सभी परिवारों को बैंक सेवाएं देने के लिए वित्तीय 'समावेशी मिशन'

By: | Last Updated: Thursday, 10 July 2014 9:33 AM

नई दिल्ली: सरकार ने देश में सभी परिवारों को बैंक सेवाओं मुहैया कराने के लिए इस साल स्वतंत्रता दिवस से वित्तीय समावेशी मिशन शुरू करने की घोषणा की है.

 

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने आज लोकसभा में 2014-15 का बजट पेश करते हुए कहा कि इस कदम से विशेष रूप से महिलाओं, छोटे व सीमांत किसानों और श्रमिकों सहित समाज के कमजोर तबके के सशक्तीकरण पर जोर दिया जाएगा. सरकार ने प्रत्येक परिवार से दो बैंक खाते खोलने का प्रस्ताव किया है.

 

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक छोटे बैंकों व अन्य बैंकों को लाइसेंस देने के लिए एक कार्यक्रम तैयार करेगा. वित्त मंत्री ने कहा कि ऐसे बैंकों को छोटे व्यापारियों, असंगठित क्षेत्र, कम आय वाले परिवारों, किसानों व प्रवासी श्रमिकों आदि की जरूरत को पूरा करने को रिण देने में सक्षम बनाया जाएगा.

 

जेटली ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की बढ़ती गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) पर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि चंडीगढ़, बेंगलूर, एर्णाकुलम, देहरादून, सिलीसुड़ी और हैदराबाद में छह नए रिण वसूली न्यायाधिकरण स्थापित किए जाएंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: provide_each_faimly_bank_service
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017