अपने मौलवी शिक्षक की बात सुनाकर भावुक हो गये गृह मंत्री राजनाथ सिंह

अपने मौलवी शिक्षक की बात सुनाकर भावुक हो गये गृह मंत्री राजनाथ सिंह

कोई भी छात्र पीटी के दौरान अगर अनुशासनहीनता करता तो मौलवी साहब कभी थप्पड़ लगाते और कभी एक पतली सी छड़ी से टांगों पर पीटते थे .

By: | Updated: 09 Dec 2017 09:30 PM
Rajnath Singh attends the Convocation of Lucknow University

लखनऊ: केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने छात्रों को अपने गुरुजन का हमेशा सम्मान करने की सीख देते हुये आज अपने छात्र जीवन का एक किस्सा सुनाया कि कैसे उनके मौलवी साहब उन्हें छड़ी से पीटते थे और जब वह मंत्री बन गये तो वही मौलवी साहब उनके लिये फूल लेकर खड़े थे.


अपने बचपन की याद करके गृह मंत्री भावुक हो गए और कहा कि मौलवी साहब का सिखाया हुआ वही अनुशासन आगे चलकर उन्हें जिंदगी में काफी काम आया. लखनऊ विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में गृह मंत्री ने अपने स्कूली दिनों का एक किस्सा सुनाया. उन्होंने कहा कि जब वह प्राइमरी में थे उनके स्कूल में एक मौलवी साहब पीटी (शारी​रिक शिक्षा) के शिक्षक थे . कोई भी छात्र पीटी के दौरान अगर अनुशासनहीनता करता तो मौलवी साहब कभी थप्पड़ लगाते और कभी एक पतली सी छड़ी से टांगो पर पीटते थे . लोग मौलवी साहब की छड़ी खाकर सही पीटी करने लगते थे.


उन्होंने कहा, ‘लंबे समय बाद जब मैं उत्तर प्रदेश का शिक्षा मंत्री बना और मैं अपने काफिले के साथ अपने घर जा रहा था तो वाराणसी के पास चंदौली के करीब सड़क किनारे मैंने 90 साल के बुजुर्ग को फूल लिये हुये खड़े देखा . मैं तुरंत पहचान गया कि यह तो मेरे वही मौलवी साहब है. मैंने तुरंत अपनी गाड़ी रुकवाई और मौलवी साहब जो मेरे लिये फूलो की माला लेकर खड़े थे, उसे मैंने उनके गले में डाला और उनके पैर छू कर आर्शीवाद लिया . मौलवी साहब बेतहाशा रोने लगे और मैं भी भावुक हो गया.’ उन्होंने कहा, ‘छात्रों आज आपको यह बात बताने का उद्देश्य सिर्फ इतना ही है कि आप चाहे जितने ऊंचे पद पर पहुंच जांए लेकिन अपने शिक्षको को कभी न भूलें . उनका सम्मान करना, उन्हें प्यार देना, क्योंकि उन्होंने अपना ज्ञान आपको दिया जिसकी बदौलत आज आप इस मुकाम पर पहुंचे हो.’


मर्यादा का हमेशा पालन करें, गृह मंत्री होकर भी मैं करता हूं : राजनाथ सिंह
केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने छात्र छात्राओं को जीवन में कभी मर्यादा न तोड़ने की सीख देते हुये आज कहा कि जीवन में मर्यादाओं का पालन करने से इंसान बड़ा बनता है और भारत का गृह मंत्री होकर भी वह मर्यादाओं को कभी नहीं तोड़ते.


केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘संकल्प लेकर हम भारत को विश्व गुरु बनायेंगे . भारत के पास बहुत कुछ है,गुरुत्वाकर्षण का नियम, पाइथागोरस थ्योरम भारत की देन है . कई ऐसी चीजे हैं जो भारत ने दी हैं . बस हम सबको संकल्प लेने की आवश्यकता है कि भारत को विश्व गुरु बनायेंगे, फिर भारत को विश्व गुरु बनने से कोई रोक नहीं सकता . भारत को विश्व गुरु बनाने में युवाओं का बहुत महत्तपूर्ण स्थान होगा.’ लखनऊ विश्वविद्यालय के 60 वें दीक्षांत समारोह में आज गृह मंत्री विशिष्ठ अतिथि थे . इस अवसर पर उन्हें विश्वविद्यालय द्वारा डीएससी की मानद उपाधि से भी सम्मानित किया गया. दीक्षांत समारोह में कुल 97 छात्रों को 192 मेडल से सम्मानित किया गया. इसमें सबसे ज्यादा 161 मेडल लड़कियों को दिए गए.. कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल एवं विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राम नाइक औरउप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी मौजूद थे.


