देखिए कल का रेल बजट आज

Rail Budget 2016: 11 important things will announce

नई दिल्ली: रेल मंत्री सुरेश प्रभू कल रेल बजट पेश करने जा रहे हैं. आपका चैनल एबीपी न्यूज आपको बताने जा रहा है कि आखिर साल 2016-17 के इस रेल बजट में रेल की सेहत सुधारने से लेकर आपकी सुविधाओं को बढ़ाने के वादे शामिल होंगे लेकिन ना तो नई ट्रेनें मिलेंगी और ना ही किराये में छूट.

rail budgetदेखिए कल का रेल बजट आज
कुछ नया जोड़ना होगा कुछ पुराना तोड़ना होगा. देश के रेल मंत्री सुरेश प्रभू के पिछले रेल बजट के दौरान बोली गई इस कविता का असर आपको इस बार यानी साल 2016-17 के लिए पेश होने वाले रेल बजट पर और ज्यादा साफ दिखाई देगा. लेकिन सवाल ये है कि आपकी उम्मीदों और रेल मंत्रालय के सपनों के बीच की दूरी मिटेगी या नहीं.

कोई नई ट्रेन नहीं
भारत की जीवनरेखा यानी भारतीय रेल में बहुत कुछ जोड़ने जा रहे हैं रेल मंत्री सुरेश प्रभू लेकिन सबसे बड़ी खबर ये है कि रेलवे के मौजूदा टाइमटेबल में कोई नई ट्रेन नहीं जोड़ी जाएगी. यानी लगातार दूसरे साल किसी नई ट्रेन का ऐलान नहीं किया जाएगा. लेकिन त्योहार और छुट्टियों के मौसम में चलने वाली स्पेशल ट्रेनों की सुविधा जारी रहेगी.

सामान्य श्रेणी के यात्रियों की मांग इस बार पूरी हो सकती है क्योंकि अब ट्रेनों में 24 कोच की जगह 26 कोच लगाए जाएंगे. बढ़े हुए कोच सामान्य श्रेणी के होंगे यानी साधारण टिकट से सफर किया जा सकेगा.

किराया नहीं बढ़ेगा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर रेल मंत्री तक नहीं चाहते कि आपकी जेब पर किराये का बोझ बढ़ाया जाए. ऐसे में यात्री किराए में बढ़ोतरी का कोई प्रस्ताव नहीं रखा जाएगा. ये आपके लिए राहत की खबर है.

rail budget 1सीट पर आएगा पिज्जा-बर्गर
रेल मंत्री खाने की गुणवत्ता सुधारने के लिए नई नीति का ऐलान कर सकते हैं जिसके तहत भारतीय रेल की खान पान सेवा यानी आईआरसीटीसी पर ही खाने की गुणवत्ता की जवाबदेही तय कर दी जाएगी. सफर के दौरान आप पैसे देकर अपना मनपसंद खाना ऑनलाइन ऑर्डर कर पाएंगे. इस ई कैटरिंग सुविधा के तहत चायोस, फूडपांडा, केएफसी, डोमिनोज, व्हिम्पीज, हल्दीराम जैसे ब्रांड से करार हो चुका है. फिलहाल 45 स्टेशनों पर ये सुविधा उपलब्ध है जिसे इस रेल बजट में बढ़ाए जाने का ऐलान हो सकता है.

ई-बेड रोल की सुविधा
भारतीय रेल के तीन स्टेशनों पर नया बिस्तर चाहिए तो रेलवे आपको वो भी मुहैया करवाएगी. इस रेल बजट में तीन स्टेशनों पर चल रहे पायलट प्रोजेक्ट के विस्तार का ऐलान हो सकता है. मौजूदा व्यवस्था के तहत यात्री को टिकट बुक करते वक्त 110 रुपये में एक कंबल और 140 रुपये में दो चादरें और एक तकिया दिया जाता है और इसे अपने साथ घर ले जा सकते है. अब तक ये सुविधा एयरकंडीशंड कोच में ही थी जिसे स्लीपर कोच में भी मुहैया करवाने का ऐलान हो सकता है.

बुजुर्गों के लिए बेहतर सुविधा

पिछले रेल बजट में रेल मंत्री ने ऊपर की बर्थ पर जाने के लिए सीढ़ियों को डिजाइन करने का वादा किया था. रेलवे ने इसका हल ढूंढ़ निकाला है और प्रयोग के तौर पर इसे मुंबई राजधानी के फर्स्ट एसी कोच में लगाया जा चुका है. इस रेल बजट में इस सुविधा को ज्यादा ट्रेनों में इस्तेमाल करने का ऐलान हो सकता है.

