राजस्थान के एडिशनल डीजीपी ने अपनी चिट्ठी में लगाए चौंकाने वाले आरोप

By: | Last Updated: Wednesday, 20 August 2014 8:08 AM
PUCL counters the claims made by Rajasthan ADG UR Sahu in his sensational latter

जयपुर: राजस्थान के एडिशनल डीजीपी (खुफिया विभाग) की एक चीट्ठी ने बवाल खड़ा कर दिया है. एडिशनल डीजीपी ने यह चिट्ठी जयपुर के नागरिक और पुलिस अधिकार विभाग को लिखी है. दरअसल डीजीपी ने चिट्ठी में जो आरोप लगाए हैं वो चौंकाने वाले हैं.

 

एडिशनल डीजीपी ने लिखा है कि मुस्लिम उधोगपतियों का एक समूह जयपुर में हिंदू आबादी वाले इलाकों में मस्जिद निर्माण को बढ़ावा दे रहा है. इसके लिए यह समूह जमकर पैसे खर्च कर रहा है और गरीबों को लुभाकर उनकी ज़मीन खरीद उसपर मस्जिद बनवा रहा है.

 

मानवाधिकार समूह ‘पब्लिक युनियन फॉर सिविल लिबर्टीज’ (पीयूसीएल) ने इस चिट्ठी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. पीयूसीएल ने पुलिस के दावों पर सवाल खड़े करते हुए एक फैक्ट-फांइडिंग रिपोर्ट जारी की है.

 

जयपुर के पुलिस कमिश्नर और जिला कलेक्टर को 15 जुलाई को लिखी गई इस चिट्ठी में युआर साहू, एडीजी (इंटेलिजेंस) ने चेतावनी भरे लहजे में बताया है कि जयपुर में रहने वाली गरीब हिंदूओं की वो आबादी जो मुस्लिम आबादी वाले इलाके के करीब रहती है को लालच देकर उनकी जमीनें खरीदी जा रही है. इनका इस्तेमाल धार्मिक स्थलों (मस्जिद) के निर्माण में किया जा रहा है.

 

साहू ने अपनी चिट्ठी में जमाते-ए-इस्लामी-हिंद के डॉक्टर इकबाल का नाम लिखा है. इसके अलावा इसमें हबीब गार्नेट, सिराज तकत, हाजी रफत, नईम कुरैशी, पप्पू कुरैशी, गफ्फार भाई टेंट वाला जैसे मुख्य उधोगपतियों का भी नाम शामिल है.

 

पीयूसीएल ने अपनी फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट में यह दावा किया है कि जमीन की खरीद आम तौर पर होने वाली जमीन-जयदाद की खरीद की तरह नजर आती है. यानि पीयूसीएल की माने तो एडीजी युआर साहू द्वार लगाए जा रहे आरोप ग़लत हैं.

 

पीयूसीएल को इस खुफिया रिपोर्ट के पीछे साजिश और निहित स्वार्थों की बू आ रही है और उसका मानना है कि ये रिपोर्ट दरअसल सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने के लिए पेश की जा रही हैं. पीयूसीएल ने इसकी जांच की मांग की है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PUCL counters the claims made by Rajasthan ADG UR Sahu in his sensational latter
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017