रेल बजट का जोर सुरक्षा और बुनियादी ढांचे पर होगा

By: | Last Updated: Tuesday, 31 January 2017 7:27 PM
रेल बजट का जोर सुरक्षा और बुनियादी ढांचे पर होगा

नई दिल्ली: सरकार वर्ष 2017 के रेल बजट में सुरक्षा और बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर देने की तैयारी में है. हाल ही में ट्रेनों के पटरी से उतरने के कई भीषण हादसों में सैकड़ों जाने गई थीं. रेलवे के लिए 20,000 करोड़ रुपये का सुरक्षा कोष नई पटरियां बिछाने और स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए दिया जा सकता है. इस कोष में रेल विकास प्राधिकरण और उच्च गति रेल प्राधिकरण भी शामिल हो सकते हैं. पहली बार वित्त मंत्री अरूण जेटली रेल बजट कल पेश करेंगे. गौरतलब है कि इस साल रेल बजट का आम बजट में विलय कर दिया गया है.

सरकार के सुधार एजेंडा को आगे बढ़ाते हुए जेटली इस बार रेल बजट को अलग से पेश की जाने वाली 92 साल पुरानी परंपरा को खत्म करेंगे. इस साल यह आम बजट का ही हिस्सा होगा जिसमें अगले वित्त वर्ष के लिए आम बजट में रेलवे के लिए वित्त, परियोजनाओं और प्रारूप को लेकर कुछ पैराग्राफ होंगे.

जेटली बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर दे सकते हैं जिसमें नयी रेल लाइनों का विकास, लाइनों का दोहरीकरण, स्टेशनों का पुनर्विकास और सुरक्षा उन्नयन शामिल है. सूत्रों के अनुसार हाल में ट्रेनों के पटरियों से उतरने की कई घटनाओं के बाद एक लाख करोड़ रुपये के सुरक्षा कोष का अलग से प्रावधान इस बार के बजट में किया जा सकता है. यह अगले पांच साल के लिए होगा जिसमें 20,000 करोड़ रुपये वित्त वर्ष 2017-18 के लिए होंगे.

रेलवे अपने 92 प्रतिशत के परिचालन अनुपात लक्ष्य से भी चूक जाएगा जिसके 94 से 95 प्रतिशत के बीच रहने की संभावना है. बजट 2017-18 में रेल विकास प्राधिकरण के गठन की घोषणा की जा सकती है जो इसके लिए विनियामक का काम करेगा. इसके अलावा उच्च गति रेल प्राधिकरण के प्रबंध निदेशक एवं अन्य निदेशकों के चयन के साथ इस प्राधिकरण के गठन की भी घोषणा किए जाने की संभावना है.

बजट में गैर-किराया राजस्व बढ़ाने के उपायों पर भी ध्यान दिया जा सकता है जिसमें खाली पड़ी भूमि का उपयोग और निजी भागीदारी के साथ स्टेशनों का पुनर्विकास शामिल है.

देश के प्रमुख रेलमार्गों पर ट्रेनों की गति बढ़ाकर 160 से 200 किलोमीटर प्रति घंटा तक करने की महत्वाकांक्षी परियोजना की घोषणा भी की जा सकती है जिसमें 21,000 करोड़ रुपये की लागत से दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई मार्ग की बाड़बंदी शामिल है. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने जेटली को 1.19 लाख करोड़ रुपये का विशेष सुरक्षा कोष बनाने के लिए पत्र लिखा था जिसके लिए वित्त मंत्रालय से इस प्रकार के अलग सुरक्षा कोष के गठन को मंजूरी मिल चुकी है.

इस 20,000 करोड़ रुपये के वाषिर्क कोष के लिए जहां रेल मंत्रालय को 15,000 करोड़ रुपये का बजटीय समर्थन मिलेगा वहीं 5,000 करोड़ रुपये रेलवे को अपने आंतरिक स्रोतों से जुटाने होंगे. इसके लिए वह सुरक्षा उपकर या आंतरिक अधिशेष से रकम का प्रावधान कर सकता है.

