Inside Story: डेविड हेडली से पूछे गए एक-एक सवाल और उसके जवाब...

Questions asked to Headley

मुंबई : लश्कर के इशारे पर मुंबई में हुए 26/11 के आतंकी हमले में शामिल डेविड हेडली हर रोज नए खुलासे कर रहा है. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अमेरिका की अज्ञात जेल से उसकी ऑनलाइन पेशी मुंबई में हो रही है. कैमरे के पीछे हेडली पाकिस्तान के राज खोल रहा है. इन सब के बीच सरकारी वकील उज्जवल निकम के सटीक सवालों के सामने हेडली सच छुपाने में सफल भी नहीं हो पा रहा है. हेडली से हुई पूछताछ के कुछ अंश सवाल-जवाब के रूप में ये रहें ….

उज्जवल निकम : तहव्वुर राणा ने आपसे क्या सवाल पूछा था ?
डेविड हेडली : मैंने राणा को बताया था की मैं बोम्बे वीडियो बनाने जा रहा हूँ.

उज्जवल निकम : अपने कितनी ट्रेनिंग की है एल ई टी में की है और अपने कब ज्वाइन किया था उसे ?
डेविड हेडली : मैंने जनवरी या फरवरी 2002 में एल ई टी ज्वाइन किया इस दौरान 5 या 6 कोर्सेस किये और अगस्त 2004 तक था.

उज्जवल निकम : जब एलईटी की मीटिंग चल रही थी तब हाफिज और लखवी के आलावा कितने लोग मौजूद थे ?
डेविड हेडली : 10 से 125 लोग इस लेक्चर में मौजूद थे.

उज्जवल निकम : क्या अपने कभी लश्कर के लोगों से मीटिंग के दौरान कोई बातचीत की है ?
डेविड हेडली : हाँ कई लोगों से लखवी और हाफिज सईद से.
उज्जवल निकम : क्या आपने LET लीडर के साथ बातचीत की थी ?
डेविड हेडली. हेडली : जी मैंने हाफिज सईद और जकीउर्रहमं से मुलाकात की थी.

उज्जवल निकम : LET यूएस सरकार द्वारा बैन है
डेविड हेडली. हेडली : हाँ हमने लखवी और हाफिज के साथ डिस्कस किया था हम यूएस सरकार को कोर्ट में ले जा सकते हैं जो हमारे ऊपर विदेशों में और देश में आतंक का आरोप लगाया गया था.

उज्जवल निकम : हाफिज सईद का क्या रिएक्शन था ?
डेविड हेडली. हेडली : उसने ज्यादा कुछ सोचा नहीं कहा नहीं. लेकिन लखवी साहेब ने कहा वो इस काम में ज्यादा रूचि नहीं थी. हाफिज सईद सोच रहे थे ये अच्छा आईडिया है लेकिन लखवी का सोचना था ये कोर्ट के एक लंबी लड़ाई है और इसके लिए उन्हें इंटेलिजेंस एजेंसीज आई एस आई से बात करनी होगी.

उज्जवल निकम : कल अपने कहा था की मिस्टर अली जो की आईएसआई के हैं उनके साथ नंदी कोटि अफगान बोर्ड पर मेजर इक़बाल के साथ मुलाकात की थी ?
डेविड हेडली. हेडली :- हाँ

उज्जवल निकम : आपका रेफरेंस मेजर इक़बाल को किसने दिया था ?
डेविड हेडली : मेजर अली ने दिया था.

उज्जवल निकम : अपने कहा था आप पहले अरेस्ट हुए थे आपको किसने अरेस्ट किया था ?
डेविड हेडली : खासदार फ़ोर्स ने अरेस्ट किया था ज्यादा मैं नहीं जानता.

उज्जवल निकम : मेजर इक़बाल ने आपको कैसे संपर्क किया ?
डेविड हेडली : फोन से.

उज्जवल निकम : मेजर इक़बाल को नंबर किसने दिया ?
डेविड हेडली : अली ने मैंने बताया.

उज्जवल निकम : अली ने आपको इक़बाल के पास रिफर क्यों किया ?
डेविड हेडली : उसको लगा मैं इंडिया में सही काम कर सकता हूँ.

उज्जवल निकम : मेजर इक़बाल को कहाँ और कब मिले ?
डेविड हेडली : 2006 में लाहौर में मिला था.

उज्जवल निकम : मेजर इक़बाल से किस जगह मुलाकात हुई थी ?
डेविड हेडली : लाहौर के किसी घर में.

उज्जवल निकम : जब आपकी मुलाकात हुई मेजर इकबाल के साथ तब कौन कौन आपके साथ थे ?
डेविड हेडली : पहली मुलाकात में कुछ लोग मौजूद थे. उसमे एक ने कहा मैं कर्नल हु पर उसने आर्मी की वर्दी नहीं पहनी थी. मैंने किसी की आईडी चेक नहीं की.

