भारत ईमानदारी से चीन के साथ सभी मुद्दों का हल चाहता है: राजनाथ सिंह

By: | Last Updated: Wednesday, 28 January 2015 11:43 AM

कानपुर: भारत ने आज कहा कि उसकी चीन के साथ सीमा विवाद के सौहार्द्रपूर्ण हल की ईमानदार मंशा है और उसने उससे मतभेद दूर करने के लिए आगे आने का आह्वान किया.

 

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां सीमा प्रहरी बल आईटीबीपी के बटालिय कैंप का उद्घाटन करने के बाद कहा, ‘‘चीन भारत सीमा के सिलसिले में धारणा संबंधी मतभेद है. चीन कहता है कि यहां सीमा है. हम कहते हैं, नहीं, यहां सीमा है. हम सीमा समस्या का हल करने का प्रयास कर रहे हैं.

 

चीन को आगे आना चाहिए. भारत सभी विवादों का शांतिपूर्ण हल चाहता है. ’’ आईटीबीपी के कार्यक्रम के लिए दिल्ली से यहां आए सिह ने कहा, ‘‘हम विस्तारवादी नहीं हैं. भारत का इतिहास बताता है कि हम कभी विस्तारवादी नहीं रहे. हमने किसी देश पर कभी हमला नहीं किया. हम शांति के पुजारी हैं. चीन को इसे समझना चाहिए. हम ईमानदारी के साथ सभी मुद्दों का हल करना चाहते हैं . ’’

 

उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के लिए पहले ही 35 नयी सीमा चौकियों मंजूर कर चुका है. बाईस सीमा चौकियां शीघ्र ही चालू होने जा रही हैं और बाकी 13 पर काम चल रहा है.

 

आईटीबीपी पर इस सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी है. सिंह ने बताया कि आईटीबीपी को पहले ही पिछले साल दिसंबर में समर्पित विमान कनेक्टिविटी प्रदान की जा चुकी है और उसकी आवाजाही में सुगमता के लिए मंत्रालय द्वारा मंजूर 34 में से 27 प्राथमिक सड़कों पर काम चल रहा है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘काफी उंचाई पर काम करने वाले आईटीबीपी कर्मियों के लिए बेहतर कनेक्टिविटी के लिए गृह मंत्रालय 123 मोबाइल फोन टावर मंजूर कर चुका है ताकि वे नियमित रूप से अपने परिवारों के संपर्क में बने रहें. ’’

 

उन्होंने बताया कि आईटीबीपी के कर्मियों के लिए तेजी से एक के बाद दूसरे की पोस्टिंग सुनिश्चित करने के लिए उनके मंत्रालय में काम चल रहा है.

 

सिंह ने कहा,‘‘अमेरिकी राष्ट्रपति (बराक ओबामा) भारत आए थे. हम अमेरिका और अन्य देशों के साथ संबंध सुधारना चाहते हैं. समान रूप से, हम पड़ोसियों के साथ भी संबंध सुधारना चाहते हैं. भारत हमेशा से मानता रहा है कि पूरी दुनिया परिवार है. हम मानते हैं कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान जैसे सभी पड़ोसी देश हमारे परिवार का हिस्सा हैं. हम सभी पड़ोसी देशों एवं दुनिया के बाकी देशों से भी अच्छा संबंध बनाए रखना चाहते हैं.’’

 

इस कार्यक्रम से इतर सवालों का जवाब देते हुए सिंह ने कहा कि भारत को अपने पड़ोसियों – पाकिस्तान और चीन के बीच बढ़ते सहयोग एवं मैत्री से कोई दिक्कत नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘हमारा कोई मुद्दा ही नहीं है. उन्हें अपना संबंध सुधारने दीजिए. भारत सभी पड़ोसी देशों के साथ अपना संबंध सुधारना चाहता है. ’’

 

उन्होंने कश्मीरी निवासी लियाकत शाह के मामले में एनआईए द्वारा हाल ही में आरोपपत्र दायर करने पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. एनआईए ने दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा पर उसे आतंकवादी के रूप में पेश करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘‘मैं टिप्पणी नहीं करना चाहिए. यह अदालत में विचाराधीन है.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: rajnath singh_china_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: China rajnath singh
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017