सरकार की आगामी सप्ताहों में छह-सात राज्यपाल नियुक्त करने की योजना: राजनाथ सिंह

By: | Last Updated: Sunday, 18 January 2015 3:56 AM

नई दिल्ली: सरकार अगले 15-20 दिनों में कम से कम छह राज्यों में नए राज्यपाल नियुक्त करने की योजना बना रही है. इन राज्यों में बिहार, पंजाब और असम शामिल हो सकते हैं.

 

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पीटीआई भाषा को बताया, ‘‘हम अगले 15-20 दिनों में छह-सात नए राज्यपाल नियुक्त करने की योजना बना रहे हैं.’’ बिहार, असम, मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा में राज्यपालों के पद खाली हैं. जबकि पंजाब के राज्यपाल शिवराज पाटिल 21 जनवरी को सेवानिवृत्त हो जाएंगे. हिमाचल प्रदेश की राज्यपाल उर्मिला सिंह का पांच साल का कार्यकाल 24 जनवरी को पूरा हो जाएगा.

 

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी बिहार और मेघालय का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं जबकि नागालैंड के राज्यपाल पी बी आचार्य ने असम और त्रिपुरा का अतिरिक्त प्रभार संभाला हुआ है. इसके अलावा उत्तराखंड के राज्यपाल के के पॉल के पास मणिपुर का अतिरिक्त प्रभार है.

 

तमिलनाडु के राज्यपाल के रोसैया और ओडिशा में उनके समकक्ष एस सी जमीर दोनों ही अगले कुछ माह में सेवानिवृत्त होने वाले हैं. ये उन कुछ राज्यपालों में से हैं, जिन्हें पिछली संप्रग सरकार ने नियुक्त किया था और जो राजग की सरकार बनने के बाद भी अपने इन पदों पर बने हुए हैं.

 

केंद्रीय गृह सचिव की ओर से राज्यपालों को पद छोड़ने के संकेत दिए जाने पर आपत्ति जताते हुए अजीज कुरैशी ने उच्चतम न्यायालय का रूख किया था. उन्हें इस माह की शुरूआत में उत्तराखंड से मिजोरम राजभवन भेज दिया गया. एक विवाद उस समय पैदा हो गया था, जब नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के कुछ ही सप्ताह बाद केंद्रीय गृहसचिव अनिल गोस्वामी ने कई राज्यपालों को यह संदेश दिया था कि नयी सरकार चाहती है कि वे लोग अपना पद छोड़ दें.

 

संप्रग सरकार द्वारा नियुक्त राज्यपालों शीला दीक्षित (केरल), एम के नारायणन (पश्चिम बंगाल), अश्वनी कुमार (नागालैंड), बी एल जोशी (उत्तरप्रदेश), बी वी वांचू (गोवा), शेखर दत्त (छत्तीसगढ़) और वी के दुग्गल (मणिपुर) को राजग सरकार के सत्ता में आने के बाद इस्तीफा देना पड़ा था.

 

मिजोरम के राज्यपाल वी पुरूषोत्तम ने नागालैंड में स्थानांतरण किए जाने के बाद इस्तीफा दे दिया था जबकि महाराष्ट्र के राज्यपाल के शंकरनारायणन ने इस्तीफा दिया था क्योंकि उन्हें मिजोरम स्थानांतरित किया जा रहा था.

 

नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उनके और राज्यपाल कमला बेनीवाल के बीच खासा विवाद हुआ था. कमला बेनीवाल को मिजोरम स्थानांतरित करने के बाद बख्रास्त कर दिया गया था. इसके अलावा जिन्हें बाहर का रास्ता दिखाया गया, उनमें पुडुचेरी के उपराज्यपाल और कांग्रेस के पूर्व नेता वीरेंद्र कटारिया भी शामिल थे.

 

राजग सरकार ने अब तक उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, हरियाणा, केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, नागालैंड और गोवा में राज्यपाल नियुक्त किए हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: rajnath_on_governers
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017