स्टेशनों पर सिर्फ रेल नीर ही क्यों? जवाब दे रेलवे

By: | Last Updated: Wednesday, 6 January 2016 7:57 PM
rail neer on stations

मुंबई/नई दिल्ली: रेल्वे स्टेशनों पर मिनरल वॉटर के तौर पर केवल रेल नीर ही क्यों बेचने की इजाजत है? जबकी मिनरल वॉटर के कई सारे ब्रैंड्स मौजूद हैं. इस सवाल को लोपेश व्यास नामक एक यात्रीने जनहीत याचिकाद्वारा बॉम्बे हायकोर्ट के सामने रखा है.

याचिकाकर्ता का कहना है की उनकी मर्जी का पानी पीने का उन्हे पुरा अधिकार है. रेल्वे स्टेशन्सपर खाने पीने के इतने सारे ब्रैंड मौजूद हैं. लेकीन पीने के लिए केवल आईआरसीटीसी द्वारा वितरित होने वाला रेल नीर ही क्यों रखा जाता है.

यह नीर केवल एक लीटर की बौतल मे मौजूद हैं, जबकी बिसलेरी आधे लीटर की बौतल मे मौजूद हैं. अगर किसी एक व्यक्ति को पानी पीना हो, तभी उसे 1 लीटर की पुरी बौतल खरीदनी पडती है. यह सख्ती क्यों और यह पानी कितना साफ है यह किसे पता? हाइकोर्ट ने रेल्वे प्रशासन को इस मामले में जवाब देने के लिए 4 हफ्ते की मोहलत दी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: rail neer on stations
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Rail Neer Railway railway ministery
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017