राहुल गांधी हिंदुस्तानी या ब्रिटिश? यूके की सरकार ने दी सफाई

By: | Last Updated: Tuesday, 17 November 2015 5:21 AM
Rahul Gandhi’s Indian citizenship? Britain govt clarifies

नई दिल्ली: राहुल गांधी के नागरिकता विवाद में बड़ा खुलासा हुआ है. ईटी की रिपोर्ट के मुताबिक यूके सरकार के कंपनीज हाउस ने कहा है कि हो सकता है कि राहुल गांधी को गलती से ब्रिटिश नागरिक बताया गया होगा. ब्रिटेन में कंपनीज हाउस की हैसियत वही है जो भारत में रजिस्टार ऑफ कंपनीज की है.

विवाद ये है कि बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाया है कि राहुल गांधी ने 2003 में खुद को ब्रिटेन का नागरिक बताकर इंग्लैंड के वेल्स में एक कंपनी खोली थी लेकिन इसकी जानकारी भारत सरकार को नहीं दी. सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को चिट्ठी लिखकर राहुल गांधी की नागरिकता रद्द करने की भी मांग की है.

 

सुब्रमण्यम स्वामी के आरोपों पर एबीपी न्यूज ने भी पड़ताल की है. ABP न्यूज की पड़ताल में 4 ब्रिटिश दस्तावेजों में से 2 में राहुल गांधी ब्रिटिश और 2 में भारतीय नागरिक हैं. द्स्तावेजों से साफ हो रहा है कि साल 2003 में राहुल भारतीय नागरिक हैं जबकि साल 2005 में ब्रिटिश नागरिक. कांग्रेस ने भी इसे टाइपिंग की भूल बताया है.

 

क्या हैं सुब्रमण्यम स्वामी के आरोप?

 

आपको बता दें कि इससे राहुल गांधी की नागरिकता पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने सवाल उठाये हैं. उन्होंने कहा कि ब्रिटेन का नागरिक बताकर राहुल गांधी ने कंपनी खोली थी.

 

स्वामी के आरोपों के मुताबिक़ राहुल गांधी 2009 तक ब्रिटिश नागरिक भी रहे हैं और ये बात खुद राहुल भी मानते रहे हैं.

 

स्वामी ने अपने आरोपों को साबित करने के लिए BACKOPS कंपनी के रजिस्ट्रेशन से जुड़े दस्तावेज़ पेश किये जिनके मुताबिक़ राहुल गांधी ने साल 2003 में यूके में BACKOPS नाम से एक कंपनी रजिस्टर करवाई और उसमे अपनी नागरिकता ब्रिटिश बतायी ना की भारतीय.

 

स्वामी के मुताबिक़ राहुल ने ये जानकारी एक नहीं बल्कि कई जगहों पर दी. यहां तक कि एक दस्तवावेज़ में राहुल गांधी की उस कंपनी में 65 फीसदी हिस्सेदारी का भी ज़िक्र है. हालांकि वो कंपनी साल 2009 में बंद भी कर दी गयी थी.

 

सुब्रमण्यम स्वामी ने राहुल गांधी की एक से अधिक नागरिकता की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर भी की है. स्वामी ने ये चिट्ठी 12 नवंबर को लिखी है. स्वामी के मुताबिक़ संविधान के अनुछेद 9 में साफ़ है की भारतीय नागरिक भारत के अलावा और कोई नागरिकता नहीं रख सकता. तो ऐसे में राहुल गांधी ऐसा कैसे कर रहे थे और इस आधार पर उनकी भारतीय नागरिकता रद्द की जानी चाहिए. स्वामी ने इसके साथ ही लोकसभा स्पीकर से भी मांग की है कि राहुल गांधी की सदस्यता भी जानकारी छुपाने के आरोपों के तहत रद्द होनी चाहिए.

 

स्वामी इससे पहले राहुल गांधी की इटली की नागरिकता का मुद्दा भी उठा चुके है. और अब स्वामी ने एक बार फिर इन दस्तावेज़ों के आधार पर राहुल गांधी की एक से ज़्यादा नागरिकता का मुद्दा उठाकर राहुल गांधी को सवालों के घेरे में लाने की कोशिश की है.कांग्रेस ने सुब्रमण्यम स्वामी के आरोपों को झूठा करार दिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Rahul Gandhi’s Indian citizenship? Britain govt clarifies
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017