निर्भया पर एसपी नेता का संवेदनहीन बयान, कहा- एक व्यक्ति के लिए बदले नहीं जाते कानून

By: | Last Updated: Monday, 21 December 2015 8:52 AM
Ram Gopal Yadav controversial statement on Nirbhaya case

नई दिल्ली: निर्भया का नाबालिग गुनहगार रिहा हो चुका है. आज सुप्रीम कोर्ट में रिहाई पर रोक वाली याचिका पर सुनवाई होगी. शनिवार की रात दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आधी रात को याचिका डाली थी जिस पर आज सुनवाई होगी. देश में नाबालिग को जेल में रखने के लिए कानून बदलने की मांग हो रही है लेकिन इसी बीच समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने निर्भया केस के गुनहगार के लिए कानून बदलने का विरोध किया है. रामगोपाल यादव ने कहा है कि एक आदमी के लिए कानून नहीं बदले जाते.

निर्भया के माता-पिता का प्रदर्शन
नाबालिग बलात्कारी की रिहाई के खिलाफ इंडिया गेट पर जोरदार प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन में निर्भया के माता-पिता भी पहुंचे. दिल्ली पुलिस ने निर्भया के माता-पिता और प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाया और हिरासत में ले लिया. इस दौरान इंडिया गेट पर प्रदर्शन कर रही निर्भया की मां को हल्की चोट भी लग गई. इससे पहले भी जंतर-मंतर पर निर्भया के माता-पिता और उनके साथ जुटे लोगों को पुलिस ने इंडिया गेट की ओर जाने से भी रोक दिया था. लेकिन कुछ देर बाद छोड़ दिए जाने पर वो इंडिया गेट पहुंच गए थे.

निर्भया कांड के बाद कितने बदले हालात?
निर्भया के गुनहगार को सजा दिलाने के लिए तीन साल बाद भी लोग इंडिया गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन सवाल ये है कि क्या निर्भया कांड के बाद हालात बदले हैं?

एबीपी न्यूज-नीलसन ने यही सवाल दिल्ली-एनसीआर की महिलाओं से पूछा तो 62 फीसदी ने कहा कि महिला सुरक्षा की हालत अब भी खराब है.
– 60 फीसदी महिलाएं मानती हैं कि घर से अकेले निकलने में अब भी डर लगता है.
– 76 फीसदी महिलाओं की राय में दिल्ली महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित शहर है.
– 54 फीसदी की राय में पुलिस अब भी उतनी ही असंवेदनशील है.
– हालांकि 58 फीसदी की राय में निर्भया कांड के बाद पहले से ज़्यादा महिलाएं जुर्म की शिकायत करने लगी हैं.

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Ram Gopal Yadav controversial statement on Nirbhaya case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017