कालाधन मामले पर सरकार के रूख से जेठमलानी नाराज, प्रधानमंत्री को लिखी 'डाइंग डिक्लेरेशन' चिट्ठी

By: | Last Updated: Saturday, 18 October 2014 4:37 AM

नई दिल्ली: काले धन पर कल मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में काले धनवानों के नाम बताने से इनकार कर दिया. सरकार ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय संधि है इसलिए नाम नहीं बता सकते. इससे नाराज होकर याचिकाकर्ता राम जेठमलानी ने कोर्ट में सरकार के रुख का कड़ा विरोध किया.

 

जेठमलानी ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है और कहा है कि वो सरकार के रुख से नाराज हैं. सरकार ने वही किया है जो अपराधी को करते. पीएम से राम जेठमलानी ने कहा है कि वो चिट्ठी को डाइंग डिक्लेरेशन मानें.

 

याचिकाकर्ता और जाने-माने वकील राम जेठमलानी ने कहा कि ये नरेंद्र मोदी सरकार के जरिए विदेशों में कालाधन जमा करने वालों को बचाने की कोशिश है. जेठमलानी ने कहा कि कोर्ट में सरकार ने जिस तरह का तर्क दिया है ऐसे तर्क सिर्फ वो ही धूर्त दे सकता है जो गैर कानूनी तरीके से अपने पैसे विदेशों में जमा कर रखे होंगे. एक लोकतांत्रिक सरकार ऐसे तर्क तो कतई तौर पर नहीं दे सकती.

 

सुप्रीम कोर्ट अब सरकार के इस हलफनामे पर 28 अक्टूबर को सुनवाई करेगा.

 

आपको बता दें कि जब कांग्रेस सत्ता में थी और उसने कोर्ट में इसी तरह का तर्क दिया था तब बीजेपी ने मनमोहन सरकार पर जमकर हमला किया था. अब जब बीजेपी सत्ता में है तो कांग्रेस उनपर हमला कर रही है.

 

सबसे खास बात यह है कि चुनावी मुहिम के दौरान मोदी दावा करते थे  कि अगर उन्हें सत्ता मिली तो वो हर हाल में विदेशों में जमा कालाधन वापस लेकर आएगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Ram Jethmalani writes letter to PM over black money issue, asking him to treat it as his ‘dying declaration’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017