सांप्रदायिक हिंसा पर चर्चा की मांग को लेकर वेल में उतरे राहुल गांधी, बोले- सिर्फ एक आदमी की चलती है

By: | Last Updated: Wednesday, 6 August 2014 6:35 AM
Rahul Gandhi accuses govt of not allowing discussion in LS l Says only 1 man’s voice is heard

नई दिल्ली: लोकसभा में सांप्रदायिक हिंसा पर चर्चा के लिए कांग्रेस ने हंगामा किया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी वेल में उतरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर देखकर उन्होंने नारेबाजी की. राहुल ने तानाशाही नहीं चलेगी के नारे लगाए.

 

सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राहुल गांधी के आरोपों को खारिज किया है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि अगर पीएम तानाशाह होते तो उन्हें जनता से बहुमत नहीं मिलता.

 

देश में सांप्रदायिक तनाव पर सदन में चर्चा की मांग को लेकर लोकसभा में अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने वाले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार संसद में चर्चा नहीं कराने दे रही है और केवल एक व्यक्ति की बात सुनी जा रही है.

 

राहुल ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ हमें संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा है. हम चर्चा कराने की मांग कर रहे हैं. सरकार की मानसिकता बन गई है कि चर्चा स्वीकार्य नहीं है. सभी लोग ऐसा महसूस कर रहे हैं, पार्टी ऐसा महसूस कर रही है, हम ऐसा महसूस कर रहे हैं, सभी लोग ऐसा मानते हैं.’’