखा बस चलाना .

 

जहां आज महिलाओं पर समाज में प्रत्येक क्षेत्र में अत्याचार की खबरें आम बात है वहीं वाराणसी के जयापुर गांव में पीएम नरेन्द्र मोदी के द्वारा दिया गया महिला सशक्तिकरण का नारा चरित्तार्थ हो रहा है . जहां आज महिलायें घरो से निकलने में डरती हैं, परिवार की तमाम बंदिशे होती हैं, वहीं जयापुर् गांव की युवतियों ने बस चलाकर समाज और गांव की सेवा करने की ठानी और कर भी रही हैं. जयापुर गांव की रहने वाली ज्योति मिश्रा बीए सेंकेंड इयर की पढ़ाई कर रही किसान की बेटी ने समाज में कुछ नया करने का मन बनाया और उसके इरादों को बल मिला अपने सांसद अपने पीएम नरेंद्र मोदी से . गांव की पगडण्डियों पर क़दम दर क़दम बढ़ने वाली ज्योति ने पुरे गांव की सेवा करने का प्रण लिया और बन बैठी 18 सीटों वाली बस की चालक . ज्योति के गांव जयापुर में बस आयी और इस बस को चलाने के लिए महिला चालक की तलाश की जा रही थी, यह खबर सुनते ही मानों ज्योति को मन की मुराद मिल गयी और कोमल हाथों ने पकड़ ली गांव की सेवा करने के लिए बस की स्टेयरिंग .

 

वाराणसी के गांव जयापुर की ज्योति गांव की सेवा करके समाज में एक प्रकाश बिखेरना चाहती है . ज्योति ने बात करते हुए कहा कि किसी भी चुनौती का डट कर सामना करेंगे . ज्योति मिश्रा ने अपने गांव में बस भेजने और महिलाओं के उत्साह वर्धन के लिए अपने प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद दिया और आभार व्यक्त किया .

 

मोदी जब अपने गांव आये थे तो कहा था कि लड़कियों को आत्मनिर्भर होना चाहिए. उनको किसी से मदद लेने की आवश्यकता नहीं खुद पर निर्भर होना चाहिए है . जयापुर बस स्टैंड से राजातालाब जीटी रोड तक सेवा देने के लिए यह बस गुजरात के सांसद पाटिल ने दिया है . एक बस आ चुकी है और दूसरी आने वाली है . बस के चालक के तौर पर दो युवतियों को बस चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

 

कुल 18 सवारी वाले इस बस में बतौर चालक और कंडक्टर गांव की लड़कियों को देखकर बस में बैठने वाली महिला सवारी ज्योति की सराहना भी कर रही हैं. गांव के लोग बेटी को बस चलाता देख बहुत खुश हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सीबीआई ने नीरव मोदी का अलीबाग स्थित फार्महाउस किया सील