भव्य राजपथ पर धूमधाम से मना गणतंत्र का उत्सव

By: | Last Updated: Tuesday, 26 January 2016 3:14 PM
R-Day parade at Rajpath

नई दिल्ली: सेना के तीनों अंगों के जवानों की तुर्रेदार पगड़ियां, उजले रौबदार चेहरे, शौर्य से चमकती आंखें और बैंड की धुन पर एक साथ उठते बढ़ते संतुलित कदम आज यहां हलके कोहरे की चादर से लिपटे भव्य राजपथ पर देश के गणतंत्र का 67वां उत्सव मनाने उतरे. इस दौरान देश की सैन्य, सांस्कृतिक और लोक विरासत को भी पूरी सजधज के साथ पेश किया गया.

फ्रांस के राष्ट्रपति इस वर्ष की परेड के मुख्य अतिथि बने और गणतंत्र दिवस परेड के इतिहास में पहली बार फ्रांस के सैनिकों ने पहली विदेशी टुकड़ी के तौर पर राजपथ पर मार्च किया. इस दौरान दुश्मन का कलेजा कंपा देने वाली हथियार प्रणालियों को भी परेड का हिस्सा बनाया गया.

परेड के इंतजाम में इस वर्ष सुरक्षा को खास स्थान दिया गया था और विशिष्ट जन के साथ ही वहां मौजूद हजारों लोगों की भीड़ की सुरक्षा के लिए पूरे इलाके के चप्पे चप्पे पर सुरक्षाकर्मियों की पैनी निगाहें थीं. ऐसी खुफिया सूचना थी कि आतंकी समूह आज शहर में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों को निशाना बना सकते हैं हालांकि परेड देखने आई हजारों लोगों की भीड़ इस डर से एकदम बेपरवाह होकर राष्ट्रीय त्यौहार को मनाने के लिए रंग बिरंगे कपड़ों में आई और परेड का जमकर आनंद लिया.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच में बैठे थे और डेढ़ घंटे की इस परेड के दौरान मोदी को कई बार ओलांद को कुछ बताते समझाते देखा गया.

भारत की प्रक्षेपास्त्र प्रणाली के अलावा टी 90 भीष्म टैंक, इंफैंटरी काम्बेट व्हिकल बीएमपी 2, आकाश शस्त्र प्रणाली ब्रह्मोस प्रक्षेपास्त्र प्रणाली का सचल लांचर, स्मर्च प्रक्षेपास्त्र वाहन आदि इस परेड का मुख्य आकषर्ण थे.

जनरल आफिसर कमांडिंग (दिल्ली) लेफ्टिनेंट जनरल राजन रवीन्द्रन के नेतृत्व में सेना और पुलिस के दस्ते बैंड की मनमोहक धुनों पर सधे कदमों से राजपथ पर सलामी मंच से गुजरे और वहां देश की तीनों सेनाओं के सर्वोच्च कमांडर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनकी सलामी ली.

सैनिकों ने सलामी के तौर पर दाएं पैर को कंधे तक उठाकर पूरी धमक के साथ मातृभूमि पर टिकाते हुए जब एक साथ राष्ट्रपति की तरफ मुड़कर देखा तो जैसे पूरा राष्ट्र उनकी वीरता के आगे नतमस्तक हो गया. इससे पूर्व तीन दिन की राजकीय यात्रा पर भारत आए ओलांद राष्ट्रपति के साथ राजपथ पर पहुंचे जहां प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी अगवानी की और उन्हें तीनों सेनाओं.थल सेना, वायु सेना और नौसेना के प्रमुखों से मिलवाया.

परेड शुरू होने से कुछ क्षण पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और तीनों सेना प्रमुखों ने इंडिया गेट में अमर जवान ज्योति पर जाकर देश की आन, बान, शान के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों को नमन किया.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने परेड शुरू होने से पहले लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी को शांति के समय का देश के सर्वोच्च शौर्य सम्मान अशोक चक्र से (मरणोपरांत) सम्मानित किया. 9वीं पैरा (विशेष बल) के जवान मोहन ने जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पिछले वर्ष 2-3 सितंबर की दरम्यानी रात को आतंकवादियों से लड़ते हुए अदम्य साहस का परिचय दिया था. पुरस्कार उनकी पत्नी भावना गोस्वामी ने ग्रहण किया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जहां खाकी रंग के बंद गले के सूट के साथ केसरिया पगड़ी पहने थे, वहीं राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने काली अचकन के साथ काली टोपी पहनी थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: R-Day parade at Rajpath
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017