Rail Budget 2015: रेलवे में राजनीति के दिन लद गए?

By: | Last Updated: Thursday, 26 February 2015 11:24 AM

नई दिल्ली: रेल मंत्री सुरेश प्रभु के इस बजट के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या रेलवे में राजनीति के दिन लद गये ? दरअसल इस रेल बजट में किसी नये रेल का एलान नहीं हुआ है . वह भी तब जबकि दिल्ली चुनाव में बीजेपी की करारी हार हुई है और इसी साल बिहार में चुनाव होने वाले हैं . लेकिन इसके बावजूद सुरेश प्रभु लोक लुभावन बजट से बचे .

 

जैसे ही रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि इस बजट में कोई नई ट्रेन नहीं हैं, संसद में एक तरह से हंगामा मच गया . ऐसा कैसे हो सकता है ? लोग याद करने लगे कि इससे पहले कब ऐसा रेल बजट पेश किया गया था जिसमें किसी नई ट्रेन का एलान नहीं हुआ हो .

 

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ल सवाल उठाते हुए बोले कि 60 साल में शायद ऐसा नहीं हुआ है. बजट में नई ट्रेन के एलान नहीं होने से हर कोई हैरान परेशान है . ज्यादातर लोग उम्मीद कर रहे थे कि दिल्ली में करारी शिकस्त खाने वाली बीजेपी बिहार के लिए कुछ नई ट्रेन का एलान करेगी ताकि इस साल होने वाले वहां के विधानसभा चुनाव में चुनावी रेल का फायदा उठाया जा सके लेकिन सुरेश प्रभु ने पुराने ढर्रे पर चलने से साफ इंकार कर दिये .

 

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि मेरा मानना है कि बजट में नई ट्रेन का एलान नहीं होना चाहिए. लोकलुभावन रेल बजट से बचे हैं सुरेश प्रभु . रेल बजट पर राजनीति की छाप भी नहीं दिखाई पड़ रही है . याद कीजिए, सुरेश प्रभु के पहले के बजट . लालू यादव रेलमंत्री थे तो बिहार के लिए जबरस्त तोहफा होता था. ममता बनर्जी रेल मंत्री थीं तो पश्चिम बंगाल के लिए तोहफा होता था . रेल बजट के बाद जिस राज्य में चुनाव होने वाला होता था, उस राज्य के लिए तो बजट में जरुर ही तोहफा होता था . लेकिन इस बार ऐसा कुछ नहीं .

 

एसपी नेता मुलायम सिंह ने रेल बजट का स्वागत किया है और कहा कि नई ट्रेनें नहीं चलाकर मोदी सरकार ने अच्छा किया है. एसपी के मुलायम सिंह यादव यूं ही बीजेपी के रेल मंत्री की तारीफ नहीं कर रहे हैं . दरअसल रेलवे की खस्ताहाल सेहत से सब परेशान थे .

 

रेलवे की कमाई होती थी एक रुपया तो उसमें से 94 पैसे रेलवे की देखरेख में ही खर्च हो जाते थे . मतलब केवल 6 फीसदी पैसे बचते थे रेल के विकास के लिए . उस पर से रेलवे के प्रोजेक्ट्स की तो और बुरी हालत . पिछले तीस साल में 674 प्रोजेक्ट्स का एलान हुआ लेकिन बने केवल 317 . और वह भी समय से नहीं, जिसकी वजह से लागत बढ़ गया और रेलवे को 1.82 लाख करोड़ का नुकसान हो गया.

 

यह भी पढ़ें

 

Rail Budget LIVE: पहली बार नई ट्रेन का एलान नहीं, यात्री किराये भी नहीं बढ़े

Rail Budget 2015: मोदी सरकार के रेल बजट की खास बड़ी बातें

Rail Budget 2015: जानें- पक्ष-विपक्ष में किसने क्या कहा?

Rail Budget 2015: अब चार महीने पहले रिजर्वेशन टिकट बुक हो सकेगा- सुरेश प्रभु

Rail Budget 2015: रेल बजट 2015-16 के अहम बातें 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Rail Budget
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Rail Budget
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017