उज्जवल निकम : मेजर इकबाल ने आपकी कोई ट्रेनिंग की थी?
डेविड हेडली : जी उसने की थी.

उज्जवल निकम : कल आपने अब्दुल रहमान पाशा के बारे में कहा था पहली बार कब और कहा मिले ?
डेविड हेडली : 2003 की शुरुआत में , लाहौर की एक मस्जिद में.

उज्जवल निकम : अब्दुल रहमान पाशा की फोटो पहचान सकते है ?
डेविड हेडली. जी पहचान सकता हुं.

निकम ने कहा …..
डेविड को फोटो दिखाओ, मैं भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फोटो दिखा रहा हुं. क्या यही अब्दुल रहमान पाशा है ?

डेविड हेडली : हेडली ने कहा हा यही है.

उज्जवल निकम : अब्दुल रहमान पाशा पाकिस्तान आर्मी में क्या काम करता था ?
डेविड हेडली : वह रिटायर्ड ऑफिसर था. और मेजर था 6th बलून ररेजिमेंट का.

उज्जवल निकम : क्या अल कायदा टेररिस्ट संस्था के बारे में जानते हो ?
डेविड हेडली. जी मैं जानता हुं. यह टेररिस्ट संस्था है जिसे अमेरिका और पाकिस्तान ने बैन लगाया है.

उज्जवल निकम : क्या सम्बन्ध है अल कायदा और अब्दुल पाशा के बीच में ?
डेविड हेडली : उसने मुझे कहा लश्कर ए तैयबा छोड़कर अल कायदा से जुड़ा है. रिटायरमेंट के बाद LET से जुड़ा इसके बाद अल कायदा से जुड़ा. जब मैं मिला तब वह रिटायर्ड था.

उज्जवल निकम : आपको किसने कहा मेजर अब्दुल पाशा ने अल कायदा ज्वाइन किया ?
डेविड हेडली : मेजर पाशा में खुद मुझसे कहा था.

उज्जवल निकम : जब पाकिस्तान में थे तब अकेले थे या फॅमिली के साथ थे ?
डेविड हेडली : मैं अपनी पत्नी साजिया के साथ रहता था.

उज्जवल निकम : फैजा कहा थी उस वक़्त ?
लाहौर के रेस कोर्स पुलिस स्टेशन में आपके खिलाफ केस दर्ज की थी ? और कौन सा साल था ?
डेविड हेडली : जी ….दिसंबर 2007 में शिकायत दर्ज कराइ थी और वो उस वक़्त लाहौर में थी.

उज्जवल निकम : फ़ैजा की शिकायत पर आपको पाकिस्तान पुलिस ने अरेस्ट किया था ?
डेविड हेडली : जी हा एक रात के लिए….दूसरे दिन बेल पर रिहा हो गया.

उज्जवल निकम : उस वक़्त आपकी किसने मदद की थी ?
डेविड हेडली : कोई मिलिट्री का आदमी था.

उज्जवल निकम : क्या शिकायत की थी ?
डेविड हेडली : कुछ numerous कंप्लेन की थी.

उज्जवल निकम : आप आतंकी संगठन से जुड़े है क्या इसकी शिकायत की थी.
डेविड हेडली : जी नहीं गलत बात है. मैं क्लेरीफाय कर दूं. मेरी पत्नी ने पहले पुलिस में शिकायत की और फिर इस्लामाबाद में US एम्बेसी में मेरी शिकायत की मेरी गतिविधियों के लिए.

उज्जवल निकम : फैजा ने अपनी शिकायत में US एम्बेसी को बताया था आपके और LET के करीबी रिस्तो के बारे में ?
डेविड हेडली : जी हा बताया था.

उज्जवल निकम : क्या आरोप लगाया था आप खुलासा करोगे ?
डेविड हेडली : मुझे नहीं पता इस बारे में. पर उसने बताया था की मेरी शिकायत की है.

उज्जवल निकम : कल आपने जखी उर रहमान के बारे में कहा था ? क्या पोजीशन थी उसकी.
डेविड हेडली. वो LET का पाक कब्जे के कश्मीर में ऑपरेशनल कमांडर था.

उज्जवल निक : खुलासा करेंगे ? क्या मतलब ऑपरेशनल कमांडर का ?
डेविड हेडली. वो हेड था वहां का.

उज्जवल निकम : हफ़ीज़ सईद की क्या पोस्ट थी ?
डेविड हेडली : हफ़ीज़ सईद LET का मुखिया था.

उज्जवल निकम : ज़ख़ी उर रहमान को यह पोस्ट किसने दी थी ?
डेविड हेडली : मुझे नहीं पता. लेकिन मैं समझता हु हफ़ीज़ सईद ने.