बेहतर सुविधा वाले नए कोच
रेल विभाग ने ऐसे नए कोच तैयार कर लिए हैं जिसमें सीसीटीवी समेत नए तरह की साज सज्जा दिखाई देगी. इन नए कोच में पूरी तरह स्टेनलेस स्टील का ट्वायलेट होगा जिससे बेहतर सफाई मिलेगी. ट्वायलेट खाली है या नहीं इसके लिए आपको इंडीकेटर भी कोच में ही दिख जाएगा. यही नहीं सीट पर लाईट्स को एलईडी में बदल दिया गया है. दोनों सीटों के बीच की जगह बढ़ा दी गई है और नए तरह की सीढ़ियां तो हैं ही. रेल बजट में इन नए कोचों के इस्तेमाल की योजना पेश कर सकता है.

रेल का रूप-रंग बदला जाएगा
आमतौर पर लाल या नीले रंग में नजर आने वाली ट्रेनों का रूप-रंग बदलने के बारे में भी ऐलान हो सकता है. कई तरह के बदलाव प्रस्तावित हैं जिसमें कोच का बाहरी रंग चीते के रंग जैसा दिखेगा. शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनों में सेमी हाई स्पीड की गति वाले कोच जोड़े जाएंगे और रफ्तार को 200 किलोमीटर प्रति घंटा करने और मेट्रो ट्रेनों जैसे दरवाजों का इस्तेमाल शामिल हैं. रेल मंत्री बजट में ऐसे बदलावों की समय सीमा और पायलट प्रोजेक्ट का ऐलान कर सकते हैं.

ट्रेन में मिलेगा मनोरंजन
रेलमंत्री अपने यात्रियों के मनोरंजन की योजना भी पेश कर सकते हैं. कालका शताब्दी के एक्जिक्यूटिव कोच में प्रयोग पर शुरू की गई इस योजना में यात्रियों को अपने सामने वाली सीट के पिछले हिस्से पर एक एलईडी स्क्रीन मिलती है जिसमें वो फिलहाल 12 फिल्में और 100 वीडियो देख सकते हैं. इस सुविधा में ईयरफोन दिया जाना भी शामिल है. इस सुविधा के विस्तार के ऐलान पर नजरें रहेंगी.

ट्रेन बनेगी हवाई जहाज
अब तक आपने हवाई सफर में एयर होस्टेस को देखासुना होगा लेकिन रेल मंत्री की महत्वाकांक्षा इस तर्ज पर ट्रेनों में भी ट्रेन होस्टेस नजर आ सकती हैं. इस बजट में इस बड़े बदलाव पर भी नजर बनी हुई है.

कुली बनेंगे लगेज एसिस्टेंट
कुलियों को भी रेल मंत्री सौगात दे सकते हैं. बीजेपी के सांसद महेश गिरी ने मांग की थी उन्हें मजदूर की बजाए रेलवे में सम्मानजनक स्तर दिया जाए. ऐसे में कुलियों को लगेज असिस्टेंट का दर्जा देने का ऐलान हो सकता है.

कमाई बढ़ाएगी रेलवे
बड़ी योजनाओं और बिना किराया बढाए कमाई बढ़ाना रेलवे के लिए चुनौती है. ऐसे में रेल मंत्री कमाई के लिए नए तरीके खोज रहे हैं. कुछ ट्रेन कोचों में चाय कॉफी की वेंडिंग मशीन लगाई जाएगी तो कहीं हवाई जहाज की तर्ज पर शॉपिंग की सुविधा भी देगी रेलवे. इससे उसे अतिरिक्त कमाई होगी.

रेलवे के कोच और पूरी ट्रेन पर विज्ञापन के जरिए कमाई की योजना भी लटकी हुई है. रेल मंत्री , कोच और पूरी ट्रेन का नाम निजी कंपनियों के नाम रखकर कमाई की योजना का खाका और समयसीमा पेश कर सकते हैं.

अनुमान ये भी है कि छुट्टियों और त्योहारो के मौसम में चलने वाली ज्यादातर स्पेशल ट्रेनों को सुविधा ट्रेनों में बदल दिया जाएगा जिसमें प्रीमियम दरों पर किराया चुकाना पड़ता है यानी सामान्य से ज्यादा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Rail Budget 2016: 11 important things will announce
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017