रेलवे का परिचालन अनुपात लक्ष्य 92 प्रतिशत है. अप्रैल-दिसंबर 2016 में उसके यात्रियों की संख्या और माल परिवहन दोनों में ही कमी आई है. यह 1.34 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य के मुकाबले 1.19 लाख करोड़ रुपये पर रहा है. यह 11 प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि है.

सरकार द्वारा मांग के अनुसार किराये में वृद्धि की योजना को पेश किए जाने के बावजूद यात्री किराये से आय में पिछले साल के मुकाबले नौ प्रतिशत से अधिक की कमी आई है. योजनागत व्यय अगले वित्त वर्ष में बढ़ाकर 1.36 लाख करोड़ रुपये किए जाने की संभावना है.

इसके अलावा रेलवे ने पिछले नौ महीनों में बुनियादी परियोजनाओं पर खर्च पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले प्रतिशत से अधिक बढ़ाया है. इसमें नयी लाइनें बिछाना, देशभर में लाइनों का दोहरीकरण और विद्युतीकरण करना इत्यादि शामिल है.

First Published:

Related Stories

तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट
तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने आज फाइनेंशियल ईयर 2017-18 के लिए करीब 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का...

बजट के बाद वित्तमंत्री जेटली का Exclusive इंटरव्यू आज रात 9 बजे
बजट के बाद वित्तमंत्री जेटली का Exclusive इंटरव्यू आज रात 9 बजे

नई दिल्ली: वित्तमंत्री अरुण जेटली बजट के बाद एबीपी न्यूज़ से एक्सक्लुसिव बातचीत में कांग्रेस...

बजट 2017 में सीबीआई के लिए पैसे का आवंटन बढ़ाः कुल 8.31% की बढ़त हुई
बजट 2017 में सीबीआई के लिए पैसे का आवंटन बढ़ाः कुल 8.31% की बढ़त हुई

नई दिल्ली: बजट 2017-18 में देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई को जारी किए गए पैसे में भारी बढ़ोतरी...

आईटी रिटर्न तय समय पर नहीं किया दाखिल तो देना होगा जुर्माना
आईटी रिटर्न तय समय पर नहीं किया दाखिल तो देना होगा जुर्माना

नई दिल्ली: अगर आपने समय पर अपना इनकम टैक्स रिटर्न नही दाखिल किया तो परेशानी हो सकती है. नए आम बजट...

बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम
बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट 2017 के पेश होने के बाद जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सभी...

यूनिवर्सल बेसिक इनकम और सब्सिडी एक साथ नहीं चल सकतेः वित्त मंत्री
यूनिवर्सल बेसिक इनकम और सब्सिडी एक साथ नहीं चल सकतेः वित्त मंत्री

नई दिल्लीः कल पेश हुए बजट 2017-18 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यूनिवर्सल बेसिक इनकम का जिक्र तक...

देरी से इनकम टैक्स देने वालों पर लग सकती है 10 हजार तक पेनल्टी !
देरी से इनकम टैक्स देने वालों पर लग सकती है 10 हजार तक पेनल्टी !

नई दिल्लीः अगर आप कल बजट के ऐलान से खुश हो गए कि आपका टैक्स बचेगा तो कुछ ऐसी भी खबरें हैं जो जेब पर...

रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !
रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट में वित्त मंत्री ने रेल बजट के नाम पर जो चंद ऐलान किए उससे रेल बजट को...

Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से आपको क्या मिला
Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से...

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा परेशान मिडिल क्लास को इस बार के बजट में बड़ी राहत दी गई है....

BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !
BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !

नई दिल्ली: 125 करोड़ भारतीयों के देश में 5 लाख से ज्यादा आय वाले सिर्फ 76 लाख लोग हैं. आपको ये आंकड़ा...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017