उज्जवल निकम : LET में किसके निर्देश पर इंडिया में आतंकी हमले किए जाते है ?
डेविड हेडली : मैं इस बारे में नहीं जनता लेकिन मैं मानता हुं की ज़ख़ी उर रहमान LET का मिलिट्री ऑपरेशन हेड है तो उसी के इंस्ट्रक्शन होते थे.

उज्जवल निकम : ज़ख़ी उर रहमान को कब और कहा मिले ?
डेविड हेडली : 2003 में मुजफ्फराबाद LET के हेड क्वार्टर में मिला था.

उज्जवल निकम : क्या आप ज़ख़ी उर रहमान की फ़ोटो पहचान सकते है ?
डेविड हेडली. जी हां.

उज्जवल निकम :(फोटो दिखा कर) देखे क्या यही आदमी है ?
डेविड हेडली : हां यह वही आदमी है.

उज्जवल निकम : क्या आप अब्दुल वाजिद उर्फ़ जर्रार शाह को जानते है ?
डेविड हेडली : जी नहीं जनता.

उज्जवल निकम : आरिफ काशमनी को जानते है ?
डेविड हेडली : मुझे लगता है यह नाम गलत लिए जा रहे है.

उज्जवल निकम : जैश ऐ मोहम्मद संस्था सुना है ?
डेविड हेडली. हां वो पाकिस्तान में कहीं बेस्ड है.

उज्जवल निकम : आपने LET में लंबे समय तक काम किया है. जैश और LET के सम्बन्ध कैसे थे ?
डेविड हेडली : मुझे ज्यादा नॉलेज नहीं है. मैंने पेपर द्वारा सूना है यूनाइटेड जिहाद कौंसिल के अंतर्गत let, जैश ए मोहम्मद , हरकत उल मुजाहिद्दीन , हिज्बुल मुजाहिद्दीन यह 4 मिलकर काम करते है.

उज्जवल निकम : क्या यह सभी आतंकी संगठन है ?
डेविड हेडली. जी हां.

उज्जवल निकम : पाकिस्तान से इंडिया के खिलाफ कितनी आतंकी संगठन काम करती है ?
डेविड हेडली : जितना नाम दिया है उससे ज्यादा नहीं पता.

उज्जवल निकम. मौलाना मसूद अजहर को जानते हो ?
डेविड हेडली : मैं निजी तौर पर नहीं जनता. अक्टूबर 2003 में एक बार मिला हुं. लाहौर से 100 मिल साउथ की तरफ.

उज्जवल निकम : मौलाना मसूद अजहर की जैश ऐ मोहम्मद में क्या पोजीशन है ?
डेविड हेडली : वो जैश का प्रमुख है.

उज्जवल निकम : किस संदर्भ में आप मौलाना मसूद अजहर से मिले थे.
डेविड हेडली : अक्टूबर 2003 में let का प्रोग्राम था. उस समारोह में गेस्ट स्पीकर थे.

उज्जवल निकम : क्या आप बता सकते है, मौलाना ने अपने भाषण में क्या कहा था ?
डेविड हेडली : मौलाना ने अपने बयान में इंडिया के खिलाफ कहा था.

उज्जवल निकम : मसूज अजहर इंडिया के खिलाफ किस तरह की एक्टिविटी चलाते है ?
डेविड हेडली : मुझे नहीं पता. मैंने सिर्फ सुना था पाकिस्तान सरकार ने हाउस अरेस्ट किया था. वो अभी भी हाउस अरेस्ट है इससे ज्यादा नहीं पता.

उज्जवल निकम : कौन से साल में लश्कर ऐ तयबा ने हमले की प्लानिंग की ?
डेविड हेडली : दिसंबर 2007 में.

उज्जवल निकम : मीटिंग कहा हुई थी ?
डेविड हेडली : मुजफ्फराबाद में. साजिद मीर, अब काफा मीटिंग में शामिल थे.

उज्जवल निकम : क्या काम मीटिंग में दिया गया था.
डेविड हेडली : इस मीटिंग में मुम्बई के होटल ताज की रेकी और वीडियो बनाने को कहा था. उसके बाद मुझे फोटो दिखाकर सवाल पूछ रहे थे.

उज्जवल निकम : आपको फोटो किसने दिखाए
डेविड हेडली : साजिद मीर और अबु काफा ने 7 फोटो दिखाए.

उज्जवल निकम : क्या सवाल पूछे. आप बता सकते है ?
डेविड हेडली : होटल के एंट्री और एग्जिट गेट, कॉन्फ्रेंस हाल का लोकेशन.

उज्जवल निकम. कॉन्फ्रेंस हाल के बारे में क्यों पूछा गया ?
डेविड हेडली : वहा इंडियन डिफेन्स साइंटिस्ट के मीटिंग की जानकारी थी.

उज्जवल निकम. लश्कर ए तयब्ब का प्लान क्या था ?
डेविड हेडली : लश्कर ए तयब्ब का प्लान अटैक का था जब यब मीटिंग चल रही हो.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Questions asked to Headley
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017