सिंह ने कहा कि लखनऊ विश्वविद्यालय का देश के विकास में योगदान है. उन्होंने कहा विश्वविद्यालय में भविष्य में होने वाले दीक्षांत समारोह में माता पिता की तरह गुरुओं का भी जिक्र होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘मैंने लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति से कहा था कि मुझे मानद डिग्री नहीं दी जाए. मैं अपने को इसके लायक नहीं मानता. कुलपति ने परंपरा का हवाला दिया, तब मैं इसके लिए तैयार हुआ.’ राजनाथ ने कहा ,‘मनुष्य के जीवन में चरित्र का बहुत महत्व होता है, मैं अपने सारे छात्रों से कहना चाहूंगा कि जीवन में मर्यादाओं को कभी मत तोड़ना . आज मैं भारत का गृह मंत्री हूं फिर भी मर्यादाओं को कभी नहीं तोड़ता . मर्यादाओं का पालन केवल आपको प्रिय ही नहीं बनाता है ​बल्कि यदि आपने मर्यादाओं का पालन किया तो आपको लोगों का पूज्य भी बना देता है . मनुष्य के जीवन में संस्कारों और मर्यादाओं की बहुत अहमियत है, और यह सोच शिक्षा के माध्यम से आती है . कुछ समाज के माध्यम से भी आती है.’


गृह मंत्री ने कहा कि 'मैं राजनीतिक क्षेत्र में काम कर रहा हूं, लोग कहेंगे कि राजनीतिक क्षेत्र में काम करने वाला व्यक्ति मुझे उपदेश दे रहा है. मैं जानता हूं कि स्वंत्रत भारत की राजनीति में नेताओं की कथनी और करनी में अंतर होने के कारण भारत की राजनीति और भारत के जन नेताओं पर से जन सामान्य का विश्वास पहले की अपेक्षा कम हुआ है . लेकिन नौजवान साथियों आप इस सच्चाई को भी नकार नहीं सकते कि आपके जीवन को भी राजनीति की यह व्यवस्थायें प्रभावित करती है.’ उन्होंने कहा, ‘वह राजनीति जो अपना अर्थ भी खो चुकी है अपना भाव भी खो चुकी है क्या आप यह संकल्प नहीं लोगे कि उसको हम पुन: स्थापित करेंगे, इस काम को कौन करेगा . राजनीतिक व्यवस्था से अपने को अलग रखने की कोशिश मत करो . राजनीति शब्द दो शब्दों को मिलाकर बना है राज और नीति . नये नौजवानों का आह्वान करता हूं कि राजनीति का जो भाव और संकल्प खो गया है उसे पुन: पाने का प्रयास करें . युवा विकास की राजनीति से जुड़े क्योंकि भारत को हम सबको महान भारत बनाना है . ऐसा भारत जो ज्ञानवान भी हो, धनवान भी हो, ऐसा भारत जो महान भी हो . जो ज्ञान और विज्ञान दोनों में विश्व का नेतृत्व कर सकें ऐसे भारत का निर्माण करना है.’


गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 'डिग्री पाने के बाद आपको जीवन में अद्वितीय बनने का प्रयत्न करना चाहिये. उत्कृष्ट बनने की, अद्वितीय बनने की, श्रेष्ठ बनने की कोशिश करो और ऐसा तभी होगा जब आपमें अनदेखे रास्ते पर चलने का साहस होगा. यह आप तभी कर पाओगे जब आपके अंदर कुछ नयी चीज या आविष्कार करने का साहस होगा. यह तभी कर पाओगे जब असंभव को संभव बना देने की तड़पन आप में होगी . यह तभी आप कर पाओगे जब समस्याओं पर विजय प्राप्त करने का साहस होगा . साहस के साथ साथ कड.ी मेहनत भी आपको करनी होगी .' उन्होंने कहा कि 'नये भारत के निर्माण की बात हमारे प्रधानमंत्री भी करते है . हम ऐसा भारत बनाना चाहते हैं जो जातिवाद से मुक्त भारत हो , संप्रदायवाद से मुक्त भारत हो , गरीबी से मुक्त भारत हो और भ्रष्टाचार से मुक्त भारत हो . उन्होंने कहा कि यह दिवास्वपन नहीं है . संकल्प से जीवन में कुछ भी हासिल किया जा सकता है . संकल्प लेकर हम भारत को विश्व गुरू बनायेंगे . बहुत लोग कहेंगे कि यह कल्पना लोक की बात की जा रही है . यह काल्पनिक बात नही बल्कि व्यावहारिक बात है भारत विश्व गुरू बन सकता है . मैं डंके की चोट पर कह सकता हूं कि जो ज्ञान और विज्ञान आज भारत के साहित्य में मिल जायेगा वह दुनिया के किसी देश के साहित्य में उपलब्ध नही है यह मै विश्वास के साथ कह सकता हूं. ’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Rajnath Singh attends the Convocation of Lucknow University
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story यूपी सरकार का प्रदेश में अवैध लाउडस्पीकरों पर कार्रवाई का